सीबीआई की रेड में अय्याशी का अड्डा निकला ‘प्रातः कमल’ अखबार का पटना दफ्तर

Share Button

मुजफ्फरपुर का महापापी बनकर उभरे  ब्रजेश ठाकुर का अखबार ‘प्रात: कमल’ का पटना दफ्तर अखबार का कम और अय्याशी का अड्डा ज्यादा लग रहा था। दफ्तर में आराम फरमाने को महंगे सोफे और कीमती बेड लगे थे। यहां किचेन से लेकर बेडरूम तक था।

सीबीआई छापा के दौरान वहां ऐसा कुछ नहीं दिखा जिससे लगे कि वह अखबार का दफ्तर है। तलाशी के दौरान कमरों में ऐसे सामान मिले हैं जिससे पता चलता है कि ब्रजेश ने इसे अय्याशी का अड्डा बना रखा था।

पुराने संग्रहालय के सामने ब्रजेश ने आईआईबीएम के कैंपस में किराये पर जगह लेकर प्रात: कमल अखबार का दफ्तर खोल रखा था। सीबीआई ने इस दफ्तर को भी खंगाला। हालांकि कोई महत्वपूर्ण कागजात नहीं मिले हैं।

कमरे में लिखने-पढ़ने के सामान भले ही नहीं थे पर ऐशो-आराम के सारे साधन थे। वहां से शक्तिवर्धक गोलियां, अश्लील फिल्मों की सीडी और दूसरे आपत्तिजनक सामान भी मिले। कई पहचान पत्र के साथ कागजात भी मिले हैं जिस पर लोगों के नाम हैं।

ब्रजेश के इस अड्डे पर खासमखास लोग पहुंचते थे। उन्हें हर तरह की सुविधा मुहैया कराई जाती थी। सूत्रों का कहना है कि प्रात: कमल के पटना स्थित दफ्तर में पहुंचने में जांच टीम ने देरी कर दी। मामला सुर्खियों में आने व उसे सीबीआई को सुपुर्द किए जाने के बाद वहां से बहुत सारे महत्वपूर्ण कागजात हटा लिए गए थे।

Share Button

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...