विधान परिषद चुनाव से ‘नमो राग’ पर सवाल

Share Button

biharराजनामा.कॉम। बिहार में पिछले दिन आठ विधान परिषद के चुनाव परिणाम ने एक बार फिर भाजपा के नमो-नमो राग पर सवाल खड़े कर दिये है। लोकसभा चुनाव से ठीक पहले हुए इस चुनाव में जद यू और भाकपा गठबंधन को तीन, भाजपा को दो, कांग्रेस औऱ राजद गठबंधन को दो और निर्दलीय एक सीट पर विजय हासिल किया है।

सबसे चौकाने वाली बात यह रही है कि इस चुनाव में आठ में पांच सीट पर भाजपा तीसरे स्थान पर रहा है। इस चुनाव में वोटर वे लोग हैं….जो सबसे नमो नमो की अधिक राग आलापते देखे जाते हैं। ग्रेजुएट छात्र और टीचर इस चुनाव के वोटर हैं।

सबसे चौकाने वाला चुनाव परिणाम मिथिलाचल और मुजफ्फपुर का रहा। दरभंगा शिक्षक और स्नातक दोनों सीट पर कांग्रेस का कब्जा हुआ। भाजपा उम्मीदवार स्नातक वाले में लड़ाई में भी नही रहे। कांग्रेस के विजय दोनों उम्मीदवार ब्रह्राण है,जो आजकल सबसे अधिक नमो नमो करते है।

मुजफ्फपुर स्नातक से निर्दलीय देवेश चन्द्र ठाकुर पानी की तरह पैसा बहाने के बावजूद बड़ी मुश्किल से चुनाव जीत पाये। उन्हे राजद का नवयुवक प्रणव कुमार जिसको किसी ने कभी गंभीरता से नहीं लिया उसने जबरदस्त टक्कर दिया।

वहीं, टीचर वाले सीट में लगातार 18 वर्ष से जीत रहे भाजपा के प्रत्य़ाशी को भाकपा ने हराया है। अधिकांश सीटों पर राजद दूसरे स्थान पर रहा है। जिन दो सीटों पर भाजपा चुनाव जीता है पटना टीचर सीट। यहां से नवल किशोर यादव की लगातार चौथी जीत है। वे पाटलिपुत्रा से चुनाव लड़ने के लिए एक माह पहले राजद छोड़कर भाजपा में शामिल हुए थे लेकिन, महज चार दिन पहले राजद से भाजपा की शरण में आये रामकृपाल यादव टिकट ले उड़े।

वहीं स्थिति कोसी स्नातक से चुनाव जीते भाजपा प्रत्य़ाशी एनके यादव का है। ये अपनी पार्टी से कही अधिक राजद के परम्परागत वोट से चुनाव जीते हैं।

बिहार में आठ विधान परिषद के चुनाव जीतने वाले निम्न उम्मीवारों ने जीत दर्ज की है।

1. पटना टीचर —नवल किशोर यादव (भाजपा)

2. पटना स्नातक—नीरज सिंह (जदयू)

3. दरभंगा टीचर–मदन मोहन झा (कांग्रेस)

4. दरभंगा स्नातक—दिलीप चौधरी (कांग्रेस)

5. कोसी–एन0के0 यादव (भाजपा)

6. तिरहुत टीचर–संजय कुमार सिंह (भाकपा)

7. तिरहुत स्नातक–देवेश चन्द्र ठाकुर (निर्दलीय)

8. सारण–केदार पांडेय (भाकपा)

विशेषज्ञों की राय में बिहार में इन आठ विधान परिषद के चुनाव परिणाम लोकसभा के बनते-बिगड़ते सामीकरण के साफ संकेत देते हैं।

Share Button

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.