अब न्यूज 11 (भारत) को बिहार से प्रसारित करने की तैयारी, कुमार प्रबोध को मिली जिम्मेवारी

राजनामा डॉट कॉम। बिहार की पत्रकारिता में एक लोकप्रिय नाम है कुमार प्रबोध का। बिहार की पत्रकारिता की किंवदंती बन चुके कुमार प्रबोध का मतलब है खबर। खबर भी कमजोरी से नहीं, बुलंदी के साथ। सामने वाला उनके कठिन सवालों से हक्का बक्का हो जाता है।

अपनी सवालों से सता की चूले हिला देने वाले कुमार प्रबोध एक बार फिर से डिजिटल प्लेटफार्म को अलविदा कह क्षेत्रीय न्यूज़ चैनल के साथ नयी पारी की शुरुआत करने जा रहें हैं।

झारखंड के रांची से प्रसारित न्यूज़ 11 (भारत) अब बिहार से भी जल्द प्रसारित होने जा रहा है। इसकी ज़िम्मेदारी ईटीवी और जी न्यूज के बिहार संपादक रहे कुमार प्रबोध को दी गई है।

कुमार प्रबोध जी न्यूज से इस्तीफे के बाद डिजिटल प्लेटफार्म पर सक्रिय थे। उन्होंने अपने सहयोगियों के साथ फर्स्ट बिहार यूट्यूब चैनल की शुरुआत की थी। लेकिन अब वहां से न्यूज़ 11 (भारत) बिहार में अब नये तेवर में दिखेंगे।

कुमार प्रबोध ने अपनी पत्रकारिता की शुरुआत हिंदी दैनिक ‘आज’ से की थी। बाद में वे ईटीवी में आ गए। जहां कम समय में ही वे अपने धारदार लेखन और पीटीसी से लोकप्रिय हो गये। बाद में वे बिहार के संपादक बनाएं गये। जहां से उन्होंने ईटीवी को एक नये बुलंदी पर पहुंचाया।

जनवरी,2017 में ईटीवी नेटवर्क में उथल पुथल के बाद कुमार प्रबोध जगदीशचंद्र के साथ अपने लाव लश्कर को लेकर जी मीडिया में शामिल हो गए। उन्हें स्टेट हेड की जिम्मेदारी दी गई। जहां से उन्होंने जी न्यूज बिहार को ईटीवी के समकक्ष खड़ा कर दिया।

लेकिन महज दस महीने में ही जी मीडिया बिहार में हुए उठापटक के वे शिकार बन गए।   उसके बाद कुमार प्रबोध ने वहां से इस्तीफा दे दिया।

उनके इस्तीफे के बाद उनके साथ गए तेजतर्रार रिपोर्टर शशिभूषण, शैलेन्द्र साहिल, विवेकानंद और शालिनी ने भी जी न्यूज छोड़ दिया। उसके बाद उनकी टीम ने फर्स्ट बिहार नाम से एक यूट्यूब चैनल की शुरुआत की जो बिहार में काफी लोकप्रिय है।

फिलहाल, न्यूज़ 11 पर कुमार प्रबोध का एक प्रोमो भी चल रहा है। जो उनकी तेवर,कलेवर और पत्रकारिता की दबंग शैली, जुझारू और दबंग संपादक की झलक दिखती है।

यूपी चुनाव में नहीं चलेगा मीडिया का यह खेल, आयोग ने लगाई रोक, दी कड़ी हिदायत

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग पहुंचा आज रिपोर्टर की पिटाई का मामला

नालंदाः बदमाशों ने रिपोर्टर को गोली मारी, सरायकेलाः पुलिस ने रिपोर्टर को जमकर पीटा

नहीं रहे वरिष्ठ पत्रकार विनोद दुआ, पत्रकारिता जगत में शोक की लहर

झारखंड राज्य पत्रकार स्वास्थ्य बीमा नियमावली-2021 प्रस्ताव मंजूर, जाने क्या है योजना? किसे मिलेगा लाभ?

error: Content is protected !!