संसद में बोले पीएम मोदी-  आत्महत्या करने जैसा है संविधान में बदलाव करने की सोचना

संविधान दिवस पर लोकसभा में चर्चा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय संविधान को धर्मग्रंथ का दर्जा देते हुए कहा कि इसकी पालना करना हम सब का कर्तव्य है। हमें ईमानदारी के साथ गरीब और पिछड़े लोगों के विकास के लिए संविधान में कही गई बातों को लागू करना चाहिए। […]

Read more