सांसद घेरो आंदोलन का मुख्य केंद्र होगा फि़ल्म ‘जियो और जीने दो

Share Button

film5उज्जैन। गौ वंश को राष्ट्रीय पशु घोषित करने की मांग को लेकर अहिंसावादी पार्टी एवं ऑल मीडिया जर्नलिस्ट सोशल वेलफेयर एसोसिएशन द्वारा देशभर में आयोजित होने वाले सांसद घेरो महाअभियान का मुख्य केंद्र गौ हत्या पर आधारित फि़ल्म ‘जियो और जीने दो’ रहेगा।

उक्त जानकारी देते हुए युवा पत्रकार एवं अहिंसावादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव विनायक ए जैन (लुनिया) ने बताया कि सर्वधर्म में सम्मानीय स्थान प्राप्त होने के बावजूद कुछ पैसो के लालची गौ वंश की निर्दायितापूर्वक हत्या कर मांस, चमड़ा, हड्डी एवं खून तक देश विदेश में बेच देते है। जो की राष्ट्रीय अपराध है किन्तु गौ वंश की रक्षार्थ क़ानूनी किताब में कोई ठोस प्रावधान होने के कारण ये अपराधी अपराध मुक्त हो जाते है। हमारे देश के कई सारे राज्यो में गौ हत्या पूर्णत: बंद होने के बावजूद वहां से गाय की तस्करी होकर अन्य राज्यो में कटती है।

श्री विनायक ने बताया की हर मनुष्य गौ माता के दूध का कर्जदार है क्योंकि वह माँ के दूध के बाद गौ माता के दूध पर ही निर्भर होता है एवं धरती पर माँ और गाय दोनों का गर्भकाल 9 माह का होने के कारन गाय को माता का दर्जा दिया गया है।

श्री जैन में आंदोलन के बारे में बताते हुए कहा कि माता की हत्या बच्चे कतई बर्दाश्त नहीं कर सकते।

इस हेतु कानून के दायरे में रहते हुए देशभर के समस्त गौ भक्तों द्वारा सांसद घेरो महाअभियान में देशभर के लोकसभा एवं राज्यसभा सांसदों को लाखो गौ भक्तों की मौजूदगी में अहिंसा रैली के माध्यम से ज्ञापन सौंपा जायेगा।

 उक्त महाअभियान जियो और जीने दो का अमर सन्देश देने वाले भगवन महावीर स्वामी जयन्ती के दिन 20 अप्रैल से प्रारम्भ होकर संसद मानसून सत्र के पूर्व तक चलेगा, जिसमें देशभर के गौभक्तों को एक सूत्र में बाँधने एक मंच सम्बोधन करने का मुख्य कार्य फि़ल्म जियो और जीने दो के द्वारा किया जायेगा।

Share Button

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...