रीजनल न्यूज चैनल कशिश के रिपोर्टर का नेशनल धमाका

Share Button
Read Time:3 Minute, 8 Second

पटना।  रीजनल न्यूज चैनल कशिश न्यूज के एक पत्रकार ने पूरे देश में धमाका कर दिया। पटना के पत्रकार संतोष सिंह ने गुरुवार की शाम बिहार झारखंड के चैनल कशिश न्‍यूज़ पर शाम 6 बजे एक रिपोर्ट चलाई।

इसमें दिखाया गया कि बिहार में भाजपा ने 8 नवंबर को हुई नोटबंदी की घोषणा से पहले भारी मात्रा में ज़मीनें खरीदी हैं। ये ज़मीनें पार्टी कार्यकर्ताओं के नाम से खरीदी गई। कुछ सौदों में दिल्‍ली स्थित बीजेपी मुख्‍यालय का पता दर्ज है।

संतोष सिंह की इस खबर को सबसे पहले दैनिक प्रभात खबर ने उठाया। इसके बाद कैच न्‍यूज़ व फाइनेंशियल एक्‍सप्रेस ने अपने यहां छापा।

देखते ही देखते यह मामला पूरे देश में फैल गया। नोटबंदी के फैसले की खुलकर तारीफ़ कर रहे मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू को अब इन ज़मीन सौदों के विरोध में अपना पक्ष तय करना पड़ा है और दबाव में उसने सुप्रीम कोर्ट से इसकी जांच की मांग कर दी है।

पटना के पत्रकार संतोष ने भाजपा जमीन सौदे की जो खबर ब्रेक की, उसके लिए अब पूरे देश के लोग उनकी सराहना कर रहे हैं। कशिश न्‍यूज़ के संतोष सिंह अपनी धारदार रिपोर्टिंग के लिए जाने जाते हैं।

संतोष सिंह ब्लागर भी हैं जो ‘तूती की आवाज’ नामक ब्लाग लिखते हैं। इनके ब्लाग की टैगलाइन है- ‘क्‍योंकि दुनिया नक्‍कारखाने में तब्‍दील हो चुकी है….’ वे सोशल साइट खासकर फेसबुक पर भी अपने खोजपरक रिपोर्ट के जलवे दिखाते रहते हैं। उनकी फेसबुक टाइम लाइन की पड़ताल से उनकी गंभीरता का सहज अंदाज लगाया जा सकता है।

संतोष ने बिहार विधानसभा चुनाव से ठीक पहले उन्‍होंने एक रिपोर्ट की थी कि किस तरह राज्‍य के सुदूर गांव-ब्‍लॉक से नौजवानों को पकड कर राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ भाजपा प्रशासित राज्‍यों में घुमाने के लिए ट्रेनों में भर कर ले जा रहा था।

इन लड़कों को भाजपा के राज्‍यों में हुआ ‘विकास’ दिखाने के बाद चुनावी मैदान में भाजपा के लिए प्रचार करने के लिए उतारा जाना था। उस वक्‍त यह ख़बर सोशल मीडिया पर तो खूब चली, लेकिन राष्‍ट्रीय मीडिया ने इसका संज्ञान नहीं लिया।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

विदर्भ में कब आयेगें अच्छे दिन, पिछले 72 घंटो में 12 किसानों ने की आत्महत्या
नवीन जिंदल का निर्वाचन आयोग में जी न्यूज की शिकायत
विनायक विजेता, अमिताभ, आशुतोष सहित कई पत्रकार सम्मानित
Hindustan Ad. Scandal: The Registrar orders to list the matter before the court
ऐसे लोग बनेंगे प्रेस एडवाइजर, तो रघुवर दास का बेड़ागर्क होना तय
महागठबंधन के हाथों मिली करारी हार के बाद ब्रिटेन में लगे पोस्टर 'मोदी नॉट वेलकम '
इधर मौत पर मातम, उधर इन्साफ पर मातम !
न्यूज़11 चैनल की कलंक कहानीः एक भुक्तभोगी की जुबानी
सीएम-गवर्नर को गाली देता है गुरुजी का पीए
भ्रष्टाचार को लेकर दोहरा मापदंड अपना रही है झारखंड की रघुबर सरकार
गुजरात हो या देश, मोदी राज में बढ़ा बीफ कारोबार
अश्लीलता का अड्डा बन गया है रांची का नक्षत्र वन
अरविंद प्रताप को मिला 'नारद मुनि सम्मान'
हाय री नालंदा की मीडिया, भ्रष्ट्राचार के विस्फोटक न्यूज को यूं पचा गये!
विधान परिषद चुनाव से 'नमो राग' पर सवाल
महिला एसपी ने यूं किये 'खट्टर' के स्वास्थ्य मंत्री के दांत खट्टे
भैया, मैं जरा बौद्धिक गरीब हूं
नगरनौसा थाना प्रभारी ने पहले अवैध ट्रकों को पकड़ा, फिर वसूली कर छोड़ा
नागालैंड में बेगुनाह फरीद की हत्या के पीछे का षड्यंत्र !
ईटीवी(न्यूज़18) पत्रकार मनोज के बचाव में यूं उतरे करीबी लोग
मुंगेर के 'जांबाजों' और 'हिन्दुस्तान' की अब लड़ाई दिल्ली में, आपके सहयोग की आस
मीडिया के विजय माल्या यानी महुआ चैनल के पीके तिवारी की 112 करोड की सम्पति जब्त
गणतंत्रः लेकिन गण पर हावी है तंत्र
शोसल नेटवर्किंग का विस्तार और मानवीय अलगाव के खतरे
पुलिस अकर्मण्यता की हदः वे चाहे जो करें उनकी मर्जी !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...