सोशल मीडिया में कही जाने वाली ये आपत्तिजनक बातें है अपराध

Share Button
Read Time:3 Minute, 30 Second
दिल्ली हाई कोर्ट ने एक मामले की सुनवाई के दौरान कहा है कि एससी और एसटी समुदाय के किसी शख्स के खिलाफ सोशल मीडिया पर यहां तक कि ग्रुप में चैट में कही जाने वाली आपत्तिजनक बातें अपराध की श्रेणी में आएगा। यानी सोशल मीडिया पर एससी और एसटी समुदाय के किसी शख्स के खिलाफ आपत्तिजनक बातें करने वाला मुश्किल में आ सकता है। 
हाई कोर्ट ने कहा कि एसी और एसटी एक्ट 1989 में इस समुदाय के लोगों पर सोशल मीडिया के जरिये भी आपत्तिजनक टिप्पणियां करना वर्जित है और ऐसा करने वाले को इस धारा में सजा हो सकती है।
इस मामले में फेसबुक में एक पोस्ट के खिलाफ दाखिल याचिका पर सुनवाई के दौरान हाई कोर्ट ने उक्त टिप्पणी की। इस धारा के दायरे में वाट्सएप चैट भी आएगा। 
हाई कोर्ट के जस्टिस विपिन सांघी ने कहा कि फेसबुक यूजर अगर अपनी सेटिंग को प्राइवेट से पब्लिक करता है तो इससे जाहिर है कि उसके वाल पर जो बाते लिखी गई है वह सभी लोग देख सकते हैं यानी कोई भी फेसबुक यूजर्स देख सकेत हैं। कोई ऐसी आपत्तिजनक टिप्पणी अगर पोस्ट हो जाता है औऱर बाद में उसे प्राइवेसी सेटिंग के तहत प्राइवेट कर दिया जाता है तो भी एससी व एसटी एक्ट के तहत अपराध माना जाएगा। 
हाई कोर्ट में एक एससी महिला की ओर से दायिका दायर की गई थी। याचिका में उसने अपनी देवरानी पर आरोप लगाया था कि वह उसे सोशल साइट पर प्रताड़ित कर रही है। महिला का आरोप है कि देवरानी राजपूत है और उसने धोबी समुदाय के लिए गलत शब्द का प्रयोग किया।
वहीं प्रतिवादी ने कहा कि फेसबुक पर लिखे बात को सच भी माना जाए तो भी उसका मकसद किसी को ठेस पहुंचाना नहीं था। उसने धोबी समुदाय के बारे में जो कुछ भी लिखा वह किसी खास व्यक्ति से संबंधित नहीं था।
बाद में ये भी दलील दी कि उसके फेसबुक के प्राइवेट स्पेस पर किसी और का ये अधिकार नहीं है कि वह खुद को आहत माने और उसके अधिकार का उल्लंघन करे।
कोर्ट ने हालांकि मामले में राजपूत महिला को राहत दी और उसके खिलाफ दर्ज केस रद्द कर दिया। कोर्ट ने कहा कि अगर कोई सामान्य तौर पर बात कही है और किसी जाति विशेष को निशाना नहीं बनाया गया तो वह अपराध नहीं है। कोर्ट ने उसकी इस दलील को खारिज कर दिया, जिसमें उसने कहा था कि फेसबुक उसका प्राइवेट स्पेस है। कोर्ट ने कहा कि प्राइवेट स्पेस जरूर है लेकिन पब्लिक व्यू के दायरे में है।
0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

दैनिक भास्कर टीम की इस ठगी को लेकर आक्रोश, उठी कार्रवाई की मांग
भारत में कुछ नहीं कर सकता लोकपाल
बहुत कठिन है सहिष्णु होना श्रीमान
इंडियन जर्नलिस्ट एसोसियन द्वारा पत्रकार को झूठे मुकदमा में फंसाने की निंदा
सामंतवादी दबंगों का अमानवीय कहर
लोकतंत्र, बिहार और बिहारियों की विजय है महागठबंधन की जीत :शत्रुघ्न सिन्हा
राजगीर पार्टी प्रशिक्षण शिविर में बोले लालू- भाजपा की राजनीति लोकतंत्र के लिए बड़ा खतरा
नालंदा में मुखिया की चचेरे भाई समेत गोली मार कर दिनदहाड़े हत्या
फर्जी डिग्री देती है मैनेजमेंट गुरु अरिंदम चौधरी की IIPM
Amitabh to endorse DD Kisan for free
दैनिक जागरणः चिंटू, मिंटू और चिंदी चोरों की जमात
अश्लील चुटकुलों से अजीज, अब शुगली-जुगली के नाम से जाने जाएंगे संता बंता
आखिर ये नेता क्या कहना चाहते हैं ?
पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेयी ने लिखा- भाजपा को राजनीति का ककहरा सिखा दिया बिहार के जनादेश ने
लालू ने दी अपने विधायकों को स्टिंग, अनुशंसा और भोग से बचने की नसीहत
दैनिक जागरणः संपादक ने कहा तलवा चाटनेवाला तो रिपोर्टर ने कहा सबूत दिखाइए !
मांद में ही मात गये सांसद
आइएएनएस के ब्यूरो प्रमुख का गोरखधंधा, बीबी के नाम पर लूट रहा है झारखंड आइपीआरडी
अप्रसांगिक कानून विधेयक लोक सभा में पेश
हमारे पत्रकार संगठन का हर विवाद अंदरुनी मामलाः IFWJ अध्यक्ष
नहीं सुधर रहा दैनिक हिन्दुस्तान, एक्पायर विज्ञापन छाप कर रहा यूं घोटाला
मनरेगा में भ्रष्टाचार के तमाचे का यूं हुआ समझौता
साइबर कैफे में पत्‍नी की ब्‍लू फिल्‍म देख पति के उड़े होश
अब सोनी टीवी पर प्रसारित ‘कॉमेडी नाइट विद कपिल’ !
बंद हो अखबार के हॉकरों द्वारा बिना बिल दस रुपये की वसूली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...