सावधान ! नई दिल्ली से हर तरफ फैला है पत्रकार बनाने का यह गोरखधंधा

Share Button

रांची (संवाददाता)। युवाओं को पत्रकार बनाने के नाम पर इन दिनों वेब पोर्टल मीडिया को माध्यम बना लगातार ठगी का कारोबार बेख़ौफ़ होकर सामूहिक रूप से किया जा रहा है।

पत्रकार बनाने के नाम पर पहले उनसे रेजिस्ट्रेशन के नाम पर 1500 रुपये वसूले जाते हैं और उन्हें 25 अन्य सदस्यों को जोड़ने को कहा जाता है।

Delhi Crime के नाम पर एक पहचान पत्र भी दिया जाता है। इस पहचान पत्र में यह भी दावा किया जाता है कि दिल्ली के पुलिस कमिश्नर द्वारा यह कार्ड जारी किया जा रहा है।

मिली जानकारी के अनुसार देश भर में अबतक हज़ारों युवा इस ठग गिरोह के मेम्बर बन चुके हैं, गिरोह का सरगना दिल्ली के मोती नगर में बैठ लूट का बेखौफ खेल खेल रहे हैं। वे मीडिया में प्रवेश को उत्सुक युवक-यवतियों को 4000 रुपये से लेकर 3 लाख रुपये प्रति माह देने का दावा भी करते हैं।

राजधानी रांची में भी इस गिरोह के सदस्य सक्रिय हैं और अब तक हज़ारों युवाओं से रेजिस्ट्रेशन फीस के नाम पर लगातार 1500 रुपये की वसूली कर रहे हैं। यह गिरोह बड़े ही शातिराना तरीके से युवाओं को बेवकूफ बना रहा है। Delhi Crime के नाम पर वेबसाइट एवं साप्ताहिक समाचारपत्र का भी प्रकाशन किया जा रहा है।

Share Button

Relate Newss:

कितने नैतिक हैं हमारे भारतीय न्यूज़ चैनल
अध्यक्ष अमित शाह के नसीहत पर भाजपा की झाड़ू
पत्रकारों ने मांगी छुट्टी तो हिन्दुस्तान के संपादक दिनेश मिश्रा ने दी गालियां !
रिपोर्टिंग के दौरान ट्रॉमा के ख़तरे से बचने के लिए कुछ परामर्श
खुदकुशी नहीं, मीडिया और राजनीति का भद्दा मजाक !
न्यूज़ चैनलें बन रही है जोकरय का अड्डा
नीतिश के लिए काल बन सकते हैं मोदी के प्रशांत !
राजगीर थाना में राजनामा.कॉम के संपादक के विरुद्ध FIR से हुआ यह एक नया खुलासा
पत्रकारिता के जरिए पहाड़ ढाहने का दंभ भरने वाले भाइयों के लिए -2
गाय के कारोबार में शामिल 80 फीसदी लोग हिंदू :गोविंदाचार्य
हिन्दुत्व की आड़ में धंधेबाजी करने वाले सुदर्शन न्यूज चैनल को राज्यसभा की नोटिस
दिल्ली में गड़बड़ा गए हैं भाजपाई !
फेकऑफ से पता लगाएं कि फेसबुक पर हैं आपके कितने फर्जी दोस्त
राजनीति के अश्वत्थामा न बन जाएं केजरीवाल
योग सुंदरी से यूं शीर्षासन करा रहे हैं झारखंड के अधिकारी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...