सुदर्शन टीवी न्यूज चैनल के मालिक ने इस तरह चलाई थी झूठी संप्रदायिक खबर

Share Button

संभल (यूपी)। पिछले दिनों निजी न्यूज चैनल सुदर्शन टीवी द्वारा संभल के एक शिव मंदिर को लेकर भ्रामक खबर चलाई गई, जिसमें ये दर्शाया गया कि ये शिव मंदिर बीते 35 साल से बंद है और प्रदेश में योगी सरकार बनने के बाद इसे खुलवाया गया है।

इस खबर के बाद संभल की सांप्रदायिक स्थिति बिगड़ने की संभावना बनती जा रही थी, जिस पर पुलिस ने चैनल संचालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज गिरफ्तारी के प्रयास शुरू कर दिए थे।

इसी कड़ी में कई दिन से फरार चल रहे हिंदी धार्मिक सुदर्शन चैनल के सीएमडी सुदेश चौहान को संभल पुलिस ने लखनऊ पुलिस के साथ संयुक्त टीम बना कर लखनऊ के सरोजनी नगर में गिरफ्तार कर लिया।

ज्ञात रहे कि इस न्यूज चैनल ने संभल के एक धार्मिक स्थल को लेकर भ्रामक व फर्जी ख़बर सुदर्शन चैनल पर प्रसारित की थी। इसके साथ ही 13 अप्रेल 2017 को उक्त धर्मस्थल पर जाने का ऐलान भी किया गया था। सुदर्शन ने खबर प्रसारित की थी कि उत्तर प्रदेश में योगी शासन आते ही 35 साल से बंद पड़ा धार्मिक स्थल खुला और सबसे पहले उसमे एक पुलिसकर्मी ने पूजा की।

इस खबर की पड़ताल की गई तो कहीं भी इस तरह के मंदिर और न इस तरह की किसी बात का उल्लेख मिला, तब जाकर सुदर्शन के सीएमडी के ऊपर संभल कोतवाली में गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज हुआ था। मुकदमा दर्ज होने के बाद से ही सीएमडी फरार चल रहे थे।

बुधवार को पुलिस को मुखबिर द्वारा ये सूचना मिली कि आरोपी लखनऊ के सरोजनी नगर के एक मकान में छुपा हुआ है। जिस पर संभल पुलिस ने लखनऊ के सरोजनी नगर पुलिस के साथ मिल कर एक टीम बनाई और उसको गिरफ्तार कर लिया।

वहीं, संभल की स्थिति को भांपते हुए खुद डीआईजी ओमकार सिंह ने फोर्स के साथ शहर में कई स्थानों पर रूट मार्च निकाला, क्योंकि कुछ हिन्दू संगठनों ने गुरुवार को संभल कूच करने का आह्वान किया है। लिहाजा स्थिति न बिगड़े इसके लिए पुलिस ने संभल में इस तरह के आयोजन को असफल करने के लिए पूरी ताकत लगा दी है।

Share Button

Relate Newss:

मनमानी और दलालों का अड्डा है कोडरमा रेलवे स्टेशन !
तेजस्वी ने फेसबुक पर यूं लिखा नीतिश-शाह की बातचीत
बिहार में एक बार फिर, नीतिश सरकार :पोल ऑफ एक्जिट पोल्स
हिंदी पायनियर का हालः न नियुक्ति पत्र न सेलरी स्लिप!
'वेब जर्नलिज्म' से अखबारों तथा मठाधीश पत्रकारों को खतरा
मुखिया के खिलाफ सड़क पर उतरे लोग, एसपी से बोले- ‘निर्दोष है पत्रकार’
बर्खास्त रिपोर्टर को लेकर खामोश क्यों है पत्रकार संघ और परिषद
निर्भया गैंगरेप डॉक्यूमेंट्री: असल मुद्दा क्या है?
स्वरूपानंद ने साईं भक्तों के खिलाफ नागा साधुओं को उतारा !
बिहार में पांचवी बार, सीएम बने नीतीशे कुमार
राजस्थान के ‘दुर्ग’ को पटना SC-ST कोर्ट से यूं मिली बेल
..और ऐसे ‘पौर’ विहीन हुआ गया नगर निगम
.....तो 2015 के चुनाव में नहीं मांगेगें वोट :नीतिश कुमार
रघु'राज के प्रमुख प्रेस सलाहकार योगेश किसलय ने फेसबुक पर उड़ेली ओछी मानसिकता
आदिवासियों की हत्या करवा रही है रमण सरकार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...