रांची के दैनिक जागरण की आत्मा यूं मर गई इस वरिष्ठ पत्रकार पर FIR को लेकर

रांची (INR)।  देश में नंबर वन का तमगा दिखाने वाले रांची से प्रकाशित हिन्दी दैनिक जागरण की आत्मा भी मरी प्रतीत होता है। वरिष्ठ पत्रकार कृष्ण बिहारी मिश्र पर धुर्वा थाना में हुई एफआईआर को लेकर उसमें भी जिस तरह से समाचार प्रकाशित किये गये हैं, वह यही सब स्पष्ट करता है।  इस अखबार में खबर है कि पुलिस ने आईटी एक्ट के तहत कृष्ण बिहारी मिश्रा नामक एक शख्स को नामजद आरोपी बनाया गया है। इसकी पुष्टि धुर्वा थाना प्रभारी ने की है। आगे लिखा है कि कृष्ण बिहारी मिश्रा नामक एक शख्स के फेसबुक एकाउंट से मर्यादा  पुरुषोतम भगवान […]

Read more

पढ़ियेः बरिष्ठ पत्रकार कृष्ण बिहारी मिश्र का क्या था फेसबुक पोस्ट, जिस पर हुआ FIR

रांची (INR)। राजधानी रांची के धुर्वा थाना में वरिष्ठ पत्रकार कृष्ण बिहारी मिश्र के खिलाफ जिस फेसबुक पोस्ट को लेकर मुकदमा दर्ज कराया गया है, उसे देख कर यह नहीं लगता है कि कहीं कोई आपत्ति जनक बातें लिखी गई हो। इस आलोक में यदि हम रांची के चप्पे-चप्पे में झारखंड सूचना एवं जन संपर्क विभाग के टंगे सरकारी विज्ञापनों का अवलोकन करें तो साफ स्पष्ट होता है कि यदि धार्मिक संदर्भ में तो तत्काल कार्रवाई उन लोगों के खिलाफ होनी चाहिये, जिन्होंने सब कुछ को मजाक बना दिया है। श्री मिश्र ने अपनी भाषा की मर्यादा में लिखा है कि […]

Read more

सीएम के कनफूंकवों के इशारे पर हुई FIR और रांची के ये अखबार यूं लगे ठुमरी गाने

वरिष्ठ पत्रकार कृष्ण बिहारी मिश्र ने दी विरोधियों को खुली चुनौती- जागीर तुम्हारी, शासन तुम्हारा। कनफूंकवे तुम्हारे और ठुमरी गानेवाले अखबार तुम्हारा। रांची से प्रकाशित कुछ राष्ट्रीय अखबारों ने मुख्यमंत्री रघुवर दास और उनके कनफूंकवों को खुश करने के लिए हाथों में गजरा लगाकर ठुमरी गाया….. भाजपा नेता ने ही रघुवर को राम बनाया और भाजपा नेता ने ही उस चित्र को मुझे भेजा और भाजपा नेता ने ही कनफूंकवों के इशारे पर मेरे खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करा दी, यानी ऐसे चल रहा है, रघुवर शासन और ऐसे चल रही है रघुवर के इशारे पर यहां की पत्रकारिता… जी हां, रांची […]

Read more

दैनिक भास्कर रोहतक के एडीटोरियल हेड जितेंद्र श्रीवास्तव ने ट्रेन से कटकर की आत्महत्या

रोहतक (INR)।  हरियाणा राज्य के रोहतक से प्रकाशित दैनिक भास्कर के संपादकीय प्रभारी जितेंद्र श्रीवास्तव ने ट्रेन से कटकर आत्महत्या कर ली है। कहा जाता है कि उनका प्रबंधन से लेटरबाजी भी हुई थी और पिछले दिनों पानीपत में हुई मीटिंग में उनकी कुछ मुद्दों पर अपने वरिष्ठों से हाट टॉक हुई थी।. हालांकि आत्महत्या की असल वजह क्या है, इसका पता नहीं चल पाया है। बताया जा रहा है कि शनिवार की सुबह वह बच्चों को स्कूल छोड़कर घर लौटे थे। उसके बाद सुबह सवा दस बजे घर से निकल गए। वह स्टेशन पहुंचे और जीआरपी थाने के पास ही […]

Read more

नालंदा में प्रेस रिपोर्टर बने अनेक नियोजित मास्टर, क्या बेखबर है प्रशासन?

नालंदा (INR)। नालंदा जिले के विभिन्न प्रखंड-थाना क्षेत्रों के सरकारी स्कूलों में नियोजित मास्टर रिपोर्टर बने हैं। वे अपने वाहनों पर प्रेस लिख सरकारी दफ्तरों से लेकर गांव-देहात तक मीडिया का दबदबा बनाते देखे जा सकते हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार कतरीसराय, हरनौत चंडी, हिलसा, थरथरी, गिरियक, नालंदा, पावापुरी आदि क्षेत्रों में कई नियोजित मास्टर ऐसे हैं, जो खुले तौर पर जाने-माने अखबारों में नियमित रिपोर्टिंग करते हैं। आलावे कई ऐसे नियोजित मास्टर हैं, किसके लिये करते हैं, यह तो ज्ञात नहीं होता है, लेकिन वे अपने दो पहिया-चार पहिया नीजि वाहनों में प्रेस लिख खूब फांकी मारते हैं। गंभीर बात […]

Read more

SC द्वारा रद्द IT एक्ट की धारा 66 A की आड़ में पुलिस-प्रशासन कर रहा गुंडागर्दी

राजनामा.कॉम। जी, हां। पुलिस-प्रशासन के लोग IT एक्ट की धारा 66 A की आड़ में गुंडागर्दी कर रहे हैं। जबकि माननीय सर्वोच्च न्यायालय ने इसे अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का उलंघन करार देते हुये रद्द कर चुकी है। बिहार मेें इसका जमकर दुरुपयोग हो रहा है। नालंदा जिले में तो ऐसा लगता है कि पुलिस थानों के लोग इसके बारे में रत्ती भर ज्ञान नहीं रखते। सुप्रीम कोर्ट ने श्रेया सिंघल वनाम महाराष्ट्र सरकार मामले में स्पष्ट कर चुका है कि  सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक कमेंट करने के मामले में लगाई जाने वाली IT एक्ट की धारा 66 A को संविधान के अनुच्छेद […]

Read more

सुनिये ऑडियोः राजगीर थाना में बैठ इस शातिर ने पहले किया फोन, फिर किया राजनामा के संपादक पर फर्जी केस

राज़नामा.कॉम। नालंदा जिले के राजगीर मलमास मेला जमीन पर अवैध कब्जा को लेकर जो भी बात उठाता है, उस पर मुकदमा कर दिया जाता है। लेकिन वहां के कथित (फर्जी) जर्नलिस्ट शिवनंदन प्रसाद ने जो कुछ किया, वह मीडिया जगत को शर्मशार और राजगीर थाना पुलिस प्रभारी को नंगा कर जाती है। संलग्न ऑडियो क्लीप एफआईआर दर्ज होने के ठीक पहले की है, जो कि साइट के संचालक-संपादक मुकेश भारतीय के मोबाइल में रिकार्डेड सुरक्षित है। अब इसे आप सुधी पाठक ही सुनिये और निर्णय लीजिये……………… लिंकः राजगीर थाना में बैठ इस शातिर व कथित फर्जी जर्नलिस्ट ने पहले किया फोन, फिर […]

Read more

मुकेश भारतीय के इन सबालों का जबाव दे राजगीर पुलिस और नालंदा प्रशासन

राजनामा.कॉम (संपादकीय टीम)।  विधि व्यवस्था और सुशासन कायम रखने के लिये पुलिस प्रशासन को IPC और CRPC  के तहत आपात अधिकार दिये गये हैं। इसका अर्थ यह नहीं हैं कि उसके नुमाईंदे, जो चाहें और जब चाहें, वे कर लें। आज एक शुभचिंतक ने राजनामा.कॉम के संचालक-संपादक मुकेश भारतीय पर राजगीर थाना में एक कथित पत्रकार, जो राजगीर मलमास मेले की सैराती जमीन पर अतिक्रमण करने वाले एक भू-माफिया के रुप में चिन्हित हो चुका है, के बेतुका बयान के आधार पर की गई एफआईआर की कॉपी भेजी है। हालांकि, इस मामले में फेसबुक पर उस कथित(फर्जी) पत्रकार की एक पोस्ट […]

Read more

सुपारी पत्रकार हैं अर्नब गोस्वामी  :राहुल कंवल

नई दिल्ली। देश के मशहूर जर्नालिस्ट अर्नब गोस्वामी अपने नए न्यूज़ चैनल रिपब्लिक से एक बार फिर पत्रकारिता में एक्टिव हो चुके हैं। टीवी चैनल के लांच होते ही अर्नब ने कुछ ऐसे खुलासे किये जिससे राजनीति में भूचाल तो आया लेकिन, बाद में उनकी पत्रकारिता पर विवाद भी खड़ा होने लगा। उन पर अन्य मीडिया व राजनीतिक दलों से पक्षपातपूर्ण पत्रकारिता करने का आरोप लगाया जाने लगा है। अर्नब चैनल पर आते ही लालू प्रसाद यादव-शहाबुद्दीन का टेप और शशि थरूर के फोन टेप चलाकर अपने चैनल की धमाकेदार शुरूआत की। इसके बाद उन पर आरोपों की झड़ी लगाने वालों […]

Read more

खुद अव्वल दर्जे के विवादित छवि के हैं राजगीर के ये कथित जनर्लिस्ट !

राजनामा.कॉम (ब्यूरो डेस्क)। कुछ दिन पहले नालंदा जिले के राजगीर क्षेत्र के पत्रकारों से जुड़ी एक विश्लेषणात्मक खबर प्रसारित की गई थी। उस खबर में शिवनंदन नामक कथित जर्नलिस्ट ने वहां के आधा दर्जन पत्रकारों को चिरकुट छाप बताते हुये सत्ता-शासन और जनप्रतिनिधियों का जमकर महिमा मंडन किया था। लेकिन जब उनके बारे में विभिन्न ज्ञात-अज्ञात विश्वसनीय सूत्रों से जानकारी जुटाई गई तो बड़े रोचक तत्थ उभर कर सामने आये। “हमारा प्रतिनिधि और प्रशासन बिल्कुल खरे और साफ” के ढिंढोरे पीटने वाले कथित जर्नलिस्ट शिवनंदन राजगीर लॉजिंग हाउस कमिटी के मार्केट की एक दुकान को आवास बनाकर रह रहे हैं। यह […]

Read more

 इस सरकार-शासन प्रेमी कथित जर्नलिस्ट की पोस्ट से उभरे सबाल, राजगीर में कौन-कितने चिरकुट पत्रकार ! 

नालंदा (राज़नामा न्यूज)। आज कल नालंदा में उनकी हीं पत्रकारिता अधिक चलती है, जो प्रशासन और नेताओं के तलवे चाटते हैं। राजगीर के कथित जर्नलिस्ट शिवनंदन प्रसाद ने जिस तरह की प्रतिक्रिया-मैसेज भेजी हैं, वह काफी अटपटा लगती है और निःसंकोच इस तरह के उद्गार एक पत्रकार की हो ही नहीं सकती। शिवनंदन ने व्हाट्सएप्प मैसेज भेजी है,पहले उसे हुबहू पढ़िये। वे महाशय लिखते हैं कि…. “नगर पंचायत के चुनावी मैदान में जो भी अपने भाग्य आजमा रहे है वो अपने बलबूते वजूद पर न की कुछ छदम पत्रकारों पर,ऐसे वक्त पर अनर्गल बात सामने लाकर खड़े लोगों को निचा दिखाने […]

Read more

सुप्रीम कोर्ट के सख्त रुख को भांप प्रभात खबर प्रबंधन ने किया समझौता

झारखंड और बिहार के प्रमुख समाचार पत्र प्रभात खबर के कुछ कर्मचारियों द्वारा माननीय सुप्रीम कोर्ट में लगाये गये अखबार प्रबंधन के खिलाफ अवमानना मामले को सुप्रीमकोर्ट से वापस ले लिया गया। बताते हैं कि प्रभात खबर प्रबंधन और कर्मचारियों के बीच समझौैता हुआ है जिसके बाद कर्मचारियों ने अपना मामला सुप्रीम कोर्ट से वापस ले लिया है। प्रभात खबर के कमल कुमार गोयनका के खिलाफ इसी समाचार पत्र के वरिष्ठ समाचार संपादक सत्यप्रकाश चौधरी और इसी अखबार के ७ कर्मचारियों ने माननीय सुप्रीम कोर्ट में केस नंबर १०८ के तहत जाने माने एडवोकेट परमानंद पांडे के जरिये अवमानना का केस […]

Read more
1 2 3 41