विधायक, सेल्फी और दैनिक प्रभात खबर की पत्रकारिता

Share Button
Read Time:3 Minute, 52 Second

रांची (मुकेश भारतीय)। सब अखबार की अपनी-अपनी सोच होती है। खास कर उससे जुड़े समाचार लेखक और संपादकों की। दैनिक प्रभात खबर पर टारगेट जर्नलिज्म के आरोप लगते रहे हैं। कई ऐसे उदाहरण सामने आये हैं, जोकि अखबार की मानसिकता पर कड़े सबाल उठाते हैं। यही कारण है कि अखबार नहीं आंदोलन का दंभ भरने वाली इस अखबार के प्रसार-प्रतिष्ठा में तेजी से गिरावट आई है।

दैनिक प्रभात खबर के 20 जनवरी (रांची संस्करण) के प्रथम पेज पर “ गौर से देखिये, साथी का शव लेकर जा रहे हैं ये? ” शीर्षक से लीड न्यूज प्रकाशित किया गया है। रोजमर्रा की जिंदगी की घटनाओं पर आधारित फोटो लेकर प्रमुख समाचार प्रकाशित करना संपादक की मानसिकता पर निर्भर करता है।

फोटो में नजर आ रहे एक युवा विधायक (झामुमो के सिल्ली विधायक अमित महतो) ने फेसबुक पर गंभीर टिप्पणी की है, जो प्रभात खबर की पत्रकारिता को आयना दिखाता है।

विधायक ने अपनी फेसबुक वाल पर लिखा है....

“दैनिक अखबार प्रभात खबर के पत्रकार साथियों एवं सम्पादक महोदय, यह भी सेल्फी की ही तस्वीरें हैं, सेल्फी लेने का ये आशय यह नहीं होता है कि सिर्फ सुखद क्षणों को ही कैमरे में कैद किया जाना, बल्कि दुःखद क्षण भी शामिल होते हैं महोदय, चेहरे के भाव को समझिए, मेरी इच्छा थी कि मैं अलग झारखंड राज्य के क्रांतिकारी योद्धा व साथी श्री अनिल दा के अंतिम यात्रा के पलों की कुछ तस्वीरें कैद कर लूँ!

तस्वीरें मैं इसलिए शेयर करता हूँ कि लोग मेरी गतिविधियों को जान पाएँ, परन्तु आपकी नजरीये को देख मुझे काफी ताज्जुब हुआ, पिछले 17 वर्षों के राजनीतिक सफर में कभी भी आपने कोई जगह नहीं दिया और अचानक दिया तो महामहिम राष्ट्रपति, श्री प्रणव मुखर्जी, माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी से उपर!

माँ ने अहले सुबह अखबार दिखाया और कहा अमित दाल में काला है, मैंने देखा तो कहा काला में दाल है माँ, Paid News मत बनाइए, मेरी बुराईयों की तलाश करें, क्योंकि मुझे मालूम हो चुका है कि मेरी अच्छाइयां आपलोगों से देखी……… जाती, रिक्त स्थान को झारखण्डी जनता भरेगी,सधन्यवाद ”

अपने फेसबुक वाल पर अपनी पोस्ट के साथ अनेक सेल्फी फोटों भी डाले हैं, जिसे देखकर प्रतीत होता है कि वे अखबार को चिढ़ा रहे हैं कि लो, और लो। जितना छापना है छाप लो।

उल्लेखनीय है कि झामुमो के युवा विधायक डॉ अनिल मुर्मु को लो ब्लड प्रेशर के बाद गंभीर स्थिति में दुमका सदर अस्पताल भर्ती कराया गया था, जहां डॉक्टरों की टीम उन्हें मृत घोषित कर दिया था। उसके उपरांत उनके शव को झारखंड विधान सभा एवं झामुमो पार्टी कार्यालय में श्रद्दाजंलि देने हेतु दुमका से रांचा लाया गया था।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

नीतीश कुमार को बिहार विधानसभा में विश्वास मत हासिल
रांची पुलिस की गुंडई, देखिये फोटोग्राफर के बाईक को कैसे तोड़ा!
मोदी और शरीफ के बीच काठमांडू में हुई थी गुप्त बैठक
सुर्खियों में हैं बिहार कैडर के IPS अमित लोढा की पुस्तक ‘बिहार डायरीज’
पत्रकारिता-समाज सेवा सीखनी हो तो मुजफ्फरपुर में आनंद दत्ता से सीखिए !
पूर्व शिक्षा मंत्री एवं लेखक-पत्रकार सुरेन्द्र प्रसाद तरुण का निधन
खोखला है मोदी का 56 ईंच का सीनाः सोनिया
महिषी के उग्रतारा मंदिर की 300 साल परंपरा टूटी, बिना मदिरा हुई निशा पूजा
.....तो भारत के लोग सिर्फ उड़ ही रहे होते !
सीओ, बीडीओ, थाना प्रभारी, समाजसेवी और पत्रकार ने एनएचएआई के दावे को किया खारिज
इस लॉटरी अर्थव्यवस्था का माई बाप कौन? PayTMPM या FMCorporate ?
भगवान बिरसा जैविक उद्दान में लूट का आलमः खा गए मछली , डकार लिए घर
अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा का कठिन जापान दौरा
कोर्ट का आदेश भी रांची नगर निगम के पूर्व CEO मनोज कुमार के ठेगें पर !
उस महिला का गर्भपात की पुष्टि, कोडरमा घाटी में जिस अज्ञात महिला का मिला था शव
40 आईपीएस अफसरों का तबादला, नालंदा समेत 18 जिलों के एसपी बदले गये
बिहार में बच्चों की मौत पर रिपोर्टिंग करती टीवी पत्रकारिता को टेटनस हो गया है, टेटभैक का इंजेक्शन भी...
जेल मैन्युअल की ऐसी तैसी !
विकास पर्व के बहाने अपनी पकड़ साबित करने की तैयारी
पुलिस-प्रशासन ने दी केस की धमकी, फिर भी चालू न हो सका राजगीर का रज्जू मार्ग
एडीजी अनुराग गुप्ता के खिलाफ हेमंत सोरेन ने की एसटीएसी थाना में मुकदमा
सड़क पर गजराज, समझिये इनके गुस्से
गोड्डाः  सरकारी पुल निर्माण में बाल श्रम कानून की उड़ रही धज्जियां
भारत का फलता-फूलता मुकदमेबाजी उद्योग
सेना की मनमानी से त्रस्त ग्रामीणों की सीएम से गुहार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...