राजगीर के इस भू-माफिया को यूं महिमामंडन कर डाला दैनिक हिन्दुस्तान वालों ने

नालंदा (INR)। जिले के हृदयस्थली राजगीर की सैराती जमीनों पर अतिक्रमणकारियों का सुराज कायम है। मलमास मेला एवं गौ रक्षणी की सैरात भूमि पर अतिक्रमण कर बड़े-बड़े व्यवसायिक होटल बना लिये गये हैं। इस मामले को लेकर नीचे से उपर तक कहीं भी किसी महकमे के नुमांईदे गंभीर नहीं दिखते हैं। हद तो तब हो गई जब मीडिया के नुमाईदें भी वैसे लोगों को ही महिमामंडित और प्रचारित करने में जुट गया है। जबकि उससे कुछ भी छुपा नहीं है। पटना के अखबार दैनिक हिन्दुस्तान द्वारा एक ऑनलाइन डायरेक्टरी प्रकाशित की गई है। उसमें राजगीर के कथित भू-माफिया और मलमास मेला […]

Read more

रांची के दैनिक प्रभात खबर ने फिर दिखाई बेशर्मी की हद !

रांची (INR)। झारखंड की राजधानी रांची से प्रकाशित अखबार नहीं आंदोलन का दंभ भरने वाली हिन्दी दैनिक प्रभात खबर इतना वेशर्म हो सकता है, इसकी कल्पना किसी ने भी न की होगी। इस अखबार ने बरिष्ठ पत्रकार कृष्ण बिहारी मिश्र पर एक फेसबुक पोस्ट को लेकर रांची के धुर्वा थाना में दर्ज एफआईआर से संबंधित “ फेसबुक में भगवान राम की जगह सीम का फोटो लगाया ” शीर्षक से खबर प्रकाशित की है। इस खबर में लिखा है कि भगवान राम की जगह सीएम रघुवर दास का फोटो लगाने वाले कृष्ण बिहारी मिश्रा के खिलाफ रविवार को धुर्वा थाना में केस […]

Read more

प्रिंट मीडिया के लिये यह है आत्म-चिंतन का समय

भारत में प्रिंट मीडिया का बाजार 30,300 करोड़ रुपये तक पहुंच चुका है। लेकिन यह बहस का विषय हो सकता है कि राजस्व और पाठक संख्या के लिहाज से जोरदार बढ़ोतरी करने वाले समाचार पत्र और पत्रिकाएं क्या बेहतरीन पत्रकारिता के लिए भी इसका इस्तेमाल कर रही हैं? हिंदी डिजिटल विंग ‘बिजनेस स्टैंडर्ड’ में छपे अपने आलेख के जरिए यह कहना है कॉलमिनिस्ट वनिता कोहली खांडेकर का। उनका पूरा आलेख है….. हाल ही में मीडिया जगत से संबंधित तीन ऐसी खबरें आईं जिन पर ध्यान दिए जाने की जरूरत है। पहली, भारत में प्रिंट मीडिया की शानदार प्रगति अब भी जारी है। देश […]

Read more

दैनिक भास्कर रोहतक के एडीटोरियल हेड जितेंद्र श्रीवास्तव ने ट्रेन से कटकर की आत्महत्या

रोहतक (INR)।  हरियाणा राज्य के रोहतक से प्रकाशित दैनिक भास्कर के संपादकीय प्रभारी जितेंद्र श्रीवास्तव ने ट्रेन से कटकर आत्महत्या कर ली है। कहा जाता है कि उनका प्रबंधन से लेटरबाजी भी हुई थी और पिछले दिनों पानीपत में हुई मीटिंग में उनकी कुछ मुद्दों पर अपने वरिष्ठों से हाट टॉक हुई थी।. हालांकि आत्महत्या की असल वजह क्या है, इसका पता नहीं चल पाया है। बताया जा रहा है कि शनिवार की सुबह वह बच्चों को स्कूल छोड़कर घर लौटे थे। उसके बाद सुबह सवा दस बजे घर से निकल गए। वह स्टेशन पहुंचे और जीआरपी थाने के पास ही […]

Read more

सुप्रीम कोर्ट के सख्त रुख को भांप प्रभात खबर प्रबंधन ने किया समझौता

झारखंड और बिहार के प्रमुख समाचार पत्र प्रभात खबर के कुछ कर्मचारियों द्वारा माननीय सुप्रीम कोर्ट में लगाये गये अखबार प्रबंधन के खिलाफ अवमानना मामले को सुप्रीमकोर्ट से वापस ले लिया गया। बताते हैं कि प्रभात खबर प्रबंधन और कर्मचारियों के बीच समझौैता हुआ है जिसके बाद कर्मचारियों ने अपना मामला सुप्रीम कोर्ट से वापस ले लिया है। प्रभात खबर के कमल कुमार गोयनका के खिलाफ इसी समाचार पत्र के वरिष्ठ समाचार संपादक सत्यप्रकाश चौधरी और इसी अखबार के ७ कर्मचारियों ने माननीय सुप्रीम कोर्ट में केस नंबर १०८ के तहत जाने माने एडवोकेट परमानंद पांडे के जरिये अवमानना का केस […]

Read more

चोरी और सीनाजोरी के लिए यूं कुख्यात हैं दैनिक जागरण वाले, हुआ मुकदमा !

यह ताजा मामला पटना का है। मानस कुमार उर्फ राजीव दुबे अपनी कंपनी चलाते हैं। उन्होंने बिल्डरों और आर्किटेक्ट्स पर आधारित ‘बिल्डकान’ नामक एक प्रोग्राम करने का इरादा बनाया। इसके लिए गलती से उन्होंने विष्णु कुमार चौधरी नामक एक ऐसे आर्किटेक्ट की मदद ली जो दैनिक जागरण से भी जुड़ा हुआ था। उस आर्किटेक्ट ने सारा आइडिया दैनिक जागरण वालों को बता दिया। दैनिक जागरण के मार्केटिंग के वाइस प्रेसीडेंट विकास चंद्रा को यह आइडिया भा गया और उन्होंने इस बिल्डकान कार्यक्रम के जरिए जागरण को हर प्रदेश में करोड़ों कमवाने का विचार बना लिया। इसके लिए उन्होंने मानस कुमार उर्फ […]

Read more

नहीं रहे दैनिक भास्कर समाचार पत्र समूह के चेयरमैन रमेशचंद्र अग्रवाल

भोपाल। दैनिक भास्कर समाचार पत्र समूह के चेयरमैन रमेशचंद्र अग्रवाल नहीं रहे। वे 73 वर्ष के थे। रमेशजी को बुधवार सुबह 11 बजे अहमदाबाद एयरपोर्ट पर दिल का दौरा पड़ा। तत्काल उन्हें अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका। रमेशजी मंगलवार सुबह भोपाल से दिल्ली गए थे। बुधवार सुबह 9:20 बजे की फ्लाइट से वे 11 बजे अहमदाबाद पहुंचे। विमान से उतरते समय उन्हें दिल का दौरा पड़ा। अंतिम यात्रा उनके भोपाल स्थित निवास से गुरुवार सुबह 9:30 बजे भदभदा विश्राम घाट के लिए निकलेगी। अंतिम संस्कार 10:30 बजे होगा। पीएम नरेंद्र मोदी, छत्तीसगढ़, झारखंड, गुजरात व पंजाब […]

Read more

मुखबिर और ठग है दैनिक भास्कर का पत्रकार सुबोध मिश्रा !

भारत के सबसे बड़े अखबार होने का दावा करने वाले ‘दैनिक भास्कर’ के हजारीबाग के पत्रकार (हजारीबाग का सबसे बड़ा मुखबिर, दलाल और ठग जिसका खुलासा मैं करूँगा कि कब किससे कहाँ और कैसे क्या किया प्रमाण सहित ) ने बीस अक्टूबर 2016 को यह खबर छापी थी, जिसका शीर्षक था “धान के खेत में छिपने का प्रयास कर रही थी” अब सवाल यह उठता है कि , विधायक की गिरफ्तारी जहाँ से हुई थी वहां घांस की भी जगह नहीं है तो फिर इसे वहाँ धान का खेत नजर आ गया। इस तरह एक महिला विधायक के बारे में अख़बार […]

Read more

सड़क हादसे में दैनिक हिन्दुस्तान के उप संपादक की मौत

पटना। मुजफ्फरपुर से प्रकाशित दैनिक ‘हिन्दुस्तान’ में सीनियर सब-एडीटर के पद पर कार्यरत 49 वर्षीय विजय सिंह की गुरुवार की देर रात मुजफ्फरपुर में एक सड़क दुर्घटना में दर्दनाक मौत हो गई। प्रति दिन की तरह विजय सिंह कांटी रोड स्थित अखबार कार्यालय में अपनी ड्यूटी समाप्त कर रात्री लगभग साढ़ बारह बजे मोतिहारी के लिए ट्रेन पकड़ने निकले थे। लेकिन जब उन्हें स्टेशन के पास ही उन्हें अखबार का बंडल लादे हुए प्रेस की एक गाड़ी दिखायी दी तो विजय सिंह ने ट्रेन पकड़ने का इरादा छोड़कर प्रेस की गाड़ी से ही मातिहारी जाने का निर्णय लिया और गाड़ी की […]

Read more

…और दैनिक हिन्दुस्तान रांची के HR हेड ने पत्रकार से कहा-‘साले पेपर पर साइन करो, नहीं तो… !

रांची। स्थानीय दैनिक  हिन्दुस्तान अखबार प्रबंधन इन दिनों मजीठिया वेज बोर्ड के अनुसार बकाया मांगने वालों के खिलाफ लगातार दमन की नीति अपना रहा है। अखबार के दो पत्रकारों ने जब मजीठिया वेज बोर्ड के अनुरूप वेतन और भत्ते मांगने के लिये श्रम आयुक्त कार्यालय में क्लेम लगाया तो इनका ट्रांसफर कर दिया गया। जब ये लोग कोर्ट से जीते तो हिन्दुस्तान प्रबंधन को उन्हें वापस काम पर रखना पड़ा। तीन दिन बाद ही जब ये कर्मचारी कार्यालय आकर काम करने लगे तो उन्हें कार्मिक प्रबंधक ने कालर पकड़ कर अपशब्दों का इस्तेमाल करते हुये जबरी ट्रांसफर लेटर थमाने का प्रयास किया। […]

Read more

संजय गुप्ता को फौरन अरेस्ट करने की मांग करनी चाहिए  :यशवंत सिंह

नई दिल्ली। दैनिक जागरण का संपादक संजय गुप्ता है. यह मालिक भी है. यह सीईओ भी है. एग्जिट पोल वाली गलती में यह मुख्य अभियुक्त है. इस मामले में हर हाल में गिरफ्तारी होनी होती है और कोई लोअर कोर्ट भी इसमें कुछ नहीं कर सकता क्योंकि यह मसला सुप्रीम कोर्ट से एप्रूव्ड है, यानि एग्जिट पोल मध्य चुनाव में छापने की कोई गलती करता है तो उसे फौरन दौड़ा कर पकड़ लेना चाहिए. पर पेड न्यूज और दलाली का शहंशाह संजय गुप्ता अभी तक नहीं पकड़ा गया है. संजय गुप्ता ने पिछले कुछ वर्षों में मजीठिया वेज बोर्ड के तहत […]

Read more

दैनिक जागरण क मालिक संजय गुप्ता ने पेड न्यूज कुबूल किया : ओम थानवी

नई दिल्ली। इंडियन एक्सप्रेस में जागरण के सम्पादक-मालिक और सीईओ संजय गुप्ता ने कहा है कि उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव में दूसरे चरण के मतदान से पहले जागरण द्वारा शाया किया गया एग्ज़िट पोल उनके विज्ञापन विभाग का काम था, जो वेबसाइट पर जारी हुआ। (“Carried by the advertising department on our website”) माने साफ़-साफ़ पेड सर्वे ! दूसरे शब्दों में जागरण ने पैसा लिया (अगर लिया; किससे, यह बस समझने की बात है) और कथित मत-संग्रह किसी अज्ञातकुलशील संस्था से करवा कर शाया कर दिया कि चुनाव में भाजपा की हवा चल रही है। जैसा कि स्वाभाविक था, इस फ़र्ज़ी एग्ज़िट […]

Read more
1 2 3 13