संकट में सुबोध, नहीं मान रहे युवराज !

Share Button
Read Time:3 Minute, 55 Second

subodhझारखंड की राजधानी रांची लोकसभा सीट से कांग्रेस के एकलौते सीटिंग सुबोधकांत सहाय संकट में हैं। रांची सीट का टिकट पार्टी के युवराज राहुल गांधी ने अपनी जेब में रख ली है। वे सुबोधकांत को देगें या किसी और को, कुछ नहीं कहा जा सकता। 

पार्टी सूत्रों के आधार पर यहां की मीडिया के कयास है कि क्रिकेटर अजरउद्दीन, अभिनेता राज बब्बर, अभिनेत्री नग्मा या फिर स्थानीय नेता गोपाल साहु पर राहुल मेहरबान हो सकते हैं। फिलहाल गोपाल साहु की संभावना अधिक लग रही है। 

यूपीए की मनमोहन सरकार में मलाईदार मंत्री रहे कैबिनेट मंत्री रहे सुबोधकांत सहाय की रांची से टिकट कटने के कयास काफी पहले से लग रही है।

कहा जाता है कि सुबोधकांत सहाय के कामकाज को लेकर कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी खासे नाराज थे।  कांग्रेस इस बार दागी मंत्रियों और नेताओं को किनारे करना चाहती है।  इसी के तहत सुरेश कलमाडी, पवन बंसल और सुबोधकांत सहाय को टिकट नहीं देने का फैसला किया है।

उल्लेखनीय है कि  कोयला आवंटन में हुई कथित गड़बड़ी में सुबोधकांत सहाय का नाम सुर्खियों में रहा था।  इसके बाद सुबोधकांत को केंद्रीय मंत्री पद से हाथ भी धोना पड़ा था।

हटिया विधानसभा उपचुनाव में सुबोधकांत सहाय को अपने भाई सुनील कुमार सहाय को उम्मीदवार बनाना भी भारी पड़ा।  हटिया में कांग्रेस की जमानत नहीं बची।  प्रदेश कांग्रेस के अंदर खेमेबंदी को लेकर भी आलाकमान ने सुबोधकांत को घेरा है।

और तो और, जब रांची की कांग्रेस समर्थित मेयर रमा खलको से जुड़े ” नोट फॉर वोट” मामले में फंसी तो उसमें सुबोधकांत के करीबियों खासकर उनके भाई सुनील कुमार सहाय के नाम उभर कर सामने आया। इस प्रकरण में पार्टी सुबोधकांत की भूमिका को भी काफी गंभीरता से लेकर चल रही है।

कांग्रेस से टिकट न मिलने की हालत में आजसू के चुनाव चिन्ह पर मैदान मारने की खबरें आने से साफ स्पष्ट होता है कि सुबोधकांत सहाय को अनहोनी की आशंका पहले से ही है। फिर भी वे अपने समूचे लाव-लश्कर के साथ नई दिल्ली में  राहुल गांधी की जेब से अपना टिकट निकलवाने के लिये हाथ-पैर मार रहे हैं। 

जानकारों के अनुसार वे अपने इस मुहिम में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी तक क्षमा याचना कर चुके हैं। लेकिन उन्होंने भी राहुल गांधी का हवाला देकर टरका दिया है। 

अब देखना है कि सुबोध राहुल की जेब से अपना टिकट निकाल पाने में सफल हो पाते हैं या नहीं। येन केन प्रक्रेरेण यदि वे हो भी गये तो पहली सूची से नाम गायब होने के बाद हुई अपनी तार-तार छवि के बल क्या गुल खिलायेगें, यह तो अल्लाह ही जाने।  ………..मुकेश भारतीय 

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

बिल्डर अनिल सिंह: हरि अनंत हरि कथा अनंता!
बालू माफियाओं पर गरमी, पत्थर माफियाओं पर नरमी,आखिर क्या है राज!
अलग झारखंड के अगुआ शिबू सोरेन बीमार, मेदांता में भर्ती
मशहूर सिने-टीवी लेखक धनंजय कुमार की 'नीरज प्रताड़ना' पर दो टूकः आत्ममुग्ध नीतीश बाबू के सुशासन में प...
भाजपा संसदीय बोर्ड की समीक्षाः बिहार चुनाव गणित सुलझाने में कमजोर निकले दिग्गज
अब इस रिपोर्टर का कौन सा ईलाज करेंगे नालंदा एसपी !
युवा समाजसेवी पत्रकार अमित टोपनो की हत्या के विरोध में निकला कैंडल मार्च
सेलरी नहीं मिलने से क्षुब्ध ड्राइवर ने  'इंडिया न्यूज' चैनल के मालिक को 'ठोंक' दिया !
सीबीआई कॉन्फ्रेंस में बोले मोदी, भ्रष्टाचार के खिलाफ होगी निर्मम कार्रवाई
झारखण्ड भाजपा के लिए नेतृत्व का गंभीर संकट
महापाप का ब्यूरोक्रेट्स कनेक्शन, कहीं नवरुणा केस में भी ब्रजेश ठाकुर संलिप्त तो नहीं
ईटीवी ग्रुप ने लॉन्‍च किए चार नए मनोरंजन चैनल
विनय हत्याकांड में आया नया मोड़, शक के घेरे में अब लेडी टीचर !
'ईटीवी' की रिलाचिंग की तैयारी, 'ईटीवी भारत' होगा सेटेलाइट चैनल
हिंदी पाक्षिक "बदलता बिहार झारखंड" का लोकार्पण
दैनिक जागरण के स्थानीय संवाददाता हैं होटल मालिक बब्लु सिंह
लिव इन रिलेशन छाप पत्रकार और महिला ने सड़क पर की यूं बड़ी नौटंकी  
आई-नेक्स्ट की गंदगी सुनाते सुनाते रो पड़ीं प्रतिमा  भार्गव
अमित शाह फिर बने भाजपा के कमांडर
रीगा विधायक के भाई की है सेलीब्रेट लेडीज मनीषा के साथ बरामद पेजेरो कार
पीएम मोदी को बोलने की तमीज सीखना चाहियेः राहुल गांधी
हे मां लक्ष्मी🙏  इस धनतेरस व दिवाली को मेरे घर मत आना✍
न्यूज 11 के मालिक अरुप चटर्जी पर गर्ल्स हॉस्टल संचालिका को ब्लैकमेलिंग का एफआईआर
रांची सांसद ने रघु'राज में जारी ट्रांसफर-पोस्टिंग कारोबार पर उठाए सवाल
राहुल गांधी के बाद कांग्रेस का टि्वटर अकाउंट भी हैक, किए गंदे ट्वीट्स

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...