सूचनायुक्तों की बहाली प्रक्रिया को जान बूझ लटका रखी है रघुबर सरकार

Share Button

रांची (राजनामा.कॉम)। पूर्व नियोजित कार्यक्रम के तहत आज दिनांक 16 जुलाई 2018 को पूर्वाह्न 12 बजे से राज्यस्तरीय आरटीआई कार्यकर्ताओं की एक बैठक पंडरा स्थित फ्लेट नंबर—2 ए, नलिनी बाला इनक्लेव, पंडरा, रांची में “चित्रा वेलफेयर सोसाईटी” के केंद्रीय अध्यक्ष “श्री अरबिंद सिंह राठौर” की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई, जिसमें राज्य के विभिन्न जिलों के सैंकड़ों आरटीआई सह सामाजिक कार्यकर्ता उपस्थित हुए।

इस विशेष बैठक को संबोधित करते हुए श्री अरबिंद सिंह राठौर ने कहा कि “सूबे की रघुबर सरकार सूचनायुक्तों की बहाली प्रक्रिया को जान बूझकर लटका कर रखा है, जिससे “सूबे” के समस्त आरटीआई कार्यकर्ताओं व अपीलकर्ताओं को शारीरिक/मानसिक/आर्थिक रूप से परेशान होना पड़ रहा है।

सूचना आयोग से छह माह से साल भर बाद सुनवाई तिथि निर्धारित किया जा रहा है। राज्य सरकार यदि अपनी जिम्मेदारियों/जिम्मेवारियों को समझते हुए ससमय सूचना आयोग में सूचना आयुक्तों की बहाली सुनिश्चित की गई होती तो सूबे के समस्त आरटीआई कार्यकर्ताओं/अपीलकर्ताओं को उक्त गंभीर प्रकरण से गुजरना नहीं पड़ता, अत: सूबे की सरकार को यथाशीघ्र सूचनायुक्तों की बहाली सुनिश्चित करनी चाहिए और आरटीआई कार्यकर्ताओं के खिलाफ फर्जी व मनगढंत मुकदमों को वापस लिया जाए।

लातेहार के रविकांत पासवान जी ने कहा सूचना आयोग के मुख्य सूचना आयुक्त श्री आदित्य स्वरूप एवं सूचना आयुक्त श्री हिमांशु शेखर चौधरी दोनों “भ्रष्टाचार में लिप्त हैं।ये दोनों जन सूचना पदाधिकारियों को नोटिस देकर धमकी देते हैं सूचना उपलब्ध कराया जाय, नहीं तो कार्रवाई होगी और जैसे ही पीआईओ के द्वारा मैनेज किया जाता है तो मामले को बंद कर दिया जाता है। इन दोनों के विरूद्ध सीबीआई जांच सुनिश्चित की जाए।

चित्रा वेलफेयर सोसाईटी की पंजीकृत अंगीभूत इकाई “आरटीआई मोर्चा” के झारखंड प्रदेश समन्वयक सह आरटीआई कार्यकर्ता श्री आनंद किशोर पंडा जी ने कहा कि सूचना आयोग के मुख्य सूचना आयुक्त के कार्यकाल में सुनवाई कर निस्तारण किया गया है, सभी का उच्च स्तरीय जांच सुनिश्चित की जाय

आरटीआई मोर्चा के धनबाद जिला समन्वयक सह आरटीआई कार्यकर्ता श्री महेश कुमार जी ने कहा कि मुख्य सूचना आयुक्त एवं सूचना आयुक्त का बहाली का सीबीआई जांच सुनिश्चित हो।

चित्रा वेलफेयर सोसाईटी के केंद्रीय सचिव सह आरटीआई कार्यकर्ता श्री लखीचरण मुंडा जी ने कहा कि सभी आरटीआई कार्यकर्ताओं को पूर्ण रूप से सुरक्षा मुहैया कराई जाए।

रांची(रातू) के आरटीआई कार्यकर्ता एनामुल हक ने कहा कि सूबे की सरकार आरटीआई एक्ट में संशोधन करने में लगी हुई है। सूबे की सरकार ने यदि आरटीआई एक्ट में संशोधन करने का प्रयास भी करती है तो जबर्दस्त आंदोलन किया जाएगा।

लोहरदगा से शकील अख्तर ने कहा कि मुख्य सूचना आयुक्त को बरखास्त करके तत्काल ईमामदार मुख्य सूचना आयुक्त की बहाली की जाए।

रामगढ से नरेश प्रसाद साहू ने कहा कि जल्द से जल्द अपीलवाद की सुनवाई की जाए।

उक्त विशेष बैठक में निर्णय लिया गया है कि दिनांक छह अगस्त को सूबे के समस्त आरटीआई कार्यकर्ता सह सामाजिक कार्यकर्ता राजभवन के समीप धरना-प्रदर्शन सुनिश्चित करेंगे।

साथ ही साथ सूचना आयुक्तो की बहाली में हो रहे विलंब, मुख्य सूचना आयुक्त एवं सूचना आयुक्त तथा आयोग के कार्यशैलियों में सुधार, सूचनाधिकार कार्यकर्ताओं के खिलाफ हो रहे झूठे मुकदमे, आयोग में सीसीटीवी कैमरा लगवाने, आयोग द्वारा जिला स्तर पर विडियो कॉंन्फ्रेसिंग के माध्यम से सुनवाई जल्द से जल्द सुनिश्चित करवाने , आरटीआई एक्ट की रक्षा एवं ग्राम/जिला स्तर पर आरटीआई एक्ट का प्रचार-प्रसार करवाने, आरटीआई आवेदक/अपीलकर्ता को सुरक्षा प्रदान करने तथा सिर्फ सूचनाधिकार एक्ट की रक्षा हेतु भारतीय सूचनाधिकार रक्षा मंच का गठन किया गया।

लातेहार के श्री रविकांत पासवान जी को भारतीय सूचनाधिकार रक्षा मंच का कार्यकारी अध्यक्ष मनोनित किया गया।हेतु विशेष निर्णय लिया गया।

उक्त विशेष बैठक में चित्रा वेलफेयर सोसाईटी के केंद्रीय अध्यक्ष श्री अरबिंद सिंह राठौर, केंद्रीय सचिव सह भूतपूर्व सैनिक श्री लखीचरण मुंडा, केंद्रीय महासचिव श्री शैलेंद्र कुमार सिंह ,चित्रा वेलफेयर सोसाईटी की पंजीकृत अंगीभूत इकाई आरटीआई मोर्चा के झारखंड प्रदेश समन्वयक श्री आनंद किशोर पंडा, रांची से विशेष सहयोगी श्री शशीरंजन, रामगढ से नरेश प्रसाद साहू एवं विशाल कुमार, लातेहार से श्री रविकांत पासवान, लालमोहन सिंह, संजीव कुमार, अशोक कुमार, साजन कुमार,धनबाद से श्री महेश कुमार, रांची से सरफराज अंसारी एवं एनामुल हक, लोहरदगा से शकील अख्तर, सुनिल राम, आनंद कुमार सोनी, कोडरमा से सुमित कुमार, हजारीबाग से शमशेर आलम, रामाशंकर ठाकुर, भोला साहू, हरदयाल श्रीवास्तव, रामनाथ रामा, बरही से उदय केशरी, बोकारो से राम अनुप चौहान, श्रीमति नीरा सिनहा, संजीव कुमार समेत सैंकड़ों आरटीआई कार्यकर्ता एवं सामाजिक कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Share Button

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.