DM से की शिकायत तो खगड़िया DPRO ने पत्रकार को दी जान मारने की धमकी

पटना। सैंया भये कोतवाल तो डर काहे का। जीं हां, कुछ इसी तरह के अंदाज में सुशाशन बाबू की सरकार में अफसर गिरी चल रही है। कभी सूबे में अपराधियों द्वारा पत्रकारों को गोलियों से नवाजा जा रहा है तो कहीं सरकारी कार्यालयों में पत्रकारों को प्रवेश नहीं करने का फरमान जारी हो रहा है लेकिन इतना सब होने के बाबजूद भी पत्रकारों के उपर हमले या उनको खबर से रोकने की कोशिश लगातार जारी है। कुछ इसी अदा में डीएम से अपनी शिकायत को लेकर बौखलाये खगड़िया के डीपीआरओ ने सोनभद्र एक्सप्रेस के ब्यूरो चीफ अभिजीत सिन्हा के साथ न […]

Read more

प्रभात खबर के आरा ब्यूरो चीफ के तबादले पर सुप्रीम कोर्ट की रोक

नई दिल्ली। जस्टिस मजीठिया वेज बोर्ड मामले की लड़ाई लड़ रहे देश भर के मीडियाकर्मियों के पक्ष में माननीय सुप्रीम कोर्ट ने एक और बड़ा कदम उठाया है। प्रबंधन के खिलाफ जस्टिस मजीठिया वेज बोर्ड की सुप्रीम कोर्ट में लड़ाई लड़ रहे प्रभात खबर के रांची (झारखंड) के के ब्यूरो चीफ मिथिलेश कुमार का प्रबंधन ने तबादला कर दिया तो मिथिलेश कुमार ने सीधे सुप्रीमकोर्ट में अपने एडवोकेट दिनेश तिवारी के जरिये गुहार लगा दी। इस मामले में मजीठिया वेज बोर्ड की सुनवाई कर रहे सुप्रीम कोर्ट के विद्वान न्यायाधीश रंजन गोगोई और नागेश्वर राव की खंड पीठ ने मिथिलेश कुमार […]

Read more

मुर्गी लदे वाहन से कुचल कर प्रेस फोटोग्राफर मंजन की मौत

पटना। दैनिक भास्कर के हाजीपुर ब्यूरो कार्यालय में कार्यरत फोटोग्राफर 25 वर्षीय आदित्य कुमार सिंह उर्फ़ मंजन की सड़क दुर्धटना में मौत हो गई। घटना हाजीपुर-मुज़फ्फरपुर एन एच-77 पर सदर थाना क्षेत्र के एकारा गुमटी के समीप की है। कहा जाता है कि देसरी थाना क्षेत्र के खोकसा गांव आदित्य कुमार सिंह उर्फ़ मंजन अहले सुवह वह एक सड़क दुर्धटना का कवरेज करने के लिए वहां गए हुये थे। इसी दौरान एक मुर्गी लदे वाहन ने उन्हें कुचल दिया। जिससे कि मौके पर उनकी मौत हो गई। इस घटना के बाद आक्रोशित लोगों ने एनएच-77 मुख्य मार्ग को जाम कर दिया। […]

Read more

विनायक विजेता का ‘तरुणमित्र’ के संपादक पद से इस्तीफा, बोले ब्लैकमेलर नहीं बन सकते

पटना। बीते 7 अगस्त को हमने पटना से प्रकाशित दैनिक ‘तरुणमित्र’ में स्थानीय संपादक के रुप में अपना योगदान दिया था। पर चार माह की अल्पाअवधि में मुझे लगातार यह महसूस होने लगा कि इस अखबार को कोई योग्य संपादक या संवाददाता नहीं बल्कि संवाददाता के नाम पर ब्लैकमेलर, ब्यूरो व ब्लैकमेलर संपादक चाहिए जो सत्ता या विपक्षी दल के बड़े नेताओं की चाटुकारिता या दलाली कर विज्ञापन जुटा सके, पुलिस या प्रशासनिक अधिकारियों को हड़का कर नाजायज पैरवी करवा सके। मै यह मानता हूं कि किसी भी समाचार पत्र के लिए विज्ञापन एक मुख्य आधार होता है पर उसके लिए […]

Read more

दैनिक हिंदुस्तान में संपादकों का बड़ा फेरबदल, रांची से गिरीश मिश्र गये दिल्ली

नई दिल्ली। हिन्दी दैनिक हिंदुस्तान अखबार में बड़े पैमाने पर फेरबदल हुआ है। सुनील द्विवेदी को हिंदुस्तान कानपुर का नया संपादक बनाया गया है। कानपुर में संपादक पद संभाल रहे मनोज पमार के बारे में खबर है कि उन्हें प्रमोट कर दैनिक हिंदुस्तान का झारखंड का स्टेट हेड बनाया गया है। रांची में संपादक पद का दायित्व निभा रहे चर्चित दिनेश मिश्रा के बारे में बताया जा रहा है कि उन्हें किसी दूसरे प्रोजेक्ट में लगाया जाएगा या फिर दिल्ली वैरंग वापस बुलाया जाएगा। हिंदुस्तान, मुरादाबाद के संपादक मनीष मिश्रा को अब हिंदुस्तान, बरेली का संपादक बना दिया गया है। मुरादाबाद […]

Read more

पत्रकारों ने मांगी छुट्टी तो हिन्दुस्तान के संपादक दिनेश मिश्रा ने दी गालियां !

– शशिकांत सिंह – रांची। जस्टिस मजीठिया वेज बोर्ड के अनुसार वेतन और एरियर प्रबंधन से मांगने पर स्वामी भक्त संपादकों को भी बुरा लग रहा है। सबसे ज्यादा हालत खराब हिन्दुस्तान अखबार की है। खबर है कि हिन्दुस्तान अखबार के रांची संस्करण के दो कर्मियों अमित अखौरी और शिवकुमार सिंह ने जस्टिस मजीठिया वेज बोर्ड के अनुसार वेतन प्रबंधन से मांगा तो यहां के स्वामी भक्त स्थानीय संपादक  दिनेश मिश्रा को इतना बुरा लगा कि उन्होंने पहले मजीठिया कर्मियों को ना सिर्फ बुरा भला कहा बल्कि एक कर्मचारी को तो गालियां भी दीं। बाद में इन दोनों कर्मचारियों ने विरोध […]

Read more

‘इकोनॉमिस्ट’ ने नोटबंदी को बताया अधकचरा कदम

भारत में मोदी के नोटबंदी के क़दम को ‘इकोनॉमिस्ट’ पत्रिका ने अपने ताज़ा अंक में अच्छे उद्देश्य से बर्बादी लाने वाला एक अधकचरा कदम बताया है। इस लेख में दुनिया के उन देशों का उल्लेख है जिनकी सरकारें ऐसी कार्रवाई करके अपने देशों को बर्बाद कर चुकी हैं। आज तक एक भी देश को ऐसे क़दम से कोई लाभ नहीं हुआ है। फिर भी मोदी ने उनसे कोई सबक़ नहीं लिया और एक ऐसा घपला कर दिया जिससे उसके घोषित उद्देश्यों के पूरा होने पर भी देश को अनावश्यक नुक़सान होगा। ‘इकोनॉमिस्ट’ ने मोदी को ऐसी अफ़रा-तफरी मचाने वाले क़दम को […]

Read more

दैनिक जागरणः  हत्या किसी की, फोटो छापा किसी का !

बदायूं। दैनिक जागरण ने मर्डर की खबर में ऐसे आदमी की फोटो छाप दिया जो जिंदा है। जिसे लेकर लोगों में अखबार को लेकर काफी रोष देखा जा रहा है। हत्या किसी की हुई और दैनिक जागरण अख़बार ने फोटो किसी का छाप दिया। जी हां, हत्या जिसकी हुई है, दैनिक जागरण ने उसके स्थान पर फोटो उस व्यक्ति का लगा दिया जो अभी भी अपनी दुकान पर है, जीवित है, सही सलामत है। खबर है कि बदायूं के उझयानी में पिछले दिनों एक युवक की गोली मार कर बदमाशों ने हत्या कर दी। अपने आप को देश का नम्बर वन […]

Read more

बांका डीएम ने हिन्दुस्तान रिपोर्टर के दफ्तरों में प्रवेश पर लगाई रोक !

बांका। जिलाधिकारी डा. निलेश देवरे ने दैनिक हिन्दुस्तान अखबार के रिपोर्टर सत्यप्रकाश के सरकारी कार्यालयों में घुसने पर रोक लगा दी गयी है। यही नहीं डीएम ने बतौर लिखित यह आदेश भी दे दिया गया है कि अगर सत्यप्रकाश किसी भी काम से सरकारी कार्यालयों में घुसे तो उनके खिलाफ पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज कर लिया जाए। जिलाधिकारी के इस फरमान के खिलाफ रिपोर्टर सत्यप्रकाश ने अदालत की शरण ली है। सत्य प्रकाश पर आरोप है कि उन्होंने एक महादलित महिला की खबर छापी, जो जिलाधिकारी कार्यालय से जुड़ी थी। खबर का शीर्षक था- ‘जिलाधिकारी कार्यालय में पीड़ा सुनाने पहुंची महिला धक्के […]

Read more

हिंदी पायनियर का हालः न नियुक्ति पत्र न सेलरी स्लिप!

 एक ओर जहां तकरीबन हर अखबार में मजीठिया को लेकर उठापटक तेज है वहीं भाजपा के पूर्व राज्यसभा सांसद चंदन मित्रा के अखबार पायनियर में अब भी प्रबंधन धूर्तता के नए कीर्तिमान स्थापित कर रहा है। दरअसल मजीठिया फार्म भरने के लिए जिन कागजातों की जरूरत होती है उनमें से एक भी दस्तावेज यहां काम करने वालों के पास नहीं है। छह साल से निकल रहे हिंदी पायनियर में न तो किसी को सैलरी स्लिप दी जाती है और न किसी प्रकार का नियुक्ति पत्र। लिहाजा कोई भी मजीठिया क्लेम नहीं कर सकता है। सबकी हालत पंसारी की दुकान पर काम […]

Read more

प्रभात खबर के रिपोर्टर को व्हाट्सएप पर किसने भेजी जारी जांच की कॉपी ?

रांची। स्थानीय हिन्दी दैनिक प्रभात खबर एवं उसके वेबसाइट पर एक खबर को पढ़ने के बाद राजनामा.कॉम के संपादक ने अखबार के स्थानीय संपादक विजय पाठक जी को फोन किया। उन्होंने  क्रईम रिपोर्टर अमन तिवारी से मिलने को कहा। शाम करीब 6 बजे मुकेश भारतीय दैनिक प्रभात खबर के रांची संपादकीय कार्यालय पहुंच कर समाचार को लेकर आपत्ति जताई तो अमन तिवारी पुलिस सुपरविजन रिपोर्ट का हवाला देकर पुलिस के पक्ष में खड़ा हो गया और दो टूक कहा कि पुलिस जो चाहती है , वहीं होता है। जब मुकेश भारतीय ने कहा कि उसकी खबर का स्रोत क्या है। इस […]

Read more

दैनिक प्रभात खबर का अमन तिवारी क्राईम रिपोर्टर है या क्राईम मैनजर !

रांची। स्थानीय हिन्दी दैनिक प्रभात खबर का कोई सानी नहीं है। उसके क्रईम रिपोर्टर अमन तिवारी ने तो हद कर दी है। उसकी खबर देखने से लगता है कि या तो उसे पत्रकारिता का कोई बुनियादि ज्ञान नहीं है या फिर वह पुलिस-अपराधी के बीच लायजनिंग करता है। ऐसे ही रिपोर्टरों से पत्र और पत्रकारिता का स्तर गिर रहा है और एक पत्रकार को स्वंय को प्रेस कहने में हिचक होता है। जरुरत है कि अखबार अपने ऐसे संवादाताओं के विरुद्ध स्वच्छता अभियान चलाये। मामला है कि विगत 22.08.2016 की सुबह करीब सवा आठ बजे ज्ञात-अज्ञात अपराधियों द्वारा बीआईटी ओपी के खालसा […]

Read more
1 2 3 4 5 13