सिर्फ गन्दी मानसिकता के कारण होता है रेप !

Share Button

दो स्तन एक वेजाइना और पेनिस शायद इन्ही के होने से रेप होता है। नहीं स्तन रेप का कारण नहीं ही सकते. जिन छोटी छोटी बच्चियों के स्तन नहीं होते उनका भी रेप ही जाता है.

rapeफिर तो इस वेजाइना के कारण ही रेप होते है. नहीं! child abuse के कितने केस हैं जहा लड़को(baby boy) के रेप होते है। वहा कोई वेजाइना नहीं होती. यानि रेप पेनिस के कारण होते है.

लेकिन कई हॉस्टलस् और जेल के कितने किस्से सुने है जहा लड़को के रेप होते है। यानि जिनके पास पेनिस है उनका भी रेप होता है। और अगर रेप सिर्फ पेनिस के कारण होते तो गैंग रेप/ रेप के बाद लड़की के शरीर में सरिये कंकर कांच(दिल्ली/रोहतक की घटना,और ऐसी हज़ारो न रिपोर्ट होने वाली घटनाएं) क्यों डालते.

यानि रेप पेनिस वेजाइना (शरीर की संरचना) के कारण नहीं होते।

रेप उस मानसिकता के कारण होता है जो लड़की की शर्ट के दो बटनों के बीच के गैप से स्तन झाँकने की कोशिस करते है. जो सूट के कोने से दिख रही ब्रा की स्ट्रिप को घूरते रहते है. और औरत की स्तन का इमैजिनेशन करते है. जो स्कर्ट पहनी लड़की की टाँगे घूरते रहते है। कब थोड़ी सी स्कर्ट खिसके कब पेंटी का कलर देख सके। पेंटी न तो कुछ तो दिखे।

जो पार्क में बैठे कपल्स को देखकर सोचते है काश ये लड़की मुझे मिल जाये तो पता नहीं मैं ये करदु मैं वो करदु…

वो मानसिकता जब एक दोस्त दूसरे से कहता है – क्या तू अपनी गर्ल फ्रेंड के साथ रात में रुका और तूने कुछ नहीं किया, नामर्द है क्या.?!

रेप सिर्फ गन्दी मानसिकता के कारण होता है. जहाँ औरत सिर्फ इस्तेमाल का सामान है. इंसान कतई नहीं.

मेरी नज़र में हर वो आदमी रेपिस्ट है जो ये समझता/मानता है कि छोटे कपडे पहन नेे ,दिन/रात में अकेले बाहर जाने, बॉय फ्रेंड बनानेे , सिगरेट पिने वाली, ड्रिंक करने वाली, शादी से पहले सेक्स करने वाली लड़किया रेप को आमंत्रित करती है…।

जो ये मानते है कि ये सब काम करने वाली लड़कियों का अगर रेप होता है तो वो भी इसमें ज़िम्मेवार होती है. ऐसी सोच वाला हर व्यक्ति संभावित रेपिस्ट है….!!

geeta

गीता यादव के फेसबुक वाल से साभार

Share Button

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...