सुदर्शन न्यूज का गोरखधंधाः बाबा रामदेव को भी बनाया शिकार

Share Button

 sudarshan news1बात उस वक्त की है जब आरएसएस के प्रमुख केसी सुर्दशन जी हुआ करते थे। सुर्दशन जी के पीछे-पीछे एक फटीचर आदमी देखा जाता था,जिसका नाम सुरेश चव्हाणके हुआ करता था। जब सुर्दशन जी कुर्सी पर बैठते थे। सुरेश सबसे पहले उनके जूते साफ करने लगते थे। मकसद था बीजेपी में सेंध लगाना। लेकिन ऐसा कभी हो न सका। जब दाल नहीं गली तो। सुरेश के दिमाग में एक बात आई कि क्यों न एक चैनल का रजिस्ट्रेशन ले लिया जाए और उसका नाम सुर्दशन जी के नाम से ही रख लिया जाए।

सुर्दशन जी की पहुंच का फायदा उठाकर उसने चैनल का लाइसेंस हथिया लिया। चैनल का नाम सुर्दशन न्यूज रख दिया। उसके बाद सुरेश ने बीजेपी और आरएसएस के नाम से लोगों को बेबकूफ बनाना शुरू कर दिया।

सुरेश का अगर पिछला इतिहास देखें तो वह महाराष्ट के कापरगांव के पास शिरडी का रहने वाला है। वहां पर वह वारातों में टेंट-सामयाने का काम करता था। उनके पिता शिरडी सांई मंदिर के बाहर फूल बेचते हैं। गांव में इनका नाम लेने पर ही लोग मजाक बनाते हैं। सबसे बड़ा ठोंगी कहते हैं। 12वीं पास सुरेश को दिखावे का बहुत बड़ा शौक है। अपने पास हमेशा एक खूबसूरत पीए रखता है।

 sudarshan news2जनाब का चैनल चलाने का तरीका बहुत ही निराला है। कुछ छुटभईये नेताओं को अपने चैनल के कार्यालय बुलाता है और उनसे बोलता है कि आज आपका कार्यक्रम लाइव करेंगे और देश-विदेश से फोन आएंगे। तभी उस नेता को स्टूडियों में बैठा देता है और चार-पांच गुर्गो को बोलता है कि तुम दुबई के सैफ बनकर फोन करना, और तुम कनाडा से बड़े आदमी बनकर फोन करना। प्रोग्राम शुरू होता है और नेता के नाम से दनादन फोन आने लगते हैं, नेता को एक महिला कहती है सर मैं कनाडा से रूबी बोल रही हूं ।

आप इंडिया के उभरते हुए नेता हो, आपकी आवाज में कशिश है। क्या मैं आपसे कभी मिल सकती हूं। इतना सुनते ही नेता गदगद हो जाता है, खुद अपनी वाह-वाह करने लगता है। इस तरह से उस नेता को कई फर्जी फोन कराए जाते है, कार्यक्रम खत्म होने के बाद नेता को चैनल के मालिक यानि सुरेश ख्व्हाणके से मिलवाया जाता है। फिर उनसे कहा जाता है कि देखो नेता जी हमने आपका प्रचार देश-विदेश में कर दिया। अब आप चैनल के हित के लिए कुछ पैसे दें। यह बात उनसे खुल्लम खुल्ला कही जाती है।

दरअसल चैनल के नाम पर इस आदमी ने अवैध धन वसूली का अच्छा जरिया बना रखा है। इसकी ठगी के शिकार बाबा रामदेव भी हो चुके हैं। रामलीला में रामदेव को जब पुलिस ने जबरन हटाया था। तब कुछ दिन के बाद सुरेश हरिद्वार गया था, वहां जाकर उसने रामदेव को बताया कि हमने आपके फेवर में खबर दिखाई थी जिसके चलते कांग्रेस ने चेनल को लीगल नोटिस भेजा है। जब सुरेश ने रामदेव से लाखों रूपये हड़प लिए थे।  (साभारः मीडिया खबर.कॉम)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...