सुदेश महतो को उप मूर्खमंत्री बनाने के बाद शिबू सोरेन को उप मुख्यमंत्री बनाया

Share Button
Read Time:1 Minute, 47 Second

सन्मार्ग के २४ जुलाई २०१२ के अंक में झारखण्ड सरकार के तीन विज्ञापन छपे हैं उनमें एक में सुदेश महतो को उप मुख्यमंत्री से प्रमोट कर मुख्यमंत्री बना दिया गया है. शिबू सोरेन को डिमोट कर उपमुख्यमंत्री बना दिया गया जबकि, वे वर्तमान में राज्य समन्वय समिति के अध्यक्ष हैं।

 विदित हो कि  आईपीआरडी के विज्ञापन विभाग से ही डिजाइन कर मीडिया को जारी किये जाते हैं। लगता है उसे और बेहतर बनाने के लिए यह कलाकारी की गयी है।

 दूसरे अख़बारों में ये विज्ञापन सही छपे हैं। उनहोंने किसी को प्रमोट या डिमोट नहीं किया है। सन्मार्ग में एक बार पहले भी सरकारी विज्ञापन के साथ छेड़छाड़ हुआ था, जिसमें सुदेश महतो को “उप मूर्खमंत्री” बना दिया गया था। इसके बाद सरकारी विज्ञापन मिलने बंद हो गए थे।

बैजनाथ मिश्र वापस लौटे

एक सूचना और है कि बैजनाथ मिश्र जिन्हें छः महीने पहने बाहर का दरवाज़ा देखने को विवश कर दिया गया था. वे फिर संस्थान में वापस आ गए हैं। हरिनारायण सिंह के जाने के बाद अखबार संपादक विहीन हो गया था।  उन्होंने कल २३ जुलाई को पदभार ग्रहण कर लिया है। इस बार कितने दिनों की पाली होगी यह चर्चा का विषय बना हुआ है।

from: narayan <charkunar@gmail.com

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

दैनिक ‘तरुणमित्र’ मचा रहा बिहार में तहलका !
लो,पेड विज़ुअल का आ गया ज़माना
न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया के आउटपुट एडिटर बने अतुल अग्रवाल
सेलरी नहीं मिलने से क्षुब्ध ड्राइवर ने  'इंडिया न्यूज' चैनल के मालिक को 'ठोंक' दिया !
समाज सेवा पेशा से जुड़े हरिनारायण सिंह बन गये कथित द रांची प्रेस क्लब के उपाध्यक्ष !
सीबीआई जब इस ‘झूलन’ को ‘झूलाएगी’ तो होगा सनसनीखेज खुलासा
जरा दैनिक भास्कर और रांची एक्सप्रेस की इस खबर पर गौर फरमाईये!
इंडिया टीवी के रजत शर्मा ने ट्वीटर पर दी धमकी !
नालंदाः पुलिस और पत्रकार के बीच मारपीट, यह रहा सच
दैनिक हिन्दुस्तान विज्ञापन फर्जीवाड़ा में लालू लालू की दिलचस्पी !
बंद हो मीडिया में राजनीतिक दलों और कॉरपोरेट घरानों का प्रवेश: TRAI
पत्रकारिता मिशन नहीं, अब कमीशन का खेल है
इन संपादकों की हकीकत तो जानिये
न्यूज़ चैनलें बन रही है जोकरय का अड्डा
कलेक्ट्रिएट में चल रहा एनजीओ परिहार- ‘इट्स हेपेन्ड ओनली इन बिहार’
कोबरा पोस्ट स्टिंग से खुद की लाज बचाने में जुटे नामचीन मीडिया हाउस
एक राष्ट्रीय खबर, जो बिहार के सीतामढ़ी के गांवो में खो कर रह गई !
बिहार के नवादा में पत्रकार के भाई की पीट-पीटकर निर्मम हत्या
राजस्थान पत्रिका समूह के सलाहकार संपादक बने ओम थानवी
RBI के गवर्नर की PC से इकोनॉमिस्ट और बीबीसी के पत्रकार को निकाला
......और मुड़ी कटाएं धनबाद थानेदार!
अंततः वरिष्ठ पत्रकार आशुतोष को भी 'आप' न आई रास, दिया यूं इस्तीफा
पत्रकार सुरक्षा कानून एवं आवास योजना की आवाज लोकसभा में उठायेंगे गिलुवा
इस तरह बनाए जा रहे हैं रिपोर्टर- पत्रकार
137 वर्षों में पहली बार, नहीं छपा ‘द हिन्दू’ अखबार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...