हरनौत थानाध्यक्ष पर कार्रवाई को लेकर धरने पर बैठे पत्रकार, गंभीर है मामला

Share Button

राजनामा.कॉम। नालंदा जिला पुलिस महकमा में बड़े मियां तो बड़े मियां, छोटे मियां भी कम सुभान अल्लाह नहीं है। हरनौत थाना में पदास्थित पुलिसकर्मी ने एक सम्मानित रिपोर्टर को सिर्फ इसलिए कॉलर पकड़ कर खींच कर कुर्सी से उठा फेंका, ताकि ड्यूटी के खुद अपनी तशरीफ को आराम दे सके।

यह मामला तब गंभीर बन गया, जब रिपोर्टर ने पुलिसकर्मी की इस अभद्रता की शिकायत हरनौत थानाध्यक्ष से की और वे भी साहब आए तो जरुर, लेकिन दुर्व्यवहार की शिकार रिपोर्टर की सुध लेना तो दूर, अपने पुलिसकर्मी की हौसलाअफजाई की मंशा से ईठलाते हुए चले गए।

हिन्दी दैनिक हिन्दुस्तान के हरनौत संवाददाता मुकेश कुमार…..

पटना से प्रकाशित हिन्दी दैनिक हिन्दुस्तान के हरनौत संवाददाता मुकेश कुमार ने बताया कि बीती 28 मई की रात आमंत्रण के अनुसार रासलीला व मेला में वे आयोजन समिति के कुर्सी पर वे बैठे थे।

इसी बीच एक पुलिसकर्मी डंडा दिखाते हुए कुर्सी छोड़कर उठने को कहा। जब मुकेश ने बताया कि मेला के आयोजक अनील कुमार के साथ यहां वे बैठे हैं, जो मेला का जायजा लेने गए हैं। इसके बाद पुलिसकर्मी ने फिर कुर्सी छोड़ने को कहा।

रिपोर्टर ने बताया कि उसके बाद जब कहा कि आयोजक आएंगे, उसके बाद वह यहां से चले जाएंगे तो इतना सुनने के बाद पुलिसकर्मी कॉलर पकड़कर मुझे कुर्सी से खींच लिया और खुद बैठ गया।

उन्होंने इसकी सूचना हरनौत थानाध्यक्ष को दी। लेकिन हरनौत थानाध्यक्ष मेला में आए और ये साहब घटना के बारे में जानकारी लेना भी मुनासिब नहीं समझे और घूमघाम के चले गए।

एक पत्रकार के साथ हुए इस दुर्व्यवहार के खिलाफ सारे स्थानीय पत्रकार थाना के सामने आज 29 मई की सुबह 8 बजे से अनिश्चितकालीन धरने पर बैठ गए हैं। वे दोषी पुलिसकर्मी व अनसुनी करने वाले थानाध्यक्ष के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

अनिश्चितकालीन धरने पर बैठने वालों में चंडी पूर्वी जिला परिषद सदस्य निरंजन कुमार, सामाजिक कार्यकर्ता चंद्र उदय कुमार, कांग्रेस के प्रखण्ड सुभाष कुमार, प्रभात खबर रिपोर्टर रवि कुमार, दैनिक भास्कर रिपोर्टर सुनील कुमार, दैनिक जागरण रिपोर्टर वीरेन्द्र कुमार एवं मेला के आयोजक अनील कुमार आदि लोग शामिल हैं।

Share Button

Relate Newss:

भाजपा शासित राज्‍यों में दालों की जमकर जमाखोरी
झाविस चुनाव में मोदीजी का कुछ यूं हुआ पहला संबोधन !
अमित-मोदी के लिए डैंजर सिम्बल बन कर उभरे हैं लालू
अपने ही मुल्क में दफ्न होती ज़िंदगियां ! और कितनी शहादत ?
रांची के दैनिक जागरण की आत्मा यूं मर गई इस वरिष्ठ पत्रकार पर FIR को लेकर
...और मनीषा कोइराला की एक ट्वीट से चमक उठी महिला कांस्टेबल
अडानी पर मोदी सरकार की मेहरबानी, 200 करोड़ हुआ माफ !
टीआरपी की होड़ में मर गई मीडिया की नैतिकता!
पल्सर पल्सर पल्सर और पल्सर...
सुशासन बाबू के गांव के सामने राजगीर पैसेंजर ट्रेन में गोलाबारी, एक की मौत
पत्रकारिता का यह कैसा वीभत्स चेहरा !
दैनिक हिन्दुस्तान और प्रभात खबर में एक ही संवाददाता की हुबहू खबर!
श्रम विभाग का आदेश मानने को बाध्य नहीं है रांची एक्सप्रेस प्रबंधन !
SC द्वारा रद्द IT एक्ट की धारा 66 A की आड़ में पुलिस-प्रशासन कर रहा गुंडागर्दी
पगलाया बिहार नगर विकास एवं आवास विभाग, यूं बनाया 2 दिन का सप्ताह

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...