सीएम रघुबर दास की इस हरकत पर कानून के साथ मीडिया भी नंगी

रांची (मुकेश भारतीय)। साहब सीएम हैं। रघुबर दास हैं। उन पर कोई कानून लागु नहीं होता। हालांकि उन्होंने सड़क सुरक्षा सप्ताह समारोह में ट्रैफिक वालों को स्वंय कहा था, ‘बिना हेलमेट वालों से सख्ती से निपटें। चाहे कोई भी हो, उसे किसी कीमत पर न छोड़े। अगर खुद सीएम भी ऐसा करें तो उन्हें भी न वख्शें।’ लेकिन खुद सीएम रघुवर दास ने कानून तोड़ा है। बिना हेलमेट पहने आम सड़कों पर बिचरते रहे। इस दौरान कहीं भी ट्रैफिक वालों ने कोई रोक-टोक नहीं की। सिपाही की क्या औकात ट्रैफिक एसपी तक सलामी ठोकते नजर आये। सीएम की इस हरकत को […]

Read more

क्या कहेंगे अपने राजनेताओं के इस अल्प ज्ञान को !

कल प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बिहार दौरे का कार्यक्रम और भाषण लगातार टीवी पर देख रहा था। पटना विश्वविद्यालय के शताब्दी समारोह में शिरकत कर रहे प्रधानमंत्री की प्रशंसा में कसीदे गढ़ने वाले एक राजनेता ने अपने भाषण में यहां तक कह डाला कि माननीय नरेन्द्र मोदी जी देश के इकलौते और प्रथम ऐसे प्रधानमंत्री हैं, जिन्होंने पटना विश्वविद्यालय के शताब्दी समारोह में भाग लिया। बिहार की जनता को कभी एनडीए गठबंधन, कभी विशेष राज्य का दर्जा दिलाने की मांग, फिर अप्रत्याशित रुप से भाजपा से अलग होकर महागठबंधन बनाकर सत्ता में आने, और फिर थूक गिराकर चाटने वाले ऐसे राजनेताओं […]

Read more

रांची प्रेस क्लब कोर कमेटी के निर्णयों से पत्रकारों में आक्रोश

बलबीर दत्त जी, आप अपने सम्मान की रक्षा भले ही न करें, पर कम से कम आपको राष्ट्रपति ने पद्मश्री की जो उपाधि दी हैं, कम से कम उसके सम्मान की रक्षा तो अवश्य करिये। यह मैं इसलिए लिख रहा हूं कि आप अभी रांची प्रेस क्लब का अध्यक्ष बन कर जो निर्णय ले रहे हैं, वह किसी भी दृष्टिकोण से उचित नहीं हैं। आपसे रांची के पत्रकारों का एक बहुत बड़ा वर्ग जो आर्थिक रुप से बेहद कमजोर हैं, पर नैतिक रुप से यहां कार्यरत धूर्त संपादकों व अखबारों के मालिकों से कुछ ज्यादा ही नैतिकवान है, ऐसे पत्रकारों के […]

Read more

डिजीटल ‘वायर’ में फंसे भाजपा के ‘शाह’

भाजपा और इसकी अगुआई वाली केंद्र सरकार को उस समय से बड़े सियासी भूचाल का सामना करना पड़ रहा है, जब से एक वेबसाइट ने पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के बेटे की कंपनी का कारोबार एक साल में ही 16 हजार गुना बढ़ जाने की खबर प्रकाशित की है। वेबसाइट के मुताबिक मोदी सरकार के वजूद में आने और शाह के पार्टी अध्यक्ष बनने के बाद इस कंपनी के कारोबार में जबरदस्त उछाल देखने को मिली है। न्यूज वेबसाइट ‘द वायर’ पर रविवार को प्रकाशित इस रिपोर्ट में कहा गया है कि भाजपा अध्यक्ष के बेटे जय अमित शाह की कंपनी […]

Read more

देखिये, मीडिया प्रचार खरीदने पर 1100 करोड़ रुपये कैसे फूंक डाले हमारे पीएम मोदी साहब

नई दिल्ली। मीडिया को बिकाऊ कहने वाले बीजेपी के समर्थकों के लिए ये खबर झटका देने वाली हो सकती है कि प्रधानमंत्री मोदी ने देश में मीडिया पर प्रचार खरीदने के लिए सौ दो सौ करोड़ रुपये नहीं, पूरे 1100 करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च किए। यह जानकारी  एक आरटीआई के जबाव में सामने आई है। नोटबंदी को लेकर विपक्ष के कठघरे में खड़ी भाजपा सरकार इस खुलासे के बाद और घिर सकती है। आरटीआई के मुताबिक मोदी सरकार ने पिछले ढाई सालों के भीतर अपने प्रचार-प्रसार पर 11 अरब रुपए से ज्यादा खर्च किए हैं। ग्रेटर नोएडा के आरटीआई एक्टिविस्ट […]

Read more

पत्रकार नहीं, प्रखंड कांग्रेस अध्यक्ष है पंकज मिश्रा,पत्रकारिता नहीं है गोली मारने की वजह

आज कल मीडिया में पत्रकारों की परिभाषा बदल गई है। अरवल में पंकज मिश्रा को गोली मारने के बाद राष्ट्रीय स्तर पर पत्रकारों पर हमले की गूंज उठ गई। लोग घटना की तीखी भ्रत्सना कर रहे हैं तो कहीं इसे बिहार मीडिया पर बड़ा संकट बता कैंडल मार्च निकाल रहे हैं। पंकज मिश्रा कांग्रेस के प्रखंड अध्यक्ष हैं। वे अपने गांव में ग्राहक सेवा चलाता है। उसके द्वारा विभिन्न सरकारी योजनाओं की प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष ठेकेदारी भी की जाती रही है। वह किसी भी अखबार से सीधे तौर पर जुड़े नहीं रहे। आज भी वे किसी मीडिया हाउस से जुड़े नहीं हैं। पंकज […]

Read more

सृजन महाघोटालाः सीबीआई की रडार पर नेताओं,अफसरों के साथ पत्रकार भी

“पूर्व सहकारिता मंत्री भी सीबीआई के राडार पर, बड़े-बड़े पत्रकार भी हाथ जोड़ते थे अमित और प्रिया के सामने, हर दल के नेताओं का संरक्षण था सृजन के संपोषकों को,  दिखावे के लिए कोचिंग इंस्टीट्यूट चलाते थे अमित कुमार “ बहुचर्चित सृजन महाघोटाले की जांच की आंच में पूर्व सहकारिता मंत्री आलोक मेहता भी तप सकते हैं। विश्वस्त सूत्रों के मुताबिक इस घोटाले की जांच अपने हाथ लेने के बाद सीबीआई सबसे पहले उन राज नेताओं और अधिकारियों के चित्र और चरित्र का मंथन करने में जुटी है जिन्होंने इसमहा घोटाले में परोक्ष या अपरोक्ष रुप से सहायक की भूमिका निभायी। इस मामले […]

Read more

सीएम ने कहा- ए भागो..मीडिया वाले सब भागो, सब निकल गये, लेकिन दुबके रहे दो बड़े वेशर्म पत्रकार

राजनामा न्यूज डेस्क। ‘ए भागो…मीडिया वाले सब भागो..यहां से सब निकलो,भागो ’…. जी हां, ऐसे शब्द-वाक्य के प्रयोग कोई आम आदमी या बौखलाती भीड़ के नहीं है। बल्कि, झारखंड सूबे के मुखिया सीएम रघुवर दास के हैं। सीएम के इस अवांछित टिप्पणी सुनते के बाद सारे मीडियाकर्मी भरी सभी से अपमानित होकर बाहर निकल आये लेकिन दो धुरंधर पत्रकार मुंह छुपाये जमे रहे। वे हैं रांची से प्रकाशित दैनिक आजाद सिपाही के संपादक हरिनारायण सिंह और प्रभात खबर के ब्यूरो प्रमुख सलाउद्दीन। इन्हें लेकर आम चर्चा बन गई है कि कहीं ये दोनों भाजपा के होनहार तो नहीं बन गये हैं! […]

Read more

बिना IT Act ज्ञान के पत्रकार के खिलाफ धुर्वा थाना प्रभारी की चल रही यूं अनुसंधान !

रांची (मुकेश भारतीय)। राजधानी के धुर्वा थाना में एक प्राथमिकी 20 मई को दर्ज की गई है और ढाई महीने के बाद बताती है कि प्राथमिकी 22 मई को दर्ज की गई है। 20 मई को बताती है 66(i) के तहत प्राथमिकी दर्ज हुआ और ढाई महीने के बाद बताती है कि 65 और 68 आइटी एक्ट के तहत मामला दर्ज हुआ। इस रोचक मामले को लेकर धुर्वा थाना प्रभारी से दंग हो जाने वाली बात-चीत हुई….प्रस्तुत है हुबहु अंश…. “हलो, जी धुर्वा थाना प्रभारी बोल रहे हैं क्या? ……….हां,हां जी एक जानकारी लेनी थी आपसे….मैं एक्सपर्ट मीडिया न्यूज़.कॉम से संपादक मुकेश […]

Read more

भारतीय संविधान में अधिकार, लेकिन झारखंड धर्म परिवर्तन विधेयक को मंजूरी!

“झारखंड प्रदेश की सीएम रघुवर दास की अध्यक्षता में बैठक की गयी। मंत्री परिषद में 18 प्रस्तावों को मंजूरी दी। इसमें झारखंड स्वतंत्र विधेयक भी है। एससी/एसटी का धर्म परिवर्तन करवाने को 4 साल की सजा और 1 लाख रूपये तक का जुर्माना लगाने का प्रस्ताव है।इसे विधान सभा से पारित करवाना होगा।” धार्मिक स्वतंत्रता का अधिकार (अनुच्छेद-25-28) भारत एक बहुधार्मिक समाज है। यहाँ अनेक धार्मिक समूह रहते हैं, जिनकी जनसँख्या असमान है। जहाँ हिन्दू धर्म को मानने वाले लोग 82% हैं,वही अन्य अल्पसंख्यक समूह भी पाए जाते है। चुकि भारतीय समाज अभी भी धर्म पर आधारित है, और व्यक्ति समाज […]

Read more

मीडिया पर अमित शाह का दिखा खौफ, यूं हटा लिया खबर

वाकई ये चौंकाने वाली खबर है कि एक साधारण सी खबर, जिसमें भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष राज्यसभा चुनाव के लिए अपनी संपत्ति का खुलासा करते हैं और पिछले विधानसभा चुनाव अर्थात बस पांच साल में संपत्ति में बढ़ोत्तरी तीन सौ गुना की घोषणा भी की जाती है। सवाल है कि जब खुद अमित शाह अपनी संपत्ति का ब्यौरा जारी करते हैं तो पुराने आंकड़ों के आधार पर मीडिया (वेब वर्जन) ने इस खबर को प्रमुखता से प्रकाशित किया तो क्या वजह रही कि वह खबर छपने के बस चंद लम्हों बाद ही हटा ली जाती है। ख़बरों के गुनाहगार हमारी मीडिया […]

Read more

अमन मार्च कांड के गरीब अभियुक्तों का खर्च उठाएंगे पूर्व विधायक पप्पू खान

“पूर्व विधायक पप्पू खान ने तमाम मस्जिदों के कमेटी से अपील किया है कि ऐसे विवादित मामलों में पूरी जांच के बाद ही वह कोई फैसला ले और ऐलान करें ताकि शहर का अमन भंग ना हो सके।”  बिहारशरीफ ( विशेष संवाददाता)। पूर्व विधायक पप्पू खान इन दिनों गगन दीवान आमन मार्च कांड के बाद सुर्खियों में आ गए हैं। उन्होंने अंजुमन मिफिदुल इस्लाम के बैनर तले  छोटी शेखाना में अल्पसंख्यकों की एक बैठक बुलाकर इस कांड के वैसे नामजद अभियुक्तों के केस अपने खर्चे पर लड़ने का ऐलान किया जो आर्थिक रूप से कमजोर हैं।  उन्होंने इस केस को लड़ने […]

Read more
1 2 3 11