साथी पत्रकारों की मदद आ रही काम, उपेंद्रनाथ मालाकार के स्वास्थ्य में सुधार

Share Button

रांची (संवाददाता)। राजधानी के राज हॉस्पीटल में बड़कागांव के पत्रकार उपेंद्रनाथ मालाकार के स्वास्थ्य में सुधार आया है। उन्हें अब ICU से जेनरल वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है।

विदित हो कि हिन्दी दैनिक  रांची एक्सप्रेस के बड़कागांव रिपोर्टर मालाकार जी की गंभीर हालत बात तब सामने आई, जब वहां की स्थानीय कांग्रेस विधायक निर्मला देवी उन्हें देखने राज अस्पताल पहुंची। उस समय मालाकार जी ने अपनी माली हालात और अस्पताल प्रबंधन द्वारा मनमाने राशि की वसूली की ज्वलंत समस्या रखी। इसके बाद विधायक ने तत्काल 2000 रुपये की मदद की और सीधे स्वस्थ्य मंत्री से बात कर पत्रकार को बेहतर ईलाज व्यवस्था करने की मांग की। मंत्री ने हर संभव उपाय का भरोसा भी दिलाया लेकिन नतीजा सिफर रहा।

उसके बाद झारखंड जर्नलिस्ट एसोशिएसन ने अपने स्तर से सदस्यों के बीच आपसी चंदा कर अब तक करीब 27 हजार की मदद की गई है।

एसोशिएसन के अध्यक्ष शहनवाज ने हजारीबाग के संगठन सदस्यों का विशेष रूप से आभार जताया है, जिन्होंने मालाकार सरीखे पत्रकार साथी की समय रहते सहायता की। साथ ही, उन्होंने चतरा के जितेंद्र तिवारी जी के प्रयास से कई समाजसेवियों द्वारा सहायता राशि प्रदान करने की भी सराहना की है।

लेकिन, पत्रकार उपेन्द्रनाथ मालाकार के प्रति सबसे पीड़ादायक पहलु यह है कि उन्होंने जिस अखबार के लिये करीब ढेड़ दशक से अपना खून-पसीना बहाते आ रहे हैं, उस अखबार के धनाठ्य मालिक-प्रबंधन-संपादक ने अब तक रती भर भी सुध नहीं ली है।

Share Button

Relate Newss:

 इस सरकार-शासन प्रेमी कथित जर्नलिस्ट की पोस्ट से उभरे सबाल, राजगीर में कौन-कितने चिरकुट पत्रकार ! 
कशिश से यूं हटाये गये गंगेश गुंजन
मैग्सेस पुरस्कार पाने वाले 11वें भारतीय हैं रवीश कुमार
दैनिक भास्कर रोहतक के एडीटोरियल हेड जितेंद्र श्रीवास्तव ने ट्रेन से कटकर की आत्महत्या
कहां बिकता है अंग्रेजी दैनिक पायनियर की 52,661 प्रतियां ?
नमो के भाषण पर झुंझलाई दीदी
‘अपराधियों के बाद अब पुलिस-प्रशासन के निशाने पर पत्रकार’
इकॉनॉमिक टाइम्स से दिलीप सी. मंडल की दो शिकायतें
रांची के सन्मार्ग को फिर नए संपादक की तलाश !
समलैंगिकों के अड्डे बन गए हैं मदरसे !
संदर्भ झारखंडः एक राजा था...
'जेटली-बजट' से चाय बागान श्रमिकों में भारी क्षोभ
डीसी, एसपी, महिला आयोग और पत्रकारों ने डुबोई सरायकेला जिले की प्रतिष्ठा
सीएम रघुवर दास के प्रेस सलाहकार की इनोवा छीनी तो हुआ एसआइटी का गठन
40 आईपीएस अफसरों का तबादला, नालंदा समेत 18 जिलों के एसपी बदले गये

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...