दैनिक हिंदुस्तान में संपादकों का बड़ा फेरबदल, रांची से गिरीश मिश्र गये दिल्ली

Share Button

नई दिल्ली। हिन्दी दैनिक हिंदुस्तान अखबार में बड़े पैमाने पर फेरबदल हुआ है। सुनील द्विवेदी को हिंदुस्तान कानपुर का नया संपादक बनाया गया है। कानपुर में संपादक पद संभाल रहे मनोज पमार के बारे में खबर है कि उन्हें प्रमोट कर दैनिक हिंदुस्तान का झारखंड का स्टेट हेड बनाया गया है।

रांची में संपादक पद का दायित्व निभा रहे चर्चित दिनेश मिश्रा के बारे में बताया जा रहा है कि उन्हें किसी दूसरे प्रोजेक्ट में लगाया जाएगा या फिर दिल्ली वैरंग वापस बुलाया जाएगा।

हिंदुस्तान, मुरादाबाद के संपादक मनीष मिश्रा को अब हिंदुस्तान, बरेली का संपादक बना दिया गया है। मुरादाबाद में संपादक पद का दायित्व अब सूर्यकांत द्विवेदी निभाएंगे,जो अभी तक मेरठ के संपादक हुआ करते थे।

हिंदुस्तान के इलाहाबाद संस्करण में न्यूज एडिटर के रूप में कार्यरत आशीष त्रिपाठी को गोरखपुर का नया संपादक बनाया गया है। हिंदुस्तान, बनारस में न्यूज एडिटर पद का दायित्व निभा रहे रजनीश त्रिपाठी को प्रमोट करते हुए इलाहाबाद एडिशन का संपादक बनाया गया है।

वहीं, हिन्दुस्तान दिल्ली-एनसीआर के संपादक अनिल भास्कर ने इस्तीफा दे दिया है। वे आठ माह पहले इस पद पर आए थे। इससे पहले मेरठ में पदस्थ रहते हुए वेस्ट यूपी इंचार्ज के बतौर सेवा दे रहे थे।

Share Button

Relate Newss:

अपनी धर्मपत्नी यशोदा के इंटरव्यू पर चुप हैं मोदी
अवैध राजगीर गेस्ट हाउस होटल के सामने नगर प्रशासन का 24घंटे का दंडात्मक आदेश भी बौना
योगा डे एक साजिश :ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड
मोदी के सद्भावना मिशन व्रत पर खर्च हुए थे 20 करोड़
दैनिक जागरण के इस इंटरनल मेल ने खोली मीडिया की यूं कलई
नालंदा एसपी ने रात मुखबिर बन की खुद पड़ताल और फिर दिन उजाले निरीक्षण कर 5 सिपाही को किया सस्पेंड
रेंगने को मजबूर क्यों हुआ एन डी टीवी ?
उधर 'मनरेगा पुरस्कार' और इधर 'मन रे गा भ्रष्टाचार'
विधायक, सेल्फी और दैनिक प्रभात खबर की पत्रकारिता
सीएम रघुबर दास की इस हरकत पर कानून के साथ मीडिया भी नंगी
मोहर्रम जुलूस में बुर्का पहन महिला से छेड़छाड़ करते धराया VHP नेता !
हमारे रिपोर्टर वीरेंद्र मंडल की पत्नी की जान बचाने आगे आए मानसेवियों का आभार🙏
डोनाल्ड ट्रंप से बेहतर हैं नरेंद्र मोदी : कन्हैया
राजनीति के अश्वत्थामा न बन जाएं केजरीवाल
गद्दार हैं ‘70 वर्षों में देश में कुछ नहीं हुआ’ कहने वाले

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...