हेमंत सोरेन का इस्तीफा, अब मजबूत विपक्ष की भूमिका निभाएंगें

Share Button

hemant_electionझारखंड विधानसभा चुनाव में अपनी पार्टी झामुमो की करारी हार के बाद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने राज्यपाल डॉ सैयद अहमद को अपना इस्तीफा सौंप दिया।

इस्तीफा देने के बाद उन्होंने पार्टी की हार स्वीकार करते हुए कहा कि उनकी पार्टी  झारखंड विधानसभा में मजबूत विपक्ष की भूमिका निभायेगी

हेमंत सोरेन ने कहा कि उन्होंने अपना हर काम ईमानदारी से किया है। सरकार भी दमदार चलायी और अब विपक्ष की भूमिका भी पूरी दमदार निभायेंगे।

सोरेन ने भाजपा और मोदी की ओर इशारा करते हुए कहा कि उनकी ‘छोटी सी पार्टी’ ने पूरे देश की ताकत का मुकाबला किया और उनको भी उनकी असलियत का एहसास करा दिया।

सोरेन ने चुनाव से पूर्व कांग्रेस और अन्य दलों के साथ महागठबंधन न हो पाने पर अफसोस तो जाहिर करते हुये कहा कि अब गड़े मुर्दे उखाडने से कोई फायदा नहीं।  उन्होनें भविष्य में गलतियों से सभी को सीख लेने की बात कही।

उन्होंने कहा कि झामुमो ने बडी ताकतों का अकेले मुकाबला किया और उसकी सेहत पर कोई असर नहीं पडा क्योंकि, वह पहले भी 18 सीटों पर राज्य में काबिज थी और अब तो 19 सीटों पर काबिज हो गयी है।

हेमंत सोरेन ने कहा कि उन्होंने 14 माह में भी अच्छी सरकार दी।  लेकिन जितना काम करना चाहते थे, वह नहीं कर पाये। इससे जनता में थोडा असंतोष हो सकता है।

उन्होंने अपने मंत्रियों के हारने के बारे में पूछे जाने पर कहा कि शायद वह अपने क्षेत्र में पूरा काम नहीं कर सके होंगे अथवा अपने काम के बारे में लोगों को बता नहीं सके होंगें। उन्होंने चुनावों में मोदी लहर होने के बारे में पूछे गये सवाल पर कोई टिप्पणी नहीं की।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *