बंगाल BJP अध्यक्ष ने कहा- ममता बनर्जी को दिल्ली से बाल पकड़ निकाल सकते हैं

Share Button
Read Time:0 Second

कोलकाता। भारतीय जनता पार्टी की बंगाल यूनिट के अध्यक्ष दिलीप घोष ने नोटबंदी का विरोध करने पर ममता बनर्जी को लेकर काफी घटिया बयान दिया है। न्यूज एजेंसी एएनआई ने घोष के हवाले से लिखा है,

‘एक मुख्यमंत्री इस तरह के शब्द प्रधानमंत्री के लिए इस्तेमाल करती हैं वो ठीक नहीं है। जब वो दिल्ली में नाटक कर रही थीं, हम चाहते तो उनका बाल पकड़ के निकाल सकते थे। हमारी पुलिस है वहां।’

दिलीप घोष के इस बयान पर पलटवार करते हुए टीएमसी के डेरेक ओ’ब्रायन ने कहा, ‘राजनीति में नई गिरावट, थ्रर्ड क्लास पॉलिटिक्स। ममता बनर्जी के खिलाफ खतरनाक, धमकी भरा और व्यक्तिगत आरोप लगाए गए हैं।’

बता दें कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी मोदी सरकार के नोटबंदी के फैसले का विरोध कर रही हैं। बनर्जी ने दिल्ली में आकर भी इस फैसले के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन किया था। इसके साथ ही दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के साथ मिलकर दिल्ली में एक रैली को संबोधित भी किया था। जिसमें उन्होंने इस फैसले को लेकर पीएम मोदी और भाजपा सरकार पर निशाना साधा था। ममता बनर्जी नोटबंदी के फैसले के खिलाफ पूरे देश में रैली कर रही हैं।

बता दें कि 9 दिसंबर को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने दावा किया कि नोटबंदी के बाद पिछले एक महीने से लोगों को काफी दिक्कत और वित्तीय असुरक्षा हुई है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री को देश के सामने स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए और इसके लिए पूरी जिम्मेदारी लेनी चाहिए। उन्होंने यह भी दावा किया कि उच्च मूल्य वाले नोट बंद करने के बाद परेशानियों से 90 लोगों की मौत हो चुकी है।

बनर्जी ने बयान जारी कर कहा, ‘एक महीने से पीड़ा, दर्द, नाउम्मीदी, वित्तीय असुरक्षा और पूरी तरह अराजकता।’ उच्च मूल्य वाले नोटों को बंद करने के बाद इसके खिलाफ सबसे ज्यादा आवाज उठाने वाली बनर्जी ने कहा, ‘आठ नवंबर को नोटबंदी के काले निर्णय की घोषणा करने के बाद आम आदमी को यही सब हासिल हुआ है।’

इससे पहले बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से पूछा था कि भाजपा के सांसदों और विधायकों को अपने बैंक खाते से लेन देन का नोटबंदी की अवधि के बाद का ही ब्योरा क्यों सौंपना चाहिए। यह राजग के सत्ता में आने के बाद से क्यों नहीं होना चाहिए।

उन्होंने ट्वीट किया था, ‘आठ नवंबर से ही खाते का ब्योरा क्यों होना चाहिए? केवल तीन हफ्ते। क्यों नहीं सारे ब्योरे ढाई साल के हो…? आपके 21 दिनों की नोट बंदी के बाद पूरा देश घरबंदी हो गया है, इसलिए यह तमाशा क्यों।’ ममता ने कहा था कि मोदी पहले अपने बैंक खाते की जानकारी क्‍यों नहीं सार्वजनिक करते। ममता बनर्जी ने यह बात लखनऊ में एक रैली को संबोधित करते हुई की थी।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

मरांडी जी ने किया था 50 करोड़ रु. माफ
मोहर्रम जुलूस में बुर्का पहन महिला से छेड़छाड़ करते धराया VHP नेता !
भगवान बिरसा जैविक उद्दान में लूट और मनमानी का आलम
DMCA के पचड़े में फंस भड़ास4मीडिया बंद, बोले यशवंत-जल्द निकलेगा हल
पोलोनियम 210 से हुई थी सुनंदा पुष्कर की हत्या !
जानिए कौन है गांधी जी की मॉडर्न हत्यारिन पूजा शकुन पांडे ?
दस सालों तक सरकारी फाइलो में दबा रहा नालंदा का चंडी रेफरल अस्पताल
लक्ष्मण गिलुवा का स्वागत करने पहुंचा उग्रवादी धराया
पुलिस-प्रशासन ने दी केस की धमकी, फिर भी चालू न हो सका राजगीर का रज्जू मार्ग
नई दिल्ली डीएवीपी और पटना सूचना जनसम्पर्क विभाग के अफसर अरेस्ट होंगे!
मोदी के सद्भावना मिशन व्रत पर खर्च हुए थे 20 करोड़
एक और पत्रकार पर जानलेवा हमला, पुलिस ने दर्ज नहीं की FIR
‘इंडिया टीवी’ के रजत शर्मा की क्रिकेट में इंट्री, चुने गये DDCA  अध्यक्ष
सूट-बूट में वेटर लगते हैं अरुण जेटलीः सुब्रमण्यम स्वामी
बहुमत साबित करने तक फैसले न लें मांझी : हाई कोर्ट
स्टेट 10टॉपर्स में गरीबी को चीरती शामिल हुईं जुलिया मिंज
भैया, मैं जरा बौद्धिक गरीब हूं
आरएसएस से दूरी के बीच बोले बिहारी बाबू- भाजपा पहली और आखिरी पार्टी
एबीपी न्यूज चैनल के पंकज झा को जान मारने की धमकी के साथ मिल रही भद्दी गालियां
बदलाव की आंधी में उड़े या खुद को नहीं आंक पाये सुदेश ?
साइबर कैफे में पत्‍नी की ब्‍लू फिल्‍म देख पति के उड़े होश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
mgid.com, 259359, DIRECT, d4c29acad76ce94f
Close
error: Content is protected ! www.raznama.com: मीडिया पर नज़र, सबकी खबर।