सुदर्शन न्यूज के सुरेश चव्हाणके पर महिला यौन उत्पीड़न का FIR दर्ज

Share Button

नई दिल्ली। अपने चैनल की वरिष्ठ महिला मीडियाकर्मी के यौन शोषण और उत्पीड़न के मामले में नोएडा पुलिस ने करीब दस दिन की देरी के बाद अंतत: एफआईआर दर्ज कर लिया है. महिला मीडियाकर्मी द्वारा लिखित कंप्लेन दिए जाने के बाद नोएडा के एसएसपी धर्मेंद्र सिंह यादव ने एसपी सिटी दिनेश यादव को मामले की जांच कर रिपोर्ट देने को कहा था.

एसपी सिटी ने सुरेश चव्हाणके को आफिस तलब किया और करीब छह घंटे तक बिठाकर पूछताछ की. एसपी सिटी ने पूरे मामले की रिपोर्ट तैयार कर एसएसपी को दी जिसके बाद प्रथम दृष्टया आरोपों को सच देखते हुए एसएसपी ने मुकदमा लिखने का आदेश कर दिया. एफआईआर में आसाराम के बेटे नारायण साईं को भी आरोपी बनाया गया है.

उधर, सुदर्शन चैनल के मालिक सुरेश चव्हाणके ने पूरे मामले को हमेशा की तरह हिंदुत्व से जोड़ दिया है. हिंदुत्व की आड़ में कई तरह के गलत काम करने वाले सुरेश चव्हाणके ने सोशल मीडिया पर जो प्रतिक्रिया पोस्ट की है, वह इस प्रकार है :

suresh”सुदर्शन चैनल के चेअरमन सुरेश चव्हाणके के ऊपर यूपी पुलिस ने दाऊद इब्राहिम से भी ज्यादा धाराओं के साथ FIR दर्ज की है। अब तक उन पर नो पार्किंग का भी केस नहीं था। साक्षात मुख्यमंत्री से लेकर पूरी सरकार ने इतना ज़ोर लगाया कि एक दिन पहले जाँच समाप्त करने का निर्णय को बदल कर अति गंभीर धाराओं को लगाया गया है। शंकराचार्य की तरह दिवाली के दिन ही सुरेश जी को अरेस्ट करने का प्लान था। लेकिन १० दिन चली जाँच में पुलिस कुछ भी पकड़ नहीं पायी। अब एकमात्र प्रखर हिंदूवादी न्यूज चैनल को बंद करने और हमारी बुलंद आवाज़ सुरेश जी को जेल में सड़ाने के प्लान बनाया गया है। क्या आप इस का विरोध करेंगे या चुपचाप बैठ कर सुदर्शन को बंद होने देंगे?”

sudarshan-case-1 sudarshan-caseपीड़ित महिला ने एफआईआर दर्ज हो जाने के बाद उसकी कॉपी भड़ास4मीडिया को मुहैया कराई और इस मामले को राष्ट्रीय महिला आयोग भी ले जाने का ऐलान किया. कार्यस्थल पर यौन शोषण और उत्पीड़न के इस गंभीर मामले में पीड़िता ने अपने पास कई तरह के आडियो वीडियो सुबूत होने का दावा किया.

पीड़िता ने कुछ आडियो और वीडियो भड़ास4मीडिया को भी दिया जिसको देखने सुनने से स्पष्ट हो जा रहा है कि पीड़िता के आरोप सही है. जल्द ही कुछ आडियो और वीडियो भड़ास4मीडिया की तरफ से अपलोड कर सार्वजनिक किया जाएगा. पीड़िता ने प्रेस कांफ्रेस करने का इरादा बनाकर इस पूरे मामले को नेशनल मीडिया में ले जाने की तैयारी शुरू कर दी है.   (साभारः भड़ास)

Share Button

Relate Newss:

कितना जरूरी है सोशल मीडिया पर अंकुश
शाहरुख खान विज्ञापन वाली फेयर हैंडसम क्रीम कंपनी पर 15 लाख का जुर्माना
भगवान बिरसा जैविक उद्दान ओरमांझीः चतुर्थवर्गीय पदों की नियुक्ति में भारी अनियमियता
अवैध राजगीर गेस्ट हाउस होटल के सामने नगर प्रशासन का 24घंटे का दंडात्मक आदेश भी बौना
अटल जी को फेसबुक पर संघी बताने वाले प्रोफेसर पर हमला, जिंदा जलाने की प्रयास
बिहार चुनाव में नकली और विदेशी मुद्राओं का हुआ जमकर इस्तेमाल
शराब-शबाब के शौकिन जदयू विधायक सिर ले घुमते हैं बाज !
सीबीआई कॉन्फ्रेंस में बोले मोदी, भ्रष्टाचार के खिलाफ होगी निर्मम कार्रवाई
67 साल बाद भी झारखंड के गांवों में मौजूद है गरीबी और शोषण :रघुवर दास
अटपटा लग रहा है रांची की ‘लव-जेहाद’ का एंगल !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...