‘पा लो ना’ की पहल से समाज का उत्थान संभव : अर्जुन मुंडा

Share Button
Read Time:4 Minute, 39 Second

रांची। आश्रयणी मीडिया एसोसिएट्स की पहल और इप्सोवा द्वारा समर्थित मुहिम पालोना परित्यक्त शिशु हत्या के विषय पर 10 और 11 दिसंबर को ऑड्रे हाउस में आयोजित दो दिवसीय कला एवं फोटो प्रदर्शनी का रविवार को समापन हो गया। समापन कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुण्डा थे। इनके अलावा कार्यक्रम में विशेष अतिथि के तौर पर मेयर आशा लकड़ा और आरती कुजुर के तौर पर उपस्थित थे।
समापन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अर्जुन मुंडा ने आश्रयणी मीडिया एसोसिएट्स के द्वारा उठायी गई पहल को एक अच्छा कदम बताते हुए कहा कि इस प्रकार इस की पहल से ही समाज का उत्थान हो सकता है। इस विषय पर लोगों को जागरूक करना होगा, तभी जाकर एक ऐसे समाज का निर्माण हो सकता है, जिस में सभी को जीने का सामान्य हक मिल सके।

अर्जुन मुण्डा ने हस्ताक्षर अभियान का समर्थन करते हुए स्लोगन बोर्ड पर हस्ताक्षार किया। इसके अलावा उन्होंने कौनवस पर भी चित्र उकेरते हुए लहरो में फंसे कश्ती में घबराये बच्चे का चित्र उकेरा।
बाल संरक्षण आयोग की अध्यक्ष आरती कुजूर ने कार्यक्रम के दौरान मीडिया से बात करते हुए कहा कि जिस विषय पर यह कार्यक्रम का आयोजन किया गया है उस विषय पर एक मंझे हुए कलाकर ही कैनवस के उपर अपने विचार उकेर सकते है। हम जैसे आम इनसानों से ये नहीं हो पायेगा।

10 और 11 दिसम्बर को मानव अधिकार दिवस के अवसर पर आयोजित इस कार्यक्रम में सबसे बड़ा यह सवाल उठता है कि जिनके पास अपनी खुद की आवाज नहीं है उनकी अवाज बनेगा कौन। आश्रयणी मीडिया एसोसिएट्स की यह एक सार्थक पहल है।

मेयर आशा लकडा ने भी कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि एक मां जहां अपने बच्चे को बिना सोचे मरने के लिए फेक देती है वही हमारे बीच में एक और मां भी है जो उसे अपने आंचल में जगह देने में भी देरी नहीं करती है। यह कार्यक्रम उन मां के साथ उन दुध मुंहे बच्चे को भी सम्मान देने की एक अच्छी पहल है। आशा लकड़ा ने भी हस्ताक्षर अभियान का समर्थन किया।
समापन कार्यक्रम में समाज कल्याण पदाधिकारी संजीव लाल, दूरदर्शन केन्द्र निदेशक पीके झा, हरेन्द्र सिन्हा, आर्टिस्ट अमिताव मुखर्जी, आर्टिस्ट प्रवीण कर्माकर के साथ और भी कई गणमान्य लोग उपस्थित थे।
इस कार्यक्रम को सफल बनाने में मशहूर कला प्रेमी श्री हरेन ठाकुर, श्रीमती शर्मिला ठाकुर, श्री दिनेश सिंह, श्री रामानुज शेखर, श्री उज्ज्वल घोष, श्री विश्वनाथ चक्रवर्ती, श्रीमती निर्मला मिंज, श्री गौतम बक्क्षी, श्री तपन दास, श्री ध्रुव, श्री विनोद रंजन, श्री राकेश कुमार, श्रीमती अर्चना दत्ता, श्रीमती ऐसा अखौरी, श्री हरीश मिंज, श्रीमती अर्चना सिन्हा, श्री हिमाद्री रमाणी, श्री मनोज सिन्हा, श्रीमती शिल्पी रमानी, श्रीमती सपना दास, श्री शशि शेखर, श्री दयाल साव, श्री सजित मिंज, श्री दीपांकर कर्माकर आदि कलाकारों का प्रमुख योगदान रहा, जिन्होंने अपनी कला के माध्यम से लोगों को जागरूक करने का प्रयास किया।
कार्यक्रम में प्रमुख रूप से डॉ0 सुनीता यादव, प्रोजेश दास, श्री अमित कुमार, शाहीन जमां, आसिफ जमां का महत्वपूर्ण योगदान रहा।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

बिहार चुनाव में नकली और विदेशी मुद्राओं का हुआ जमकर इस्तेमाल
'एक्सपर्ट मीडिया न्यूज' से बोले नालंदा एसपी- अब यूं जारी नही होगी प्रेस विज्ञप्ति
पत्रकारों ने मांगी छुट्टी तो हिन्दुस्तान के संपादक दिनेश मिश्रा ने दी गालियां !
बिहार पुलिस मेंस एसोसिएशन के अध्यक्ष निर्मल सिंह शराब पीते धराये, गये जेल
वरिष्ठ पत्रकार मधुकर बोले- कैशलेस ट्रांजिक्शन में सजगता के साथ सावधानी जरुरी
मीडिया मैनेजमेंट की उपज है नरेन्द्र मोदी का राष्ट्रीय कद !
दैनिक हिन्दुस्तान ने किसान का करा दिया हवा में पोस्टमार्टम!
दिमाग कंपा जाती है पत्रकार संदीप कोठारी का शव !
सीएम रघुवर दास के प्रेस सलाहकार की इनोवा छीनी तो हुआ एसआइटी का गठन
मोदी की हिदायत के बाबजूद बेलगाम है साक्षी महाराज !
...और दैनिक हिन्दुस्तान रांची के HR हेड ने पत्रकार से कहा-‘साले पेपर पर साइन करो, नहीं तो... !
बोले पीएम मोदी- विवेकपूर्ण और तार्किक ढंग से खबरें पेश करे मीडिया
गजब ! ओरमांझी जन सूचना अधिकारी ने मांगे 25 रुपये प्रति पेज सूचना
दैनिक हिंदुस्तान के जिलावार अवैध संस्करणों में सरकारी विज्ञापन पर रोक
लुटेरे थैलीशाहों के लिए ‘अच्छे दिन’ ?
40 के दशक में दुनिया का सबसे शक्तिशाली देश होगा भारत : भटकर
नई दिल्ली के फाइव स्टार होटर में महिला पत्रकार से गैंगरेप !
पत्रकार रंजन हत्याकांड के आरोपी को सीबीआई कोर्ट से जमानत
सोशल मीडिया मजा भी और सजा भीः फेसबुक ने यूं खोला कई सफेदपोशों का राज
आज 31 मई को काला दिवस मना रहे हैं हम !
आरक्षण नहीं मिला तो धर्म परिवर्तन कर लेंगे पटेल समुदाय
जब एक स्थानीय पत्रकार ने गाया 'सवेरे बोले मोरबा,कोरबा छोड़ द बलमा' तो झूम उठे सैनिक
आईना देख बौखलाये भाजपाई, वरिष्ठ पत्रकार कृष्ण बिहारी मिश्र पर थाने में किया मुकदमा !
आसान नहीं है मीडिया का सामना करना :अमिताभ बच्चन
भागलपुर जिले में खुला देश का पहला गरुड़ संरक्षण केन्द्र

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...