विज्ञापन से सब नपे, नपे चैनल-अखबार

Share Button
वरिष्ठ लेखक-पत्रकार कृष्ण बिहारी मिश्र अपने फेसबुक वाल पर……

ग्लोबल इनवेस्टर्स समिट की, चर्चा है चहुंओर।
नेता – अधिकारी बने, देखो माखनचोर।।
विज्ञापन से सब नपे, नपे चैनल-अखबार।
गिफ्ट-रुपये से नपे, नपे संपादक-पत्रकार।।
सागर पवित्र स्नान को, जब मन करे ललचाय।
पूंजीपति-राजनीतिबाज को, चले सब माथ नवाय।।
कनफूंकवों की चल बनी, ईमानदार बौराए।
रघुवर के अरे राज में, अर्जुन तीर चलाए।।
सीएस के आगे डायरेक्टर, पीआरडी शीश नवाए।
जैसे-जैसे वे कहे, वैसे ही वह करते जाये।।
किसी की भी ना सुने, सिर्फ सुने वह कान लगाये।
सीएस की ही चाकरी, दिन-रात करत बिताये।।
सीएस की ही ब्रांडिंग, हो रही अखबार में आज।
पीछे हो गये सीएम, अब सीएस चलाये राज।।
कल तक पीएम को भूलो, अब पीएम को करो याद।
आनन-फानन में मोदी, अब पोस्टर दिखलाय।।
पूरे विश्व में हाथी, केवल झारखण्ड में भाई।
पूंछ उठाकर- सूड़ हिलाकर, दीखे गगन-उड़ाई।।
हा-हा करती जनता बोले, ये क्या चक्कर भाई।
क्या हाथी उड़ा है अब तक, जो सरकार दिखाई।।
क्या हुआ झारखण्ड को, जनता करे सवाल।
रघुवर जी मेरी सुनो, सुनो तुम कान लगाये।।
हमें नहीं दिलचस्पी, इस समिट में यार।
जो वादे तुम हमें किये, पूरी करो ध्यान लगाये।।
(ध्यान रखें – इस दोहे को हृदय से, मन लगाकर पढ़ने से, सीएम के आस-पास रहनेवाले कनफूंकवें, भ्रष्ट अधिकारी व ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट से अनुप्राणित होनेवाले जीवात्मा प्रसन्न होते है तथा आप अंत में, परम आनन्द को प्राप्त करते हुए रघुवर लोक में पहुंच जाते है। – कृष्ण बिहारी मिश्र)

Share Button

Relate Newss:

पाक राजनीति में हुस्न की टॉप10 मल्लिकायें
अखिलेश सरकार के लिये बड़ी नसीहत यादव सिंह प्रकरण
एसएसपी ने बाहूबली को दी अखबार पर केस करने की सलाह !
वरिष्ठ पत्रकार कृष्ण बिहारी मिश्र ने अपनी पोस्ट के आलोचको को यूं दिया करारा जवाब
निलंबित विधायक पर बोले नीतिश, कानून से उपर कोई नहीं
बलात्कारियों के भी समर्थक हैं चंदन मित्रा
हाय री रघु'राज, बिजली विभाग ने वैज्ञानिक सर जगदीश चंद्र बोस से मांगा 1 लाख रुपए का बिल
महज 500 से रिस्क फ्री लाखों का धंधा करना हो तो दरभंगा में खोल लीजिये लोकल चैनल!
पूर्व भाजपा सांसद शहनवाज हुसैन से कुख्यात शहाबुद्दीन के रहे हैं गहरे ताल्लुकात
दैनिक 'हिन्दुस्तान' का देखिए फिर कमाल!
जन लोकपाल पर बहस से भाग रही है मीडिया
रघुबर जी, शराबबंदी को लेकर अपनी बाट न लगाईए
मप्र किसान उग्र आंदोलन में ABP न्यूज के पत्रकार पर हमला...
स्वतंत्र मित्रा को समाचार प्लस में मिला भारी भरकम पद
अख़बारों से लुप्त होते सामाजिक सरोकार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...