मुकेश भारतीय के इन सबालों का जबाव दे राजगीर पुलिस और नालंदा प्रशासन

राजनामा.कॉम (संपादकीय टीम)।  विधि व्यवस्था और सुशासन कायम रखने के लिये पुलिस प्रशासन को IPC और CRPC  के तहत आपात अधिकार दिये गये हैं। इसका अर्थ यह नहीं हैं कि उसके नुमाईंदे, जो चाहें और जब चाहें, वे कर लें। आज एक शुभचिंतक ने राजनामा.कॉम के संचालक-संपादक मुकेश भारतीय पर राजगीर थाना में एक कथित पत्रकार, जो राजगीर मलमास मेले की सैराती जमीन पर अतिक्रमण करने वाले एक भू-माफिया के रुप में चिन्हित हो चुका है, के बेतुका बयान के आधार पर की गई एफआईआर की कॉपी भेजी है। हालांकि, इस मामले में फेसबुक पर उस कथित(फर्जी) पत्रकार की एक पोस्ट […]

Read more

आइएएनएस के ब्यूरो प्रमुख का गोरखधंधा, बीबी के नाम पर लूट रहा है झारखंड आइपीआरडी

जी हां, ये शत प्रतिशत सत्य है। जिन्हें जेल में होना चाहिए, उस पर आइपीआरडी का डायरेक्टर कृपा लूटा रहा है, लाखों लूटा रहा है, वह भी गलत तरीके से। जिस विज्ञापन का अभी कोई औचित्य भी नहीं, जो एक साल से भी अधिक पुराना है, उसे नित्यानन्द शुक्ला के इशारे पर नित्यानन्द शुक्ला की पत्नी रंजना शुक्ला के नाम पर चलाये जा रहे एक पोर्टल न्यूजझारखण्ड.कॉम को दे दिया गया है और उसके भुगतान के लिए तैयारी भी कर ली गयी है। हमने इसी पोस्ट पर एक नीचे विजूयल वीडियो डाला है, जरा आप उसे ध्यान से देखे –व्यापार सुगमता […]

Read more

बाथरुम में गिरे भड़ास के यशवंत, सिर में लगी गंभीर चोट

नई दिल्ली। भड़ास4मीडिया डाट काम के संस्थापक और संपादक यशवंत सिंह बीती रात बुरी तरह जख्मी हो गए. उनके माथे में गहरी चोटें आई हैं. वे बाथरूम में गिर पड़े थे, जिसके कारण नल की टोंटी उनके माथे में घुस गई. उन्हें दर्जनों टांके लगे हैं. उनकी चोट की स्थिति देखकर डाक्टर्स ने किसी प्लास्टिक सर्जन डाक्टर से आपरेशन कराने की सलाह दी. इसे ध्यान में रखते हुए प्लास्टिक सर्जरी के विशेषज्ञ डाक्टर से संपर्क साधा गया. विशेषज्ञ डाक्टर ने अपनी पूरी टीम के साथ करीब घंटे भर तक चले आपरेशन में दर्जनों टांके लगाए. यशवंत को करीब 9 दिन तक […]

Read more

पत्रकारिता के लिए हाइजैक हो गया है सोशल मीडिया एजेंडा

भारत में आधुनिक टेलीविजन पत्रकारिता के जनक और आजतक के संस्थापक संपादक स्वर्गीय सुरेन्द्र प्रताप सिंह (एसपी सिंह) की याद में दिल्ली के इंडिया इंटरनेशनल सेंटर में 26 जून की शाम को मीडिया खबर कॉनक्लेव और एसपी सिंह स्मृति व्याख्यान का आयोजन किया गया। यह आयोजन मीडिया खबर डॉट कॉम द्वारा किया गया। मीडिया कॉनक्लेव में मीडिया जगत के दिग्गजों ने भाग लिया। इस मौके पर हैशटैग की पत्रकारिता और ख़बरों की बदलती दुनिया पर एक परिचर्चा का आयोजन भी किया गया जिसमें राहुल देव (वरिष्ठ पत्रकार), केजी सुरेश (डायरेक्टर, आईआईएमसी), नीरेंद्र नागर (संपादक, नवभारतटाइम्स.कॉम), सतीश के सिंह (ग्रुप एडिटर,लाइव इंडिया), […]

Read more

जी न्‍यूज पर चली झूठी खबर को सच बनाने में सारे चैनल टूट पड़े

मोतिहारी। बिहार में निर्भया कांड, मोतिहारी में हुआ निर्भया कांड, लड़की के प्राइवेट में बंदूक घुसाया, घर में घूस कर लड़की को सड़क पर निकालकर छह लोगों ने किया गैंगरेप, रेपिस्‍ट को पकड़ो-लीपापोती मत करो…इसी तरह की हेडलाइन्‍स आज प्राइम टाइम में है। जी न्‍यूज पर दिन में चली झूठी खबर को सारे चैनल सच बनाने को टूट पड़े। कुछ चैनलों और सोशल मीडिया के हाईली पेड कुख्‍यातों को मुस्लिम नाम दिखा नहीं कि दुकान चमकाने का मौका मिल जाता है। इसमें तो दुर्भाग्‍य से गैंगरेप और मुस्लिम आरोपी दोनों दिख गया। अब जानिए टीवी चलने वाले बिहार के निर्भया गैंगरेप […]

Read more

यह रही मोदी सरकार की वेबसाइट विज्ञापन नीति

नई दिल्‍ली। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने वेबसाइटों पर विज्ञापन के लिए एजेंसियों को सूचीबद्ध करने एवं दर तय करने की खातिर दिशा निर्देश और मानदंड तैयार किए हैं, ताकि सरकार की ऑनलाइन पहुंच को कारगर बनाया जा सके। एक बयान में यहां कहा गया कि दिशानिर्देशों का उद्देश्य सरकारी विज्ञापनों को रणनीतिक रूप से हर महीने सर्वाधिक विशिष्ट उपयोगकर्ताओं वाले वेबसाइटों पर डालकर उनकी दृश्यता बढ़ाना है। नियमों के अनुसार, विज्ञापन एवं दृश्य प्रचार निदेशालय (डीएवीपी) सूचीबद्ध करने के लिए भारत में निगमित कंपनियों के स्वामित्व एवं संचालन वाले वेबसाइटों के नाम पर विचार करेगा। हालांकि विदेशी कंपनियों के स्वामित्व […]

Read more

झालसा का अपने वेबसाइट पर नियंत्रण का दावा खोखला

पैसा राज्य सरकार का और उसे चला रहा है एजेंट –मुकेश भारतीय– रांची। झारखंड स्टेट लीगल सर्विस ऑथरिटी (झालसा) के बारे में एक सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। एक तरफ जहां यह अपने अधिकृत वेबसाइट www.jhalsa.org पर पूर्ण नियंत्रण का दावा करती है, वहीं उसे अपने वेबसाइट का मालिकाना या तकनीकी तौर पर कोई अधिकार नजर नहीं आती है। सूचना अधिकार अधिनियम-2005 के तहत झालसा के जन सूचना अधिकारी सह उप सचिव के अनुसार www.jhalsa.org का समूचा प्रबंधन झालसा के हाथ में है। इस वेबसाइट को बनाने में कुल 1,65,500 (एक लाख पैंसठ हजार पांच सौ) रुपये खर्च किये गये […]

Read more
1 2 3 4 8