रांची वुमेंस कॉलेज के प्राचार्या ने Z News के लाइव रिपोर्टर से माइक छीनी

Share Button

रांची। जारी छात्र संघ चुनाव का लाइव रिपोर्टिंग प्रोगाम के दौरान रांची वुमेंस कॉलेज की प्रिंसीपल मंजू सिन्हा ने Z News के रिपोर्टर  कामरान के साथ बदसलूकी की और आईडी माइक छान लिया।

Z News के लाइव रिपोर्टर कामरान ने बताया कि सुबह करीब दस बजे वह रांची वुमेंस कॉलेज में जारी छात्र संघ चुनाव की लाइव रिपोर्टिंग कर रहे थे कि अचानक पिछे से किसी ने हाथ रख दिया। मुड़ कर देखा तो सामने खुद कॉलेज की प्रिंसीपल मंजू सिंहा थी जो  कि हाईकोर्ट का आदेश का हवाला देकर चैनल आईडी माइक छीन ली और दुर्व्यवहार करने गली।

कामरान ने बताया कि वह लाइव रिपोर्टिंग शुरु करने के आधा घंटा पहले ही पहुंच गये थे। इस आधा घंटे के दौरान वे लाइव रिपोर्टिंग सेटअप लगा रहे थे लेकिन इस दौरान किसी ने भी कोई रोक-टोक नहीं की।

इस घटना के बाद पत्रकारों का एक दल कॉलेज के प्रिंसीपल से मिले। तब प्रिंसीपल बड़े बेतुके अंदाज में बोली कि कॉलेज में एक चर्चित हत्या हो जाने के बाद वे इस तरह की गतिविधियों पर रोक लगाते हैं। वह कॉलेज में सीसीटीवी कैमरे लगा रखी है।

उल्लेखनीय है कि माननीय रांची हाई कोर्ट ने छात्र संघ चुनाव की वीडियो रिकार्डिंग करने का आदेश दे रखा है। मीडिया रिपोर्टिंग इसके दायरे से बाहर है। अगर कॉलेज में हत्या या अन्य गंभीर घटना हुई है तो क्या इसमें किसी मीडियाकर्मी की संलिप्ता सामने आई है।

इस घटना की झारखंड जर्नलिस्ट एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष शहनवाज जी एवं संगठन मंत्री अरविंद प्रताप ने कड़ी निंदा करते हुये मुख्यमंत्री रघुबर दास और शिक्षा मंत्री नीरा यादव से तत्काल लकड़ी कार्रवाई करने की मांग की है।

समाचार लिखे जाने तक इस मामले को लेकर पत्रकारों का एक दल शिक्षा सचिव और शिक्षा मेंत्री के साथ वार्ता कर रही है। रांची वुमेंस कॉलेज के प्रिंसीपल मंजू सिन्हा के खिलाफ लिखित शिकायत दर्ज हो सकती है।

Share Button

Relate Newss:

प्रधानमंत्री जी के नाम एक दुखियारी भैंस का खुला ख़त
मीडिया को अपने चश्मे का रंग बदलना होगा
पीएम मोदी के खिलाफ तिरंगा के अपमान का मामला दर्ज
लखन सिंह के बहाने राज्यपाल सलाहकार को चुनौती देने वाला कौन है भाजपा नेता ?
स्वरूपानंद ने साईं भक्तों के खिलाफ नागा साधुओं को उतारा !
नही तो मीडिया को खारिज कर देगी जनता !
नाबालिग छात्रा की थाने में जबरिया शादी मामले को यूं उलटने में जुटे कतिपय लोकल रिपोर्टर
उपयोगिता समाप्त हो जाने के बाद छापे गये विज्ञापन
गेहूँ उत्पादन के लिए बिहार को मिला कृषि कर्मण पुरस्कार
शोसल नेटवर्किंग का विस्तार और मानवीय अलगाव के खतरे
जनप्रतिनिधि निकाल रहे नालंदा में शराबबंदी की हवा, मुखिया और पैक्स अध्यक्ष समेत 7 धराये
शुक्राचार्य जायेंगे जेल, आयकर विभाग ने कसा शिकंजा
ई राजनीति में पुत्र मोह जे न करावे
खुदकुशी नहीं, मीडिया और राजनीति का भद्दा मजाक !
सिमडेगा एसपी नही खोज पाये मनरेगा का कुआं !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...