पूर्व मंत्री भानुप्रताप की शाहीगिरी चालु आहे !

Share Button
Read Time:5 Minute, 56 Second

csp_bhanuझारखंड में हुये दवा घोटाले समेत आय से अधिक संपति अर्जित करने के आरोपी पूर्व स्वास्थ्य मंत्री भानु प्रताप शाही भी का अपना ही अगल अंदाज है। उधर रांची के सिटी एसपी का वैरंग वापस लौटा नहीं कि उनका दरबार फिर से गुलजार हो उठा। पुलिस चार को उठा ले गये तो उनके मज़लिस में चालीस जुट गये। आखिर हो भी क्यों नहीं, उनका भी अपना रुतवा रहा है भाई। एक लंबे अरसे से  जांच झेल रहे पूर्व मंत्री का दरबार यदि नहीं सजेगा तो क्षेत्र से सारा कनेक्सन ही टूट जायेगा और जब कनेक्सन ही न रहेगा तो फिर चुनाव का क्या होगा। इस बार तो किसी भी कीमत पर कम से कम अपना सीट तो निकालना ही होगा न।

लगता है कि इ सिटी एसपी साहेब सारा खेल समझे नहीं और चल बैठे सलमान खान सा दबंग बनने। अभी रांची में आये उन्हें जुम्मा-जुम्मा आठ दिन भी ठीक से नहीं हुये कि न जाने किस गुप्त सूचना पर जा धमके और वहां “खाया-पिया कुछ नहीं और गिलास तोड़ा बारह रुपया” वाली कहावत चरितार्थ करते हुये सिर्फ मीडिया की सुर्खियां ही बन सके। बेचारा मुफ्त में सस्पेंड हुये चार पुलिस सुरक्षाकर्मी। आखिर  साहेब लोग सिस्टम में इससे अधिक कर भी क्या सकते हैं। इन लोगों का क्या है। कोई कहता है कि बैठ जाओ तो बैठ जाता है और कोई कहता है कि खड़े रहो तो खड़ा हो जाता है।

अब सिटी एसपी महोदय को कौन समझाये कि वे जिस गुप्त सूचना होने के ढिढोंरे पीट रहे हैं, वह बिल्कुल सामान्य सूचना मानी जाती है। सारा पुलिस, मीडिया और राजनीति महकमा जानता है कि भानु प्रताप जी की शाहीगिरी हमेशा यूं ही चलती रही है।

उनकी शाहीगिरी का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि वे हर किसी के साथ एक मजेदार बात जरुर शेयर करते रहते हैं – “ अरे साहब जब मंत्री थे, तब अपना अलग ही रुतवा था। दिन हो या रात, मुख्यमंत्री तक यहां जाते थे और मुख्यमंत्री से ही चाय भी बनवा कर पीते थे तथा मन मुताबिक योजना-फाइल आदि पर हस्ताक्षर भी करवा लेते थे। ” अब भी वही बात है। अब स्वास्थ्य मंत्री स्वास्थ्य हेड क्वाटर (रिम्स के कॉटेज) में आराम नहीं फरमायेगा तो क्या जेल में जाके ताश खेलेगा । वो केन्द्रीय होटरवार जेल में सामान्य औपचारिक सुविधाओं के साथ पिछले करीब 3 वर्षों से न्यायायिक हिरासत झेल रहे एक पूर्व मुख्यमंत्री थोड़े हैं। उन्होंने होटरवार जेल बनवाया है तो वो  वहीं रहें। का जरुरत है लोगों के भले के लिये अनशन करके जेलकर्मियों से ही अपना हाथ-पैर तुड़वाने की । 

………..मुकेश भारतीय

 निचे पढ़ें एक स्थानीय दैनिक संबंधित पुलिसिया कार्रवाई की मूल खबरः

 कैद में पूर्व मंत्री, अस्पताल में जमाई थी महफिल कि तभी पहुंच गया यह दबंग !

रांची के सिटी एसपी मनोज रतन चोथे ने  रिम्स के कॉटेज नंबर आठ में छापामारी की। कॉटेज में बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार होटवार के बंदी पूर्व मंत्री भानु प्रताप शाही भर्ती हैं। भानू पिछले आठ महीने से रिम्स के कॉटेज में ही भर्ती हैं।

जिस वक्त छापामारी की गई, उस समय भानु प्रताप से चार लोग बातें कर रहे थे। रामराज बैठा, सुशील सिंह, अनिल सिंह (तीनों भवनाथपुर) और मनोज सिंह (गढ़वा) को पुलिस ने तत्काल हिरासत में ले लिया। इनसे बरियातू थाने में पूछताछ की जा रही है। चारों के बारे में पुलिस सत्यापन कर रही है। भानु की सुरक्षा में तैनात एक हवलदार समेत चार सिपाहियों को ड्यूटी में लापरवाही बरतने के आरोप में सिटी एसपी ने निलंबित कर दिया है।

सिटी एसपी को गुप्त सूचना मिली थी कि रिम्स के कॉटेज नंबर आठ में भर्ती पूर्व मंत्री भानु प्रताप शाही का लोगों से मिलना-जुलना जारी है। वे कॉटेज में ही महफिल सजाते हैं और मोबाइल का भी इस्तेमाल कर रहे हैं। सूचना को सिटी एसपी ने गंभीरता से लेते हुए कॉटेज में छापामारी की। उधर हिरासत में लिए गए रामराज बैठा, मनोज सिंह, सुशील सिंह और अनिल सिंह ने पुलिस को बताया है कि चारों पूर्व मंत्री भानु प्रताप शाही का हालचाल लेने रिम्स पहुंचे थे। इनका कोई गलत इरादा नहीं था।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

भगवान की नोटिस को लेकर अफरा तफरी
मृत्यु पूर्व दूरदर्शन के प्रख्यात समाचार वाचक जेवी रमण का इंटरव्यू
नस्लभेद और रंगभेद के संदेह को नहीं मिटा सका है अमरीका !
कहां गुम हो गईं बैलगाडियां !
करीब सौ करोड़ में बिकती है राज्यसभा की सीट
गुवाहाटी हाई कोर्ट के फैसले पर रोक, 6 दिसंबर को होगी अगली सुनवाई
बात सुबोधकांत और अर्जुन मुंडा की
सोना के वजाय चूड़ियों के टुकड़े और लोहे की कीलें
एक खुला मंच है राजनामा.कॉम
ये वन-कोयला नहीं, वन-घोटाला है मौनी बाबा !
समाज की कैसी ठेकेदारी कर रही है इंडिया टुडे !
जरूरी नहीं है आरटीआई के लिये आवेदक को अपना नाम पता बताना
'क्राइम...इंडिया' का संपादक खुद क्राइम में धराया
रांची में दिखा लालू जी का वही पुराना अंदाज
क्या है इन हत्या माफियाओं का राज़
रजरप्पाः मां छिन्नमस्तिके की एक दुर्लभ चित्र
सुरक्षा बलों के खिलाफ महिलाओं का नग्न आंदोलन
अन्ना की राम लीला में खो गया जटायु
बलात्कारी-डकैत भी हो सकता है पायनियर का पत्रकार :चंदन मित्रा
कोल ब्लॉक घोटाला का शातिर खिलाड़ी
कांग्रेस के साथ झामुमो बनायेगी गठबंधन सरकार
शराब बंदी कानून की निकली हवाः कंटेनर से 354 कार्टन विदेशी शराब बरामद,पांच गिरफ्तार, दो वाहन जब्त
संकीर्ण मानसिकता को बढ़ावा देते अभद्र कपड़े
लखीसराय बालिका विद्यापीठ के संस्थापक शरतचंद्र शर्मा की गोली मार कर हत्या
प्रणव को समर्थन,मोदी मंजूर नहीं :शरद यादव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...