हत्यारा या शाजिश के शिकार हैं एनोस एक्का

Share Button

पुलिस ने कोलेबिरा विधायक सह झापा प्रत्याशी एनोस एक्का को पारा शिक्षक मनोज कुमार की हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

डीआइजी प्रवीण सिंह के अनुसार एनोस एक्का के खिलाफ मृतक के परिजनों ने नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई थी।

डीआइजी का कहना है कि एसपी राजीव रंजन के नेतृत्व में पुलिस ने जांच की। इस दौरान कई साक्ष्य मिले हैं। उन्होंने बताया कि इससे पूर्व लोकसभा चुनाव में भी उनके खिलाफ पीएलएफआई से सांठगांठ के आरोप लगे थे।

हत्याकांड में शामिल अन्य आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस लगातार छापामारी कर रही है। शूटर तक पहुंचने की कोशिश की जा रही है।

तीन दिन पहले पुलिस गिरफ्त में आए पीएलएफआई उग्रवादियों को रिमांड पर लेकर पूछताछ की जाएगी। मौके पर दक्षिणी छोटानागपुर के आयुक्त केके खंडेलवाल, डीसी दीप्रवा लकड़ा, एसपी राजीव रंजन उपस्थित थे।

साजिश के तहत मुझे फंसाया गया: एनोस

anos_murderएनोस ने कहा है कि भाजपा, कांग्रेस और झामुमो उनकी लोकप्रियता से घबरा कर उन्हें फंसा रहे हं। किसी निरीह की हत्या करना मेरी फितरत नहीं है। मामले की जांच किसी स्वतंत्र एजेंसी से कराई जाए। एनोस जेल में या सेल में रहे, जनता अपने दिल से उन्हें वोट देगी और जिले की दोनों सीटों पर झापा की जीत तय है।

परिजन के आवेदन पर नामजद प्राथमिकी : थाना प्रभारी

कोलेबिरा थाना प्रभारी वृज कुमार ने बताया कि पारा शिक्षक मनोज के परिजनों के आवेदन के आधार पर एनोस एक्का और पीएलएफआई के बारूद गोप सहित संगठन के आठ-दस अपराधियों के खिलाफ केस किया गया है। इस मामले में कांड संख्या 58/14 दर्ज कर पुलिस छापामारी कर रही है।

रात को गिरफ्तार किया गया एनोस को

सिमडेगा पुलिस ने एसपी के आदेश पर बुधवार की रात ही ठाकुर टोली स्थित आवास को घेर लिया और एनोस एक्का को हिरासत में ले लिया। उस समय वह कार्यकर्ताओं के साथ चुनाव पर चर्चा कर रहे थे।

लोकतंत्र की हत्या कर रहे हैं एनोस: नियेल

सिमडेगा से झामुमो प्रत्याशी नियेल तिर्की ने घटना की निंदा करते हुए कहा कि एनोस एक्का चुनाव में हमेशा लोकतंत्र की हत्या करते हैं। वह दहशत फैलाने के लिए इस तरह की घटना को अंजाम देते हैं।

झामुमो कार्यकर्ताओं के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज हो : मेनोन

एनोस एक्का की पत्नी मेनोन एक्का ने गुरुवार को थाना प्रभारी अरुण महथा को आवेदन देकर झामुमो प्रत्याशी नियेल तिर्की और उनके 50-60 कार्यकर्ताओं के खिलाफ केस दर्ज करने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा कि नियेल तिर्की के नेतृत्व में झामुमो कार्यकर्ताओं ने क्लब कॉम्पलेक्स स्थित कार्यालय में आकर कुर्सी, बैनर, पोस्टर, झंडे को फाड़ डाला।

Share Button

Relate Newss:

अंततः दहेज में किडनी ही दे डाला
सादगी के पर्याय हैं झारखंड के मंत्री सरयू राय !
अश्विनी गुप्ता अपहरण में कुख्यात पूर्व सांसद शहाबुद्दीन को मिले थे ढाई करोड़ रुपये
सुलभ इंटरनेशल ने मिथिला पत्रकार समूह को दिया दस लाख का अनुदान
राजस्थान के ‘दुर्ग’ को पटना SC-ST कोर्ट से यूं मिली बेल
सोशल मीडिया मजा भी और सजा भीः फेसबुक ने यूं खोला कई सफेदपोशों का राज
शराब बंदी कानून की निकली हवाः कंटेनर से 354 कार्टन विदेशी शराब बरामद,पांच गिरफ्तार, दो वाहन जब्त
पाकिस्तान में जमी है इन देश द्रोहियों की जड़ें
हसीन वादियों का लुफ्त उठाते बिहार के CM और उनके पिछे भागती-गिरती मीडिया
वेशक चार आने की धनिया है “एशिया” के ये लफंगे पत्रकार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...