विकल्प है, लेकिन अंधे हैं आप !

“लोकतंत्र में सत्ता और विपक्ष दोनों जनता ही होती है। इसलिए जो सवाल पूछते हैं कि विकल्प क्या है, वो या तो मूर्ख हैं या धूर्त हैं………….” राजनामा.कॉम। लोकतंत्र में विकल्प ही विकल्प होते हैं। क्योंकि चुनाव लड़ने का अधिकार देश के हर नागरिक को है। विशेषकर भारत तो असीमित विकल्प […]

Read more

जिंदा जानवरों का यूं पीते हैं खून, तस्वीर देख कांप जाएगी आपकी रूह

“यह दुनिया बड़ी विचित्र है और यहां रहने वाले लोग भी। आपने बहुत से अजीबोगरीब लोगों के बारे में पढ़ा और सुना होगा। लेकिन आज हम आपको बताने जा रहे हैं ऐसे लोगों के बारे में जो जिंदा जानवरों का खून पीते हैं……………” राजनामा.कॉम। अफ्रीका में एक जनजाति है, जिसे लोग […]

Read more

हे मां लक्ष्मी🙏  इस धनतेरस व दिवाली को मेरे घर मत आना✍

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क डेस्क।  हमारी सोच -विचार ही हमारी  सच्ची संवेदनाएं हैं। यह हर इंसान के अंदर नहीं होती। अन्यथा आज समाज और लोकतांत्रिक व्यवस्था में एक बड़ा बदलाव मुखर होता। आज वर्तमान में नालंदा जिला बाल किशोर न्याय परिषद के प्रधान दंडाधिकारी सह न्याय कर्ता जज मानवेद्र मिश्र जी […]

Read more

सुलगते सवालों का अजायब घर है अवनीन्द्र झा की ‘मिस टीआरपी’ पत्रकारिता

“प्रखर और धारदार लेखनी से पत्रकारिता जगत में अपनी अलग पहचान बनाने वाले अवनीन्द्र झा द्वारा लिखित मिस टीआरपी’ हास्य-व्यंग्य की शैली में लिखी गयी है। वे एनडीटीवी इण्डिया, मौर्या, ज़ी पुरवैया, दैनिक भाष्कर ,डीएलए और आउट लुक आदि में अपना योगदान दे चुके हैं…” एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क (दीपक विश्वकर्मा)। […]

Read more

हिंदी पत्रकारिता दिवस: बिहार में साहित्यिक पत्रकारिता का विकास

“बिहार की हिंदी पत्रकारिता आज भी प्रगतिशील है। पत्रकारिता में पिछले कुछ सालों में ग्लैमर तो आया है मीडिया संस्थानों की बाढ़ सी आ गई है। कुल मिलाकर देखा जाए तो हिंदी पत्रकारिता ने बिहार को बहुत कुछ दिया है। सोशल मीडिया के विकास ने मीडिया को आज फेमस कर दिया […]

Read more

धड़ाधड़ खुल रहे रीजनल चैनलों की कहानी, एक्सपर्ट वासिंद्र मिश्र की जुबानी

खतरे की शुरुआत तभी होती है, जब आप खबर में अपना पर्सनल एजेंडा डालने की कोशिश करते हैं या किसी के कहने पर किसी के एजेंडा को अपने माध्यम से आगे बढ़ाने की कोशिश करते हैं, तभी खतरा होता है। सबसे बड़ा खतरा पॉलिटिक्स की ओर है अथवा जो सरकारें बन […]

Read more

डीसी, एसपी, महिला आयोग और पत्रकारों ने डुबोई सरायकेला जिले की प्रतिष्ठा

“दलाल मीडिया कर्मियों के कारण सच्चाई सामने नहीं आया, जिसके चलते इतना बड़ा मामला दब गया था। इधर एक्सपर्ट मीडिया ने पूरे मामले की सच्चाई सामने लाने का प्रयास किया। लेकिन दलाल पत्रकारों ने सभी खबरों को झूठा दिखाया। लेकिन आज 8 दिसबंर को राज्य बाल संरक्षण आयोग की अध्यक्षा आरती […]

Read more

खुलासे के साथ भूमिगत हुआ ‘केसरी गैंग’ का रिंग मास्टर

“वैसे मीडिया सूत्र के अनुसार वह कोई गहरी साजिश रच रहा है। खैर अब गैंग का शातिर सरगना ऐसा कोई भी हरकत नहीं कर सकेगा। हम उन तमाम ग्रामीणों, राजनेताओं एवं पत्रकारों को इस बात की गारंटी देता है कि वह पूरे निष्ठा पूर्वक अपने क्षेत्र में अपने कार्य को संपादित […]

Read more

सीएम को कवर करने से रोका तो फर्जी सूचना वायरल पर चला दी खबर

राजनामा.कॉम. बिहार के नालंदा में पत्रकारिता की बेशर्मी कहें या नालायकी कि सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर वायरल फर्जी सूचना की बिना जांच पड़ताल किए एक न्यूज चैनल के संवाददाता तक ने लपक लिया और उसे अपने चैनल में फूल प्लेट पट्टी ब्रेकिंग चला दी। इस खबर से जिला प्रशासन तथा राजनीतिक दलों […]

Read more

अफसरों को हड़काने की जगह यूं आत्ममंथन करें सीएम

‘एज ए मैन और ऐज ए पॉलिटीशियन नीतीश कुमार में कहीं दोष नहीं है ।दोष है तो ब्यूरोक्रेट्स से सांसद बने एक वैसे शख्स का, जिसके इशारे पर आईएएस और आईपीएस अफसरों का तबादला होता रहा है। जिनके इशारे पर नीतीश किसी कारणवश चलने को बाध्य हैं……..’ राजनामा.कॉम (विनायक विजेता)। पटना […]

Read more
1 2 3 20