धड़ाधड़ खुल रहे रीजनल चैनलों की कहानी, एक्सपर्ट वासिंद्र मिश्र की जुबानी

खतरे की शुरुआत तभी होती है, जब आप खबर में अपना पर्सनल एजेंडा डालने की कोशिश करते हैं या किसी के कहने पर किसी के एजेंडा को अपने माध्यम से आगे बढ़ाने की कोशिश करते हैं, तभी खतरा होता है। सबसे बड़ा खतरा पॉलिटिक्स की ओर है अथवा जो सरकारें बन […]

Read more

डीसी, एसपी, महिला आयोग और पत्रकारों ने डुबोई सरायकेला जिले की प्रतिष्ठा

“दलाल मीडिया कर्मियों के कारण सच्चाई सामने नहीं आया, जिसके चलते इतना बड़ा मामला दब गया था। इधर एक्सपर्ट मीडिया ने पूरे मामले की सच्चाई सामने लाने का प्रयास किया। लेकिन दलाल पत्रकारों ने सभी खबरों को झूठा दिखाया। लेकिन आज 8 दिसबंर को राज्य बाल संरक्षण आयोग की अध्यक्षा आरती […]

Read more

खुलासे के साथ भूमिगत हुआ ‘केसरी गैंग’ का रिंग मास्टर

“वैसे मीडिया सूत्र के अनुसार वह कोई गहरी साजिश रच रहा है। खैर अब गैंग का शातिर सरगना ऐसा कोई भी हरकत नहीं कर सकेगा। हम उन तमाम ग्रामीणों, राजनेताओं एवं पत्रकारों को इस बात की गारंटी देता है कि वह पूरे निष्ठा पूर्वक अपने क्षेत्र में अपने कार्य को संपादित […]

Read more

सीएम को कवर करने से रोका तो फर्जी सूचना वायरल पर चला दी खबर

राजनामा.कॉम. बिहार के नालंदा में पत्रकारिता की बेशर्मी कहें या नालायकी कि सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर वायरल फर्जी सूचना की बिना जांच पड़ताल किए एक न्यूज चैनल के संवाददाता तक ने लपक लिया और उसे अपने चैनल में फूल प्लेट पट्टी ब्रेकिंग चला दी। इस खबर से जिला प्रशासन तथा राजनीतिक दलों […]

Read more

अफसरों को हड़काने की जगह यूं आत्ममंथन करें सीएम

‘एज ए मैन और ऐज ए पॉलिटीशियन नीतीश कुमार में कहीं दोष नहीं है ।दोष है तो ब्यूरोक्रेट्स से सांसद बने एक वैसे शख्स का, जिसके इशारे पर आईएएस और आईपीएस अफसरों का तबादला होता रहा है। जिनके इशारे पर नीतीश किसी कारणवश चलने को बाध्य हैं……..’ राजनामा.कॉम (विनायक विजेता)। पटना […]

Read more

पगलाया बिहार नगर विकास एवं आवास विभाग, यूं बनाया 2 दिन का सप्ताह

बिहार नगर विकास एवं आवास विभाग दो दिन को एक सप्ताह मानती है। या फिर आम जनता को तकनीकी तौर पर ‘उल्लू’ समझती है और एक बड़े स्कैम को ढंकने की तैयारी में जुट गई है… -:  मुकेश भारतीय  :- राजनामा.कॉम। इस विभाग द्वारा स्वच्छ भारत मिशन (शहरी) अभियान के तहत […]

Read more

‘इस महापाप में न्यायपालिका, विधायिका, कार्यपालिका, मीडिया,एनजीओ सब शरीक’

राजनामा.कॉम। फिलहाल कशिश न्यूज चैनल से जुड़े जाने-माने टीवी जर्नलिस्ट संतोष सिंह ने मीडिया को पटना हाई कोर्ट से मिले आदेश को लेकर अपने फेसबुक वाल पर जो उद्गार व्यक्त किया है, वह सीधे तौर पर वाक्य और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता से जुड़े मौलिक अधिकार की ओर ध्यान आकृष्ट करता है। […]

Read more

बिना प्रशासनिक सहभागिता संभव नहीं है सोशल मीडिया पर नजर

वेशक आज समाज में सोशल मीडिया के उपयोग और दुरुपयोग के एक से एक खतरनाक आयाम इतनी तेजी से सामने आ रहे हैं कि इस पर नजर रखने और उपद्रवी तत्वों के खिलाफ समय से कार्रवाई करने की जरूरत बढ़ती ही जा रही है। अगर सरकार या प्रशासन सोशल मीडिया पर […]

Read more

एक था ‘अखबारों की नगरी’ मुजफ्फरपुर का ‘ठाकुर’

‘बुलंदी देर तक किस शख्स के हिस्से में रहती है,बहुत उंची ईमारत हर वक्त खतरे में रहती है ’….मुनव्वर राणा की यह पंक्ति ‘मुजफ्फरपुर महापाप’ के मास्टर माइंड कहे जाने वाले ब्रजेश ठाकुर पर सटीक बैठती है। पटना ( जयप्रकाश नवीन)। ब्रजेश ठाकुर कुछ दिन पहले तक ‘अखबारों की नगरी’ मुजफ्फरपुर […]

Read more

आंचलिक पत्रकार संघ और शासन की दाल में फिर दिखा भयादोहन का तड़का

“आज आंचलिक पत्रकारिता के सामने कई गंभीर चुनौतियां है। जिसे कुछ चालबाज बिचौलियों ने कस्बाई स्तर पर संघ-संगठनों ने नाम पर इसे काफी भयानक स्वरुप दे रखा है”। -: मुकेश भारतीय :- आजकल हर जिलों-कस्बों की तरह नालंदा जिले में भी कई कुकुरमुत्ता छाप कथित पत्रकार संगठने उगे दिख रहे हैं। […]

Read more
1 2 3 19