बिहारः औरंगाबाद-गया जिले में जहरीली शराब पीने से 5 लोगों की मौत, दर्जनों बीमार

औरंगाबाद-गया (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क)। बिहार के औरंगाबाद और गया जिले में जहरीली शराब पीने से 5 लोगों की मौत हो गई है। वहीं दर्जनों बीमार बताए जा रहे हैं।

औरंगाबाद जिले के मदनपुर के ही खीरीयावां में मृतकों की पहचान खीरीयावां निवासी शिव साव, शंभू ठाकुर उर्फ प्रमोद ठाकुर और पवई निवासी अनिल शर्मा के रूप में की गई है।

वहीं, गया जिले में मृतक अर्जुन पासवान 40 वर्ष और अमर पासवान 36 वर्ष रिश्ते में चाचा भतीजा है। यहाँ शराब पीने से बीमार पड़े करीब दर्जनों लोग को रात भर इलाज करने के बाद मंगलवार सुबह में बेहतर इलाज के लिए अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल रेफर किया गया है।

खबरों के मुताबिक पड़रिया गांव मे विकास के घर में शादी समारोह का आयोजन था। शादी समारोह में शामिल होने के लिए पहुंचे रिश्तेदार अनिल शर्मा ने पड़रिया मोड़ के पास शराब पी लिया था। घर आने के बाद शाम में अचानक उसकी तबीयत खराब हो गई।

आनन-फानन में अनिल को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया, जहां से डॉक्टरों ने बेहतर इलाज के लिए उसे गया रेफर कर दिया, लेकिन गया जाने के क्रम में उनकी मौत हो गई।

वहीं दो अन्य ग्रामीण शिव साव एवं शंभू ठाकुर ने भी सोमवार की दोपहर पासी टोला जाकर शराब का सेवन किया था। जिसके बाद इन दोनों की भी तबियत खराब होने लगी।

दोनों को इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मदनपुर लाया गया। डॉक्टरों ने इन दोनों को भी औरंगाबाद सदर अस्पताल रेफर कर दिया, जहां उन दोनों की मौत हो गई।

जानकारी के मुताबिक गांव के ही दो और लोग बबलू ठाकुर और भोला विश्वकर्मा, इन दोनों ने भी शराब का सेवन किया था, इनका इलाज शेरघाटी में चल रहा है।

घटना के संबंध में औरंगाबाद के एसपी कांतेश कुमार मिश्रा ने बताया कि अभी कोई स्पष्ट जानकारी प्राप्त नहीं हुई है। परिजनों ने मृत हुए लोगों का शव जला दिया है, बावजूद इसकी पूरी जानकारी प्राप्त की जा रही है।

गया में जहरीली शराब पीने से चाचा-भतीजे की मौत,  दर्जनों बीमार

गया जिले के आमस थाना क्षेत्र के पथरा गांव में जहरीली शराब पीने से चाचा भतीजे की मौत हो गई। जबकि एक दर्जन लोग बीमार हो गए हैं।

परिजनों के मुताबिक गांव के ही कुछ घरों में शराब बनाकर बेचा जाता है, जहां सोमवार की देर रात गांव के कुछ लोगों ने शराब पिया था। शराब पीने के कुछ देर के बाद ही सभी लोगों की धीरे-धीरे तबीयत खराब होने लगी जिसके बाद सभी को अस्पताल पहुंचाया गया।

अस्पताल के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ महेश कुमार ने 2 की स्थिति को नाजुक देखते हुए बेहतर इलाज के लिए अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल अस्पताल रेफर किया, लेकिन रास्ते में ही दोनों की मौत हो गई।

मृतक अर्जुन पासवान 40 वर्ष और अमर पासवान 36 वर्ष रिश्ते में चाचा भतीजा है। वहीं शराब पीने से बीमार पड़े करीब एक दर्जन लोगों को रात भर इलाज करने के बाद मंगलवार सुबह में बेहतर इलाज के लिए अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल रेफर किया गया है।

ग्रामीण जहरीली शराब से हुई मौत को लेकर सीधे पुलिस को दोषी ठहरा रहे हैं। ग्रामीणों का कहना है कि आमद थाना से मथुरा गांव की दूरी 1 किलोमीटर भी नहीं है। ऐसे में इस गांव में खुलेआम शराब बिकता है और पुलिस कोई कार्रवाई नहीं करती है।

बिहारः चारा घोटाले की तर्ज हुआ बड़ा चावल घोटाला, 9 साल बाद इन 7 अफसरों पर चलेगा मुकदमा

अमित शाह के कान में कुछ कहती पूजा सिंघल की यह फोटो पोस्ट करने पर एफआईआर

उपहार सिनेमा, दाल मंडी, अब मुंडका अग्निकांड.. क्यों नहीं रुक रहे इस तरह के हादसे?

तीन मंजिला इमारत में सीसीटीवी कैमरे के गोदाम में लगी आग, 27 की मौत, 12 गंभीर

हाईकोर्ट ने ताजमहल मामले में याचिकाकर्ता को लगाई कड़ी फटकार, कहा- न करें PIL का दुरुपयोग

error: Content is protected !!