हिंदी पत्रकारिता दिवस: बिहार में साहित्यिक पत्रकारिता का विकास

“बिहार की हिंदी पत्रकारिता आज भी प्रगतिशील है। पत्रकारिता में पिछले कुछ सालों में ग्लैमर तो आया है मीडिया संस्थानों की बाढ़ सी आ गई है। कुल मिलाकर देखा जाए तो हिंदी पत्रकारिता ने बिहार को बहुत कुछ दिया है। सोशल मीडिया के विकास ने मीडिया को आज फेमस कर दिया […]

Read more

डीएसपी के झांसे में नहीं आए पत्रकार, आमरण अनशन जारी

“जहां राज्य के डीजीपी पत्रकारों के सम्मान व उनकी सुरक्षा की हर हाल में करने की घोषणा करते हैं, वहीं हरनौत थानाध्यक्ष में ऐसे कौन से सुरखाव के पंख लगे हुए हैं कि उसकी तानेशाही पर वरीय अधिकारी सीधे एक्शन लेने से कतरा रहे हैं। शायद इसलिए कि नालंदा जिले में  […]

Read more