सीएम नीतीश के हरनौत में धरने पर बैठे पत्रकार और नकारा बने उनके चहेते नालंदा डीएम-एसपी

Share Button

हरनौत (राजनामा.कॉम)। सीएम नीतीश कुमार के गृह जिले के नालंदा के हरनौत पुलिस के द्वारा पत्रकार के साथ की गई बदसलूकी एवं अमानवीय व्यवहार तथा तानाशाह थानेदार के रवैया से नाराज पत्रकार व बुद्धिजीवियों ने बुधवार को थाना के गेट पर धरना दिया।

जानकारी के मुताबिक घटना मंगलवार की रात की है।बीच बाजार स्थित श्री राम जानकी पुरानी ठाकुरवाड़ी में तेरह दिवसीय आत्म कल्याण विश्व शांति शिव शक्ति महायज्ञ का आयोजन किया गया है। जो 22 मई से एक जून तक चलेगा।

कार्यक्रम को लेकर आयोजन समिति के द्वारा चंडी मोड़ के समीप मेला का भी आयोजन किया गया है।जिसमें वृन्दावन से आये रास मंडली के द्वारा रासलीला दिखाया जा रहा है।साथ ही कई प्रकार के झूला का भी आयोजन किया गया है।

दैनिक हिंदुस्तान के पीड़ित पत्रकार मुकेश कुमार ने बताया कि मंगलवार के रात आयोजन समिति के सहायता केंद्र पर लगी कुर्सी पर बैठकर मेला पर नजर रखे हुए थे।इसी दौरान मेला ड्यूटी में लगे पांच पुलिसकर्मियों के द्वारा वहाँ आकर जबरन डंडा दिखाते हुए उठने को कहा गया।

पीड़ित पत्रकार के द्वारा परिचय बताने के बावजूद भी पुलिसकर्मियों ने कालर पकड़ते हुए मारपीट करने का कोशिश की। संयोग से मेला आयोजक के द्वारा आकर बीच बचाव करने के बाद पुलिसकर्मी वहाँ से हटे। घटना की जानकारी तुरंत ही थानाध्यक्ष सहित वरीय पुलिस पदाधिकारी को भी दी गई।

बावजूद घटना के दस घंटा बीत जाने के बाद भी पीड़ित का सूझबूझ लेना मुनासिब नहीं समझा। जिससे नाराज पत्रकार मुकेश कुमार थाना के समीप धरना पर बैठ गए।जिसकी जानकारी अन्य पत्रकारों व बुद्धिजीवियों को मिली।वे भी पीड़ित पत्रकार के समर्थन में अनिश्चित कालीन धरना पर बैठ गए।

सभी लोग घटना में संलिप्त पुलिस व थानाध्यक्ष का निलंबन की मांग कर रहे थे।घटना की जानकारी के बाद एसडीपीओ इमरान परवेज भी धरना स्थल पर पहुंचे।

उन्होंने पीड़ित पत्रकार से लिखित रूप में संबंधित पुलिसकर्मियों के खिलाफ आवेदन देने के लिये कहा। पुलिस व थानाध्यक्ष पर निलंबन की कार्यवाई होने तक धरना चलती रहेगी। आज 29 मई की देर शाम समाचार लिखने तक वरीय पुलिस अधिकारी के द्वारा कोई कार्यवाई नहीं कि गई है।

Share Button

Relate Newss:

विदर्भ में कब आयेगें अच्छे दिन, पिछले 72 घंटो में 12 किसानों ने की आत्महत्या
आस्ट्रेलिया में 30 नवंबर से खुलेगा सबसे बड़े दुर्गा मंदिर का पट
एग्जिट पोल मामले में जागरण.कॉम के संपादक शेखर त्रिपाठी गिरफ्तार
संदर्भ नालंदा गैंगरेप: पुलिस, न्याय, खानापूर्ति और खामोशी!
गलत साबित हो चुके हैं ऐसे 'पेड एग्जिट पोल' के नतीजे
सीएम और उनके सलाहकारों को सदबुद्धि दें भगवन
नेपाल में 'गो इंडियन मीडिया गो' की मुहिम
चंडी पुलिस ने देसी दारु का धंधा कर रहे पूर्व प्रखंड प्रमुख के चाचा को पकड़ा
‘दुर्ग’ केस में गंभीर हुये सीएम नीतीश, जोनल आईजी करेंगे विशेष जांच
राजगीर पार्टी प्रशिक्षण शिविर में बोले लालू- भाजपा की राजनीति लोकतंत्र के लिए बड़ा खतरा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...