राजगीर मलमास मेला सैरात भूमि से अतिक्रमण हटाने में भेदभाव, आत्मदाह करेगें महादलित

 ” यहां पुलिस-प्रशासन ने कानून का इस्तेमाल गरीब और अमीर के लिए अलग-अलग किया गया। अगर बड़े लोगों पर कार्रवाई नहीं हुई तो अनुमंडल कार्यालय के समक्ष सामूहिक आत्मदाह करेंगे।“ नालंदा (न्यूज ब्यूरो)। प्रमंडलीय आयुक्त सह लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी आनंद किशोर द्वारा 17-18 जुलाई को राजगीर मलमास मेला सैरात भूमि को अतिक्रमण आदेश  के बाद हटाए गए अतिक्रमण में भेदभाव का आरोप लगा दर्जनों महादलित परिवार ने प्रदर्शन कर स्थानीय प्रशासन के खिलाफ जम कर नारेबाजी करते हुये सामूहिक आत्मदाह करने की चेतावनी दी है। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि वे लोग वर्षों से झुग्गी-झोपड़ी बनाकर सैरात की भूमि पर रह […]

Read more

राजगीर मलमास मेला सैरात भूमि को अतिक्रमण मुक्त करने के आदेश से दौड़ी खुशी की लहर

“आजादी के बाद पहली बार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सुशासन के अधिकारियों ने मलमास मेला सैरात भूमि को अतिक्रमण मुक्त कराने का कड़ा फैसला लिया है। अब तक किसी भी अंचलाधिकारी और प्रमंडलीय आयुक्त ने इतना बड़ा फैसला कभी नहीं लिया था” नालंदा (राम विलास)। अतिक्रमण हटाने के आदेश के बाद राजगीर के मलमास मेला सैरात भूमि पर अवैध अतिक्रमण करने वालों की मुश्किलें बढ़त गयी है।अधिकारी इस सैरात भूमि को खाली कराने के लिए कानूनी प्रक्रिया पुरी कर रहे हैं। पटना के प्रमंडलीय आयुक्त आनंद किशोर ने इस सैरात भूमि को खाली कराने का आदेश कल मंगलवार को जारी किया […]

Read more

अब नहीं बचेंगे राजगीर मलमास मेला सैरात भूमि के अतिक्रमणकारी, मुक्त कराने की कार्रवाई शुरु

35 निजी अतिक्रमणकारियों के खिलाफ नोटिस जारी, सैरात पंजी के अनुसार कुल 73.03  एकड़ है  मलमास मेला सैरात की भूमि,  कुल 11 खातों के 28 खातों में  विभक्त है मलमास मेला सैरात की भूमि , सरकारी भवन एवं पुरातत्व विभाग  32 . 7175  एकड़, सड़क निर्मित 3.07 एकड़ भूमि  में निर्मित है सड़क,  1.5075 एकड़ में है गैर सरकारी धार्मिक संस्थाएं,  मलमास मेला की अतिक्रमित भूमि 40. 6462 एकड़,  मलमास मेला की परती जमीन 32. 38 387 एकड़ नालंदा ( राम विलास )। राजगीर के चर्चित मलमास मेला सैरात भूमि को अतिक्रमण मुक्त करने की कार्रवाई आरंभ हो गई है। आध्यात्मिक और सान्सकृतिक विरासत की […]

Read more

तबादले पर बवाल है-उठते कई सवाल हैं

देश की सबसे प्रतिष्ठित सरकारी सेवा मानी जाती है यूपीएससी, जिसके अंतर्गत दृढ़ इच्छाशक्ति ओर कठिन परिश्रम से देश के युवा इस सेवा में शामिल होकर विभिन्न पदों पर अपनी सेवाएं देते हैं। ऐसे में सवाल उठता है कि संदीप कदम, मनोज कुमार, भोर सिंह, इंद्रजीत महथा, पी मुरुगन और नैंसी सहाय जैसे कई और अन्य अधिकारी ही क्यों शिद्दत के साथ सिस्टम और समाज को सुधारने का बीड़ा उठाते हैं, क्यों अन्य अधिकारी ये जिम्मा नहीं निभाते, इसी शून्यता में कुछ अधिकारी अच्छा कार्य करके समाज मे हीरो बन जाते हैं। लेकिन सवाल है क्या कमी रह जाती है उन युवा […]

Read more

बच्चे फेल नहीं हुए, आपका सिस्टम फेल हुआ साहब

झारखंड और बिहार के मैट्रिक और इंटर का रिजल्ट यहां के शैक्षणिक माहौल की गंदगी और सड़ाध का ही प्रतिफल है। झारखंड में मैट्रिक की परीक्षा में 4.63 लाख में से 1.95 लाख बच्चे फेल हो गए। वहीं इंटर में 62 हजार परीक्षार्थी फेल हो गए। यांनी कुल 2.57 लाख बच्चे फेल हो गए। यह बहुत ही खतरनाक संकेत है।यही हाल बड़े भाई बिहार का भी है। वहां भी 12वीं की परीक्षा में 12 लाख में से आठ लाख घुलट गए। कुछ शातिर नेता और अधिकारी इस शर्मनाक रिजल्ट के लिए बेवकूफ जैसी सफाई दे रहे हैं। कोई कह रहा है […]

Read more

अपने ही मुल्क में दफ्न होती ज़िंदगियां ! और कितनी शहादत ?

-: अरविन्द प्रताप :- झारखण्ड – छतीसगढ़ राज्य बनते ही इनके हिस्से में एक सबसे भयानक दुस्वारी आयी, जिसका नाम था नक्सलवाद, नक्सलवाद ने झारखण्ड और छतीसगढ़ जैसे कई राज्यों को खून के आंसू रुलाया है, जिसकी बलिवेदी पर न केवल सूबे के सांसद…और विधायक बलि चढ़ते रहे…बल्कि यहां की धरती रोजाना देश के जवानों के खून से लाल भी होती रही… राज्य में बनी सरकारों ने कभी इस मसले पर गंभीरता नहीं दिखाई…नतीजन वक़्त के साथ यह समस्या भी सूबे में नासूर बनता गया…नक्सली कैसे सूबे में लाल कारीडोर का निर्माण करते चले गए…और सरकारें कैसे बौनी बनी रहीं… छतीसगढ़ में […]

Read more

नालंदा के थानों में जी हुजूरी करते चौकीदार और अपराधी बने डीएम-एसपी

बिहारशरीफ (नालंदा), मुकेश भारतीय / जयप्रकाश नवीन। किसी भी राज्य की शासन व्यवस्था में गांवों या शहरों की प्रथम पूर्ण सुरक्षा की जिम्मेवारी कोतवालों यानि चौकीदारों और दफादारों पर है। यह कोई आजाद भारत की नई व्यवस्था नहीं है। पुरातन काल से चली आ रही इस व्यवस्था को अंग्रेजी हुकुमत ने भी बरकरार रखा। लेकिन आज यदि हम नालंदा जैसे जिलों में देखें तो थानेदारों ने सब कुछ की धज्जियां उड़ा कर रख दी है। इससे सब वाकिफ हैं। भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी हों या भारतीय पुलिस सेवा के कर्णधार। बिहार प्रशासनिक सेवा के करींदों का तो अपना ही आलम […]

Read more

ऐय्याश-भगोड़ा विजय माल्या को भारत लाना दूर की कौड़ी, गिरफ्तारी के 3 घंटे बाद ही रिहा

विजय माल्या को भारत सरकार की अर्जी के आधार पर लंदन में गिरफ्तार किया गया और उसे महज 3 घंटे बाद जमानत भी मिल गई। ब्रिटिश कानूनों को देखते हुए ऐसा लगता है कि माल्या को भारत लाना अभी दूर की कौड़ी है। भारत ने ब्रिटेन के साथ प्रत्यर्पण संधि के अनुरूप आठ फरवरी को एक नोट वर्बेल के जरिए माल्या के प्रत्यर्पण के लिए औपचारिक आग्रह किया था। जानकारों के मुताबिक प्रत्यपर्ण के लिए देश में तीन तरह के रास्ते हैं और वो इंडियन पीनल कोड, क्रिमिनल प्रोसिजर कोड और एंविडस एक्ट के तहत हैं। लेकिन सरकार अगर जोर लगाएगी […]

Read more

सिल्ली MLA अमित महतो के इस ‘बुजुर्ग मां’ जज्बे को सलाम

रांची ( मुकेश भारतीय )। मां सिर्फ मां होती है और जीवन में वह सर्वोपरि है। पिछले ढाई दशक से उपर की अपनी पत्रकारिता में कहीं भी रहा। चाहे वह बिहार-झारखंड हो, उत्तर प्रदेश, नई दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, मध्य प्रदेश, पश्चिम बंगाल हो या फिर दक्षिण के राज्यों का भ्रमण हो… कहीं इस तरह की बानगी मुझे देखने को नहीं मिल सका है। वाकई फेसबुक-ट्वीटर जैसे सोशल साइट तरह-तरह के अनुभवों से अवगत कराता है। यहां मेरी उपस्थिति का करीब एक ढेड़ दशक होने को है। लेकिन हाल के दिनों में मैं एक युवा राजनीतिज्ञ का कायल हो चुका हूं। वे हैं..अमित कुमार महतो। अमित झारखंड […]

Read more

रघु’राज के प्रमुख प्रेस सलाहकार योगेश किसलय ने फेसबुक पर उड़ेली ओछी मानसिकता

रांची (मुकेश भारतीय)। झारखण्ड के मुख्यमंत्री रघुवर दास के प्रेस सलाहकार योगेश किसलय की सोशल साइटों पर थू-थू हो रही है। फेसबुक और ट्वीटर पर तो कहीं चुटेले तो कहीं आक्रोश का आलम है। कोई उनकी हंसी उड़ा रहा है तो कोई नालायक सरकारी पत्रकार बता रहा है। दरअसल झारखंड-बिहार की मीडिया में अपनी अलग भगवा छाप रखने वाले वरिष्ठ पत्रकार योगेश किसलय ने अपनी फेसबुक टाइम लाइन पर विगत 14 अप्रैल,2017 को एक फर्जी फोटो के साथ अत्यंत विवादित कमेंट शेयर की है। योगेश किसलय किस जाति और वर्ण से आते हैं, ये लोगों को भले पता न हो लेकिन […]

Read more

अनुचित है रांची कॉलेज का नाम बदलना

-: नवीन शर्मा :- राज्य के सबसे पुराने कालेज रांची कालेज का नाम बदल कर डाक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी विश्वविद्यालय कर दिया गया है। यह निर्णय किसी भी दृष्टिकोण से उचित नहीं लगता है। मेरा दृढ़ता से मानना है कि किसी भी पुराने संस्थान के नाम से लोगों की भावना जुड़ी होती है उसका अपना एक इतिहास होता है। उस संस्थान से जुड़े लोगों का उस संस्थान से एक तारत्मय बना होता है उसे बिना किसी वाजिब कारण के तोड़ना अनुचित है। रांची कॉलेज नाम में कोई बुराई तो नहीं है। ऐसा भी नहीं है कि वाराणसी या प्रयाग की तरह […]

Read more

नीतिश के अहं को मिली बेलगाम IAS शासन की चुनौती

रांची/पटना/मुकेश भारतीय। आज रांची से प्रकाशित समाचार पत्रों में भी बिहार  से जुड़ी  लीड खबर है…. “हम आईएएस बिहार में सुरक्षित नहीं हैं, सीएम के मौखिक आदेश नहीं मानेगें”। यह फरमान जारी करते हुये बिहार आईएएस एसोसिएसन ने आगे कहा है कि बिहार में आईएएस अफसर डरे रहते हैं। किसी भी फैसले के वक्त अंदेशा या खतरा रहता है कि कहीं गलत न मान लिया जाए। एसोसिएसन ने बीएसएससी पेपर लीक मामले में गिरफ्तार आईएस सुधीर कुमार को ईमानदार बताते हुये कहा है कि एसआईटी उनके पूरे परिवार को टारगेट कर रही है। उधर बासा यानि बिहार प्रशासनिक सेवा एसोसिएसन ने […]

Read more
1 2 3 4 9