स्वतंत्र लेखक मंच का 27 वां वार्षिक साहित्योत्सव आज

नई दिल्ली। अखिल भारतीय स्वतंत्र लेखक मंच का 27 वां वार्षिक साहित्योत्सव विगत महाधिवेशन की भांति इस वर्ष का साहित्योत्सव संत रविदास ,स्वामी दयानंद सरस्वती, वीर शिवाजी, रामकृष्ण परमहंस और सरोजिनी नायडू की जयंती के रुप में बड़े ही भव्य रूप से मनाया जायेगा। आगामी 19 फरवरी 2017 नव हिंद […]

Share Button
Read more

लुआठी’ के सम्पादक ‘आकाश खूंटी’ को मिला ‘श्रीनिवास पानुरी स्मृति सम्मान’

धनबाद। खोरठा साहित्य में उल्लेखनीय योगदान केलिए खोरठा पत्रिका ‘लुआठी’ के सम्पादक गिरिधारी गोस्वामी ‘आकाश खूंटी’ को खोरठा कवि श्रीनिवास पानुरी की 96वीं जयंती पर धनबाद की साहित्यिक संस्था ‘खोरठा साहित्य विकास मंच’ एवं ‘उमा फिल्म प्रोड्क्शन’ कतरास के सौजन्य से ‘श्रीनिवास पानुरी स्मृति सम्मान’ से सम्मानित किया गया। उन्हें […]

Share Button
Read more

पूर्व शिक्षा मंत्री एवं लेखक-पत्रकार सुरेन्द्र प्रसाद तरुण का निधन

पटना। बिहार के पूर्व शिक्षा मंत्री एवं पत्रकार सुरेन्द्र प्रसाद तरुण का लंबी बीमारी के बाद बीती रात्रि निधन हो गया। वह 88 के थे। दिवंगत तरुण ने बीती रात रात पटना मेडिकल कालेज अस्पताल में अंतिम सांस ली। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उनके निधन पर गहरी शोक व्यक्त करते […]

Share Button
Read more

देशभक्ति की चेतना जगाएगा राष्ट्र गान

– डॉ नीलम महेंद्र- हमारा देश एक लोकतांत्रिक देश है और चूँकि हम लोग अपने संवैधानिक अधिकारों के प्रति बेहद जागरूक हैं और हमें अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता हासिल है तो हम हर मुद्दे पर अपनी अपनी प्रतिक्रिया देते हैं और किसी भी फैसले अथवा वक्तव्य को विवाद बना देते हैं […]

Share Button
Read more

काले धन की काली लड़ाई, राम दुहाई राम दुहाई

विचाराधीन या बेचारा अधीन ? इस बार भी हुआ जेल ब्रेक / भागे कैदी पर उन्हें महज कैदी कहा गया. दाढ़ी थी इनके भी, उनसे थोड़ी लम्बी भी मगर नहीं कहे गये, इस बार ये आतंकी. थोड़े सांस्कृतिक राष्ट्रवादी टाईप के थे. इसलिये पकड़ लिये गये जिन्दा वर्ना मारे जाते […]

Share Button
Read more

‘मुंशिया के पापा’

दो औरतें आपस में अपने घर के सामने खड़ी होकर बतिया रही थीं। शाम को धुंधलका था- शक्ल तो नहीं देख सका अलबत्ता उनके मुख उच्चारण उपरान्त निकले शब्दों का श्रवण स्वान सदृश तीव्र कर्णों से किया था। बड़ा आनन्द आया। मुझे लगा कि इनसे बड़ा कोई आलोचक नहीं हो […]

Share Button
Read more

 जलना चाहता हूँ मैं तो बनकर इक दिया,देखो अँधेरा जग में कहीं अब रह न जाये

नई ज्योति के संग झिलमिल करके दिल में अपने उम्मीदों के रंग भरके, करूँ रौशनी मैं तो झम झम यार निशा की गली में यूँ तम खो जाये जैसे तिमिर को कोई जुगनू खा जाये हो बाती का मुझसे प्यार ऐसा मेरे प्यार में झूमे संसार ऐसा रौशनी संसार को […]

Share Button
Read more

मैं कलम का सिपाही हूं, मेरी प्यारी कलम आज उनकी जय बोल

जला दे नफरत की आग में अपनी मानवता को कर तू अब अनमोल मैं कलम का सिपाही हूँ मेरी प्यारी कलम आज उनकी जय बोल जो चढे फाँसी पे भारत माँ की जय बोल तू ही लगा दे उनकी गर्दन का कुछ मोल चन्द्र शेखर प्यारा भगत सिंह मेरा दुलारा […]

Share Button
Read more

सुरेन्द्र शर्मा की हास्य होली के निशाने पर यूं रहे नामी हस्तियां

धौनी पर धमाल हम क्रिकेटवालों की एक ही नियति है जीत गए तो सिर पर बैठाएंगे हार गए तो जूता दिखाएंगे यह मीडियावाले भी कम नहीं हैं जीत गए तो रंगारंग कार्यक्रम बनाएंगे हार गए तो हमारे क्रियाकर्म का सामान जुटाएंगे हम हारते हैं या जीतते हैं, हम देश के […]

Share Button
Read more

नारी की बद्दतर हालत का सबसे बड़ा कारण है लिंग भेद

नारी शक्ति और महिलाओं के उत्थान के लिए वर्षों से लिखा जाता रहा है / बोला जाता रहा है। पर सचाई यह है की नारी की स्तिथि आज भी बेहतर नहीं हो पायी है। इसका सबसे बड़ा कारण लिंग भेद है। और जब तक बेटा – बेटी में फर्क किया जाता रहेगा […]

Share Button
Read more

” झारखण्डी नृत्य की विविधता , उराँव जनजाति की महत्ता के साथ “

भारत के मानचित्र में अंकित ऐतिहासिक क्षेत्र छत्तीसगढ़  एवं झारखण्ड आदिवासीयों के निवास के लिए काफी प्रसिद्ध है। झारखण्ड क्षेत्र की अपनी ऐतिहासिक भौगोलिक और संस्कृति की पहचान तो है ही ये अन्य जनजातियों की भाँति आत्मवाद में विश्वास करते हैं, तथा सबसे बड़ा देवता आत्मा है जिसे ये धर्मेश कहते […]

Share Button
Read more

हाँ मैं झारखण्ड हूँ

मैं अपनी विशेषता के लिए जाना जाता है। हमारा देश अपनी सभ्यता एवं संस्कृति के लिए पुरे संसार में विख्यात है। हमारा भारत देश अपने यहाँ होने वाले पूजा – पाठ , पर्व के लिए भी बेहद प्रसिद्ध है , अलग – अलग धर्म के लोग यहाँ निवास करते हैं , जहाँ आस्थानुसार […]

Share Button
Read more
1 2 3 5