विज्ञापन से सब नपे, नपे चैनल-अखबार

Share Button
वरिष्ठ लेखक-पत्रकार कृष्ण बिहारी मिश्र अपने फेसबुक वाल पर……

ग्लोबल इनवेस्टर्स समिट की, चर्चा है चहुंओर।
नेता – अधिकारी बने, देखो माखनचोर।।
विज्ञापन से सब नपे, नपे चैनल-अखबार।
गिफ्ट-रुपये से नपे, नपे संपादक-पत्रकार।।
सागर पवित्र स्नान को, जब मन करे ललचाय।
पूंजीपति-राजनीतिबाज को, चले सब माथ नवाय।।
कनफूंकवों की चल बनी, ईमानदार बौराए।
रघुवर के अरे राज में, अर्जुन तीर चलाए।।
सीएस के आगे डायरेक्टर, पीआरडी शीश नवाए।
जैसे-जैसे वे कहे, वैसे ही वह करते जाये।।
किसी की भी ना सुने, सिर्फ सुने वह कान लगाये।
सीएस की ही चाकरी, दिन-रात करत बिताये।।
सीएस की ही ब्रांडिंग, हो रही अखबार में आज।
पीछे हो गये सीएम, अब सीएस चलाये राज।।
कल तक पीएम को भूलो, अब पीएम को करो याद।
आनन-फानन में मोदी, अब पोस्टर दिखलाय।।
पूरे विश्व में हाथी, केवल झारखण्ड में भाई।
पूंछ उठाकर- सूड़ हिलाकर, दीखे गगन-उड़ाई।।
हा-हा करती जनता बोले, ये क्या चक्कर भाई।
क्या हाथी उड़ा है अब तक, जो सरकार दिखाई।।
क्या हुआ झारखण्ड को, जनता करे सवाल।
रघुवर जी मेरी सुनो, सुनो तुम कान लगाये।।
हमें नहीं दिलचस्पी, इस समिट में यार।
जो वादे तुम हमें किये, पूरी करो ध्यान लगाये।।
(ध्यान रखें – इस दोहे को हृदय से, मन लगाकर पढ़ने से, सीएम के आस-पास रहनेवाले कनफूंकवें, भ्रष्ट अधिकारी व ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट से अनुप्राणित होनेवाले जीवात्मा प्रसन्न होते है तथा आप अंत में, परम आनन्द को प्राप्त करते हुए रघुवर लोक में पहुंच जाते है। – कृष्ण बिहारी मिश्र)

Share Button

Relate Newss:

न्यूज़ रूम में अब पीएमओ से फोन पर निर्देश आते हैं : पुण्य प्रसून वाजपेयी
संदर्भ पीपरा चौड़ा कांडः बाहरी और भीतरी के आगोश में झारखंड
अंततः पकड़े गये लाइव इंडिया के चेयरमैन महेश मोटेवार
मुरादाबाद  में जलती चिता से शव के मांस खाते युवक धराया
टाटा स्टील के मजदूर से सीएम बने हैं रघुवर दास !
आपस में भिड़े नक्सली, 16 की मौत, थाना छोड़ भागी पुलिस
आर्गेनाइजर ने लिखा, हिंदू विरोधी हैं FTII प्रदर्शनकारी छात्र !
बच्चे फेल नहीं हुए, आपका सिस्टम फेल हुआ साहब
'माई के तिलाक होखे कि फेर से चुनाव लड़ीं' !
मीडिया से ही कमीशन वसूल रहे हैं भाजपा वाले !
भाजपा के आईटी विंग का फर्जी फेसबुक आईडी से बदनाम करने का प्रयास !
उमा भारती की चुनौती, विदेशी शराब पर प्रतिबंध लगाएं नीतीश कुमार
सुशासन बाबू के गांव के सामने राजगीर पैसेंजर ट्रेन में गोलाबारी, एक की मौत
भाजपा ने 'स्वाभिमान रैली' को 'अपमान रैली' बताया
नोटबंदी को लेकर मोदी सरकार से कुछ सवाल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...