हिलसा के एसडीओ अजीत कुमार सिंह ने न्याय को यूं नंगा कर दिया

Share Button

crupt hilsa sdo

mkविकास, सुशासन और न्याय अलग-अलग चीजें हैं। अनुमंडलों में पदास्थापित एसडीओ न्यायाधीश की भूमिका में भी होता है लेकिन, नालंदा जिले के हिलसा में पदास्थापित एसडीओ अजीत कुमार सिंह अपने न्याय की तराजू में दिन दहाड़े डंडी मार गया। मेरे पास इसके प्रयाप्त सबूत हैं। ऑडियो, विडीओ, टेक्स्ट,इमेज सब।

बिहार सरकार को चाहिये कि ऐसे अफसरों से आम लोगों को तत्काल मुक्ति दिलाए और ऐसी सजा दे कि कोई भी पंच दूध को पानी और पानी को दूध करने की हिमाकत न करे।

हो सकता है मेरी रैयती परीत जमीन पर अपने संरक्षण में असमाजिक तत्वों द्वारा पक्का मकान बनवा देने वाले चंडी के थाना प्रभारी धर्मेन्द्र कुमार की उंची पहुंच हो लेकिन वह जज की भूमिका में नहीं होता है। ऐसे भी पुलिस वाले जिसकी चबाते हैं उसके प्रति अज्ञानतावश हीं सही अपनी मनमर्जी कर जाते हैं।

IMG-20150617-WA0000चंडी थाना पुलिस के प्रभारी धर्मेन्द्र कुमार की हस्ताक्षरयुक्त बिल्कुल मनगढ़ंत रिपोर्ट अनुसंधानकर्ता ने एसडीओ कोर्ट को दी।

कोर्ट की कार्वाई के दौरान ही मैंने खुद एसडीओ के समक्ष रिपोर्ट को चुनौती दी। पहले तो एसडीओ ने बात इधर-उधर करने को कोशिश की लेकिन वकीलों की भीड़ के बीच वे जांच कराने को तैयार हो गए।

जांच का जिम्मा चंडी के सीओ को दी गई। तीन दिन बाद सीओ ने गांव जाकर जांच की और 144 के दौरान मकान बनने और मौके पर काम जारी रहने की रिपोर्ट दी तथा 188 के तहत कार्रवाई करने की अनुशंशा भेजी।

पहले तो सीओ के इस सत्यपरख रिपोर्ट को एसडीओ कार्यालय में दबा दिया गया और जब मैंने उस रिपोर्ट को सार्वजनिक किया तो मामले को लेकर तारीख पे तारीख दियी जाने लगा।

फिर आम विधान सभा चुनाव आ गया। चुनाव के बाद अचानक एसडीओ ने जो फैसला दिया, वह न्याय के साथ बलात्कार से कम नहीं है। उन्होंने पुलिस की पहले वाली झूठी रिपोर्ट को ही सच मान लिया। जबकि चंडी के सीओ ने अपनी जांच के वीडियो बनवाए थे, जिसकी कॉपी मेरे भी पास है।

चंडी थाना पुलिस ने हिलसा एसडीओ कोर्ट में रिपोर्ट दी थी की विवादित भूमि पर न कोई निर्माण हुआ है और न ही हो रहा है। उसे चुनौती देने के बाद चंडी सीओ की विशेष जांच की यह जाच रिपोर्ट भेजी ……..( माननीय सीएम @Nitish Kumar और माननीय डीसीएम @Tejashwi Yadav जी को समर्पित)     M2U00021    

…………..राजनामा.कॉम के संचालक-संपादक मुकेश भारतीय के फेसबुक वाल से साभार।

Share Button

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.