पढ़ियेः बरिष्ठ पत्रकार कृष्ण बिहारी मिश्र का क्या था फेसबुक पोस्ट, जिस पर हुआ FIR

रांची (INR)। राजधानी रांची के धुर्वा थाना में वरिष्ठ पत्रकार कृष्ण बिहारी मिश्र के खिलाफ जिस फेसबुक पोस्ट को लेकर मुकदमा दर्ज कराया गया है, उसे देख कर यह नहीं लगता है कि कहीं कोई आपत्ति जनक बातें लिखी गई हो। इस आलोक में यदि हम रांची के चप्पे-चप्पे में झारखंड सूचना एवं जन संपर्क विभाग के टंगे सरकारी विज्ञापनों का अवलोकन करें तो साफ स्पष्ट होता है कि यदि धार्मिक संदर्भ में तो तत्काल कार्रवाई उन लोगों के खिलाफ होनी चाहिये, जिन्होंने सब कुछ को मजाक बना दिया है। श्री मिश्र ने अपनी भाषा की मर्यादा में लिखा है कि […]

Read more

सीएम के कनफूंकवों के इशारे पर हुई FIR और रांची के ये अखबार यूं लगे ठुमरी गाने

वरिष्ठ पत्रकार कृष्ण बिहारी मिश्र ने दी विरोधियों को खुली चुनौती- जागीर तुम्हारी, शासन तुम्हारा। कनफूंकवे तुम्हारे और ठुमरी गानेवाले अखबार तुम्हारा। रांची से प्रकाशित कुछ राष्ट्रीय अखबारों ने मुख्यमंत्री रघुवर दास और उनके कनफूंकवों को खुश करने के लिए हाथों में गजरा लगाकर ठुमरी गाया….. भाजपा नेता ने ही रघुवर को राम बनाया और भाजपा नेता ने ही उस चित्र को मुझे भेजा और भाजपा नेता ने ही कनफूंकवों के इशारे पर मेरे खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करा दी, यानी ऐसे चल रहा है, रघुवर शासन और ऐसे चल रही है रघुवर के इशारे पर यहां की पत्रकारिता… जी हां, रांची […]

Read more

वरिष्ठ पत्रकार कृष्ण बिहारी मिश्र पर FIR को लेकर फेसबुक पर कड़ा विरोध जारी

रांची (INR)। वरिष्ठ पत्रकार कृष्ण बिहारी मिश्र के खिलाफ राजधानी रांची के धुर्वा थाना में एक छुटभैये भाजपा नेता की शिकायत पर दर्ज मुकदमा को लेकर सोशल माईक्रो साइट पर तीखी आलोचना व विरोध के स्वर मुखर हो रहे हैं।  Santosh Kr Choudhary ने लिखा है कि  भाजपा के कार्यकर्ता ने वरिष्ठ एवम ईमानदार पत्रकार कृष्ण बिहारी मिश्र पर अपने भेजे गए फ़ोटो पर खबरों में आने के लिए FIR दर्ज किया । इस मुद्दे पर ….. अखिल भारतीय युवा परिषद के अध्यक्ष अमित कुमार ने कहा है कि भाजपा के ही एक कार्यकर्ता ने ये पिक्चर वरिष्ठ ईमानदार पत्रकार कृष्ण बिहारी मिश्र […]

Read more

प्रिंट मीडिया के लिये यह है आत्म-चिंतन का समय

भारत में प्रिंट मीडिया का बाजार 30,300 करोड़ रुपये तक पहुंच चुका है। लेकिन यह बहस का विषय हो सकता है कि राजस्व और पाठक संख्या के लिहाज से जोरदार बढ़ोतरी करने वाले समाचार पत्र और पत्रिकाएं क्या बेहतरीन पत्रकारिता के लिए भी इसका इस्तेमाल कर रही हैं? हिंदी डिजिटल विंग ‘बिजनेस स्टैंडर्ड’ में छपे अपने आलेख के जरिए यह कहना है कॉलमिनिस्ट वनिता कोहली खांडेकर का। उनका पूरा आलेख है….. हाल ही में मीडिया जगत से संबंधित तीन ऐसी खबरें आईं जिन पर ध्यान दिए जाने की जरूरत है। पहली, भारत में प्रिंट मीडिया की शानदार प्रगति अब भी जारी है। देश […]

Read more

राजगीर थाना में राजनामा.कॉम के संपादक के विरुद्ध FIR से हुआ यह एक नया खुलासा

बिना किसी संबंध-संपर्क के घर्मराज को बना दिया गया मुकेश भारतीय का गुर्गा राजनामा.कॉम (न्यूज़ ब्यूरो)। नालंदा की पावन धरती के मनोरम राजगीर मलमास मेला की सैरात भूमि पर अतिक्रमण कर पक्के मकान और व्यवसायिक होटल बनाने वाले भूमाफियाओं की खबर से हड़कंप मचा है। उसी में एक अवैध ढंग से निर्मित राजगीर गेस्ट हाउस के मालिक और गौरक्षणी भूमि पर अतिक्रमण कर रखे शिवनंदन प्रसाद ने राजनामा.कॉम के संपादक मुकेश भारतीय के आलावे अन्य 4 लोगों के खिलाफ राजगीर थाना में एफआईआर दर्ज करवाई है। वेशक उस एफआईआर में जो कुछ लिखा है, वह कोरा बकबास से अधिक कुछ नहीं […]

Read more

सुनिये ऑडियोः राजगीर थाना में बैठ इस शातिर ने पहले किया फोन, फिर किया राजनामा के संपादक पर फर्जी केस

राज़नामा.कॉम। नालंदा जिले के राजगीर मलमास मेला जमीन पर अवैध कब्जा को लेकर जो भी बात उठाता है, उस पर मुकदमा कर दिया जाता है। लेकिन वहां के कथित (फर्जी) जर्नलिस्ट शिवनंदन प्रसाद ने जो कुछ किया, वह मीडिया जगत को शर्मशार और राजगीर थाना पुलिस प्रभारी को नंगा कर जाती है। संलग्न ऑडियो क्लीप एफआईआर दर्ज होने के ठीक पहले की है, जो कि साइट के संचालक-संपादक मुकेश भारतीय के मोबाइल में रिकार्डेड सुरक्षित है। अब इसे आप सुधी पाठक ही सुनिये और निर्णय लीजिये……………… लिंकः राजगीर थाना में बैठ इस शातिर व कथित फर्जी जर्नलिस्ट ने पहले किया फोन, फिर […]

Read more

मुकेश भारतीय के इन सबालों का जबाव दे राजगीर पुलिस और नालंदा प्रशासन

राजनामा.कॉम (संपादकीय टीम)।  विधि व्यवस्था और सुशासन कायम रखने के लिये पुलिस प्रशासन को IPC और CRPC  के तहत आपात अधिकार दिये गये हैं। इसका अर्थ यह नहीं हैं कि उसके नुमाईंदे, जो चाहें और जब चाहें, वे कर लें। आज एक शुभचिंतक ने राजनामा.कॉम के संचालक-संपादक मुकेश भारतीय पर राजगीर थाना में एक कथित पत्रकार, जो राजगीर मलमास मेले की सैराती जमीन पर अतिक्रमण करने वाले एक भू-माफिया के रुप में चिन्हित हो चुका है, के बेतुका बयान के आधार पर की गई एफआईआर की कॉपी भेजी है। हालांकि, इस मामले में फेसबुक पर उस कथित(फर्जी) पत्रकार की एक पोस्ट […]

Read more

राजगीर एसडीओ की यह लापरवाही या मिलीभगत? है फौरिक जांच का विषय

राजगीर मलमास मेला सैरात भूमि की अतिक्रमण कर बनाये गये सफेदपोशों के अवैध होटलों-मकानों से बिजली-पानी कनेक्शन तक हटाने में विफल है प्रशासन ! नालंदा (ब्यूरो न्यूज)। विश्व प्रसिद्ध नालंदा जिले के राजगीर नगर में पुरातन सांस्कृतिक, धार्मिक व ऐतिहासिक विरासत को हड़पने वाले सफेदपोशों के प्रति शासन-प्रशासन के लोग लापरवाह ही नहीं हैं अपितु, उनकी मिलीभगत के प्रमाण भी सामने आये हैं। यह बात स्पष्ट हो गई है कि राजगीर मलमास मेला की जमीन से लेकर अन्य कई क्षेत्रों में सरकारी भूमि पर अनेक लोगों ने कब्जा कर अपनी व्यवसायिक अट्टालिकाएं खड़ी कर ली है। और अब यहां जो सब […]

Read more

प्रशासन को ठेंगा दिखा अवैध होटल निर्माण के विस्तार में मस्त है राजगीर का यह कथित जर्नलिस्ट

क्या वाकई कोई कुछ नहीं बिगाड सकता ?          -: मुकेश भारतीय :- नालंदा की पावन धरती का स्वर्ग यानि प्राकृतिक मनोरम वादियों से आच्छादित राजगीर को छोटे-बड़े सफेदपोश अतिक्रमणकारी लील ही नहीं रहे हैं बल्कि, शासन-प्रशासन और सरकार को यह खुली चुनौती देते दिख रहे हैं कि उनका कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता है। गौर से देखिये इस भवन को। यह राजगीर गेस्ट हाउस होटल है। इसका मालिक शिवनंदन प्रसाद है, जो खुद को कथित जर्नलिस्ट बताता है। लेकिन क्या कोई मीडियाकर्मी इतनी हिमाकत कर सकता है कि सरकारी भूमि पर आलीशान होटल ही न बना ले अपितु, भूमि […]

Read more

खुद अव्वल दर्जे के विवादित छवि के हैं राजगीर के ये कथित जनर्लिस्ट !

राजनामा.कॉम (ब्यूरो डेस्क)। कुछ दिन पहले नालंदा जिले के राजगीर क्षेत्र के पत्रकारों से जुड़ी एक विश्लेषणात्मक खबर प्रसारित की गई थी। उस खबर में शिवनंदन नामक कथित जर्नलिस्ट ने वहां के आधा दर्जन पत्रकारों को चिरकुट छाप बताते हुये सत्ता-शासन और जनप्रतिनिधियों का जमकर महिमा मंडन किया था। लेकिन जब उनके बारे में विभिन्न ज्ञात-अज्ञात विश्वसनीय सूत्रों से जानकारी जुटाई गई तो बड़े रोचक तत्थ उभर कर सामने आये। “हमारा प्रतिनिधि और प्रशासन बिल्कुल खरे और साफ” के ढिंढोरे पीटने वाले कथित जर्नलिस्ट शिवनंदन राजगीर लॉजिंग हाउस कमिटी के मार्केट की एक दुकान को आवास बनाकर रह रहे हैं। यह […]

Read more

वरिष्ठ पत्रकार कृष्ण बिहारी मिश्र ने अपनी पोस्ट के आलोचको को यूं दिया करारा जवाब

रांची (राज़नामा संवाददाता)। वरिष्ठ पत्रकार कृष्ण बिहारी मिश्र ने ईटीवी (न्यूज18) के सीनियर रिपोर्टर मनोज कुमार से संबंधित अपने फेसबुक वाल किये एक पोस्ट के आलोचकों करारा जवाब दिया है। उन्होंने अपने फेसबुक वाल पर पुराने पोस्ट को रिफ्रेश करते हुये “मेरे आज के पूर्व पोस्ट पर, जिन्होंने हमसे सवाल पूछे, ये है उनका जवाब” शीर्षक से लिखा है कि……… भाई, हम स्वागत करते हैं, उन सभी का जो इस पोस्ट पर अपनी बाते रखे हैं, सभी का स्वागत, सभी को प्रणाम। किसी से हमें कष्ट नहीं। वो इसलिये कि कभी न कभी, किसी न किसी रुप में हमने एक साथ […]

Read more

पहले ‘जय जवान,जय किसान’ और अब ‘मर जवान,मर किसान’

कभी इसी देश के पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री ने एक नारा दिया था – जय जवान, जय किसान। बाद में अटल बिहारी वाजपेयी जब प्रधानमंत्री बने तो उन्होंने वैज्ञानिकों की कर्मठता को देखा तो उस नारे में दो शब्द और जोड़े और फिर हुआ – जय जवान, जय किसान, जय विज्ञान, पर आज देश की क्या स्थिति है? न जवान की जय हो रही है, न किसान की जय हो रही है और न ही विज्ञान की जय हो रही है, तब जय किसकी हो रही है…   जाहिर है… नेताओं की, उनकी पत्नियों की और उनके बेवकूफ औलादों की। उद्योगपतियों […]

Read more
1 2 3 12