3 साल छोटे हुये सुबोधकांत, संपति हुई दुगनी

Share Button

राजनामा (मुकेश भारतीय)।  जी हां, शीर्षक पढ़ कर चौंकिये मत।जहां आम आदमी की उम्र हर सेकेंड बाद बढ़ती है वहीं,  झारखंड की राजधानी रांची सीट से एक बार फिर किस्मत आजमा रहे कांग्रेसी दिग्गज सुबोधकांत सहाय पिछले 5 सालों में 3 साल घटी है। यानि कि वे पिछले आम लोकसभा चुनाव के बाद 3 साल और छोटे हो गये हैं।

subodhखबर है कि वर्ष 2009 के आम लोकसभा चुनाव में वे 57 साल के थे। यह जानकारी उन्होंने उस लोकसभा चुनाव में नामांकन के समय अपने शपथ पत्र में दी थी। लेकिन पिछले दिन इस 2014 के लोकसभा चुनाव उन्होंने जो शपथ पत्र दाखिल किया है, उसमें उनकी उम्र 60 साल बताई गई है। जबकि उनकी उम्र 62 साल होनी चाहिये थी।

यही नहीं, कांग्रेसनीत यूपीए की मनमोहन सरकार में भले ही मंहगाई और भ्रष्टाचार की मार से आम लोगों की कमर टूट गई हो लेकिन, आवंटन घोटाला के बाद रांची मेयर चुनाव में नोट फॉर वोट के मामले में बहुचर्चित पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं निवर्तमान सांसद सुबोध कांत सहाय की संपति दूगनी से भी अधिक हो गई है।

वर्ष 2009 में उन्होंने 2 करोड़ 73 लाख 79 हजार की संपति घोषित की थी, जो वर्ष 2014 के चुनाव तक बढ़ कर 5 करोड़ 88 लाख  95 हजार हो गई है। इनमें इनकी पत्नी और एक आश्रित की संपति भी शामिल है। 

कहा जाता है कि चुनाव में दाखिल शपथ पत्र के अनुसार सुबोध कांत के पास न तो वर्ष 2009 में कोई वाहन था और वर्ष 2014 के इस लोकसभा चुनाव तक है।

Share Button

Relate Newss:

पीएम मोदी ने लाल किले की प्राचीर से अपने भाषण की ये प्रमुख बातें
नोटबंदी के पीछे की असलियत अब आ रही है सामने
जमानत भी नहीं बचा सके सुदेश-अमिताभ-बंधु !
नरेन्द्र मोदी अलोकतांत्रिक और अहंकारी हैं ‘अमित शाह!
समूचे झारखंड से ठुकराया गया विकलांग बच्चा पहुंचा भुसुर !
टाटा स्टील के मजदूर से सीएम बने हैं रघुवर दास !
पुलिस-प्रशासन ने दी केस की धमकी, फिर भी चालू न हो सका राजगीर का रज्जू मार्ग
स्थानीय नीति और सीएनटी एक्ट में बदलाव स्वीकार्य नहीं
अटपटा लग रहा है रांची की ‘लव-जेहाद’ का एंगल !
कशिश से यूं हटाये गये गंगेश गुंजन
जी न्यूज और न्यूज नेशन के खिलाफ हाईकोर्ट पहुंचे धोनी
इंडिया न्यूज़ की चित्रा त्रिपाठी को एक साथ मिली दोहरी खुशी
‘दुर्ग’ को जमानत, लेकिन ST-SC कोर्ट में यूं दिखा सुशासन का दोहरा चरित्र
नीतिश के गृह क्षेत्र में नवनिर्वाचित महिला मुखिया की हत्या
मुंगेर के वयोवृद्ध स्तंत्रतासेनानी व पत्रकार काशी प्रसाद जी नहीं रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...