संदर्भ झारखंडः एक राजा था…

हां जी, एक राजा था। वो बहुत सनकी था। उसके राजदरबार में कनफूंकवों की संख्या ज्यादा थी। राजा कनफूंकवों की मदद से राज संचालन किया करता था। राजा को लगता था कि उसके राज्य में सर्वाधिक बुद्धिमान और सारे शास्त्रों के ज्ञाता कनफूंकवे ही है। इसलिए राजा कनफूंकवों की बातों को कभी नजरंदाज नहीं करता था। कनफूंकवें भी जानते थे कि राजा को आत्मप्रशंसा के अलावा, उसे राज्य और राज्य की जनता की कोई फिक्र नहीं, इसलिए वे बेमतलब की बातों को ही लेकर राजा के पास जाते और उसकी तारीफ में कुछ सुना दिया करते, जिससे राजा प्रसन्न हो जाता […]

Read more