सड़क हादसे का शिकार हुआ आंचलिक पत्रकार, हालत गंभीर, रेफर

Share Button

फ़िलहाल गंभीर रुप से घायल रिपोर्टर राउरकेला नहीं पहुंचे हैं। आगे कितना खर्च आएगा, और पत्रकार का परिवार कितना सामर्थ्य जुटा पाएगा ये तो परिवार वालों से बात करने पर ही पता चलेगा।….”

राजनामा.कॉम। कोल्हान मुख्यालय चाईबासा के मनोहरपुर से एक बुरी खबर आ रही है। जहां दैनिक जागरण अखबार के रिपोर्टर रमेश सिंह की सड़क दुर्घटना में बुरी तरह से घायल होने की सूचना है।

बताया जा रहा है कि रमेश सिंह आज सुबह एक न्यूज़ के संकलन के लिए जा रहे थे, इसी दौरान उनकी गाड़ी स्किट कर गई और वे गिर गए, जिससे उनके सिर और हाथ में गंभीर चोटें आई है।

प्राथमिक उपचार के बाद उनकी स्थिति को देखते हुए उन्हें राउरकेला रेफर कर दिया गया है। समाचार लिखे जाने तक उन्हें अभी होश नहीं आई है, उन्हें एंबुलेंस से सड़क मार्ग से राउरकेला ले जाया जा रहा है। उनके साथ परिवार के सदस्यों के अलावे और भी स्थानीय पत्रकार साथ में है।

चाईबासा प्रशासन पर टिकी आंचलिक पत्रकारों की निगाह

इसी साल फरवरी महीने में पड़ोसी जिला सरायकेला का एक पत्रकार सड़क दुर्घटना में घायल हो गया था, जिसे सरायकेला- खरसावां जिला एवं पुलिस प्रशासन ने अपने दम पर जमशेदपुर के टाटा मुख्य अस्पताल में ईलाज कराकर इतिहास रचते हुए उसे सकुशल घर भेजने का काम किया था।

वैसे जिला एवं पुलिस प्रशासन के साथ रेड क्रॉस ने भी दिन- रात उस पत्रकार की मदद की थी। जिला प्रशासन के इस पहल की पूरे राज्य में काफी चर्चा हुई थी और मीडिया जगत में उनके कार्यों की काफी सराहना भी हुई थी।

वही चाईबासा जिला के भी पत्रकारों की आस अब स्थानीय प्रशासन पर टिक गई है। उनका मानना है कि अगर जिला प्रशासन इस पत्रकार की मदद करें तो निश्चित तौर पर उसकी जान बचाई जा सकती है।

स्थानीय पत्रकारों के हवाले से जैसी सूचनाएं मिल रहीं हैं, उससे तो साफ पता चलता है कि पत्रकार रमेश सिंह की माली हालत ठीक नहीं है।

Share Button

Relate Newss:

Ex. BJP MLA अलोक रंजन पर पत्रकार ने दर्ज कराई मारपीट की FIR
अब मप्र के भाजपा प्रवक्ता ने वरिष्ठ नेता-अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा को बताया नमक हराम
मैक्सिको में 43,200 बार रेप की शिकार युवती ने सुनाई दिल दहला देने वाली आपबीती
हार्ट अटैक से नहीं हुई भास्कर समूह संपादक कल्पेश की मौत, पुलिस मान रही है सुसाइड
नीतीश सरकार को SC की कड़ी फटकार, कल CS को हाजिर होने का आदेश
सत्ता से जाते-जाते मीडिया का मुंह सील गये मुंडा जी !
विकास पर्व में अधिक दिखे स्कूल-कॉलेज की छात्र-छात्राएं
फर्जी शिक्षकों को पटना हाई कोर्ट का ऑफर, 7 दिन में पद छोड़े या अंजाम भुगतें !
 जलना चाहता हूँ मैं तो बनकर इक दिया,देखो अँधेरा जग में कहीं अब रह न जाये
जरुरत है Brand Bihar को बेहद सशक्त करने की
भस्मासूर बने मांझी, मिली पार्टी से निष्कासन की चेतावनी
इतना तो विश्वास है ही...........
भारत रत्न डॉ. अवुल पकीर जैनुलाबदीन अब्दुल कलाम एक युग महापुरुष
सावधान! फर्जी है 'आपका सीएम.कॉम'
नहीं पकड़ा गया ‘रागांग्रावियो घोटाले’ का सरगना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...