वायरल ऑडियो से उभरे सबालः कौन है मुन्ना मल्लिक? कौन है साहब? राजगीर MLA की क्या है बिसात?

Share Button
Read Time:5 Minute, 30 Second

नालंदा (न्यूज डेस्क)। नालंदा जिले में नगर पंचायत चुनाव हर दृष्टिकोण काफी मायने रखते हैं। चुनाव पूर्व अब तक जिस तरह के संकेत मिल रहे हैं, वे स्पष्ट करते हैं कि इस बार यहां का चुनाव परिणाम काफी चौंकाने वाले होगें। पिछले चुनाव के समय प्रांत में भाजपा-जदयू की राजग सरकार थी और इस बार चिर प्रतिद्वंदीं रहे राजद-जद(यू) महागठबंधन की।

राजगीर के जदयू विधायक रवि ज्योति की फाईल फोटो
सिलाव नगर पंचायत के वार्ड 11 के चर्चित प्रत्याशी मुन्ना मल्लिक

आम तौर पर भले हीं विधायक या सांसद लोग इस तीसरी सरकार के चुनाव से अलग रहने की बात करते हों लेकिन, उनकी गतविधियां एकमात्र लक्ष्य में छुपी होती है कि क्षेत्र में उनके करीबी समर्थक ही अधिक से अधिक संख्या में अपनी नैया पार लगायें। ताकि तीसरी सरकार में भी उनके दबदबे कायम रहे।

बहरहाल, हमारी न्यूज टीम के पास को सोशल माईक्रो मीडिया के जरिये एक ऑडियो रिकार्डिंग प्राप्त हुई है। जाहिर है कि इस ऑडियो को चुनाव के दौरान हुई नीजि बातचीत को या तो विधायक ने वायरल किया है या फिर मुन्ना मल्लिक ने।

इस रिकार्डिंग से साफ है कि सिलाव नगर पंचायत के वार्ड 11 से चुनाव लड़ रहे मुन्ना मल्लिक विधायक की भूमिका पर सबाल उठा रहा है और रवि ज्योति सरीखे विधायक हर बात की सफाई दे रहे हैं।

इस वार्ड से मुन्ना मल्लिक का सीधा मुकाबला अतीकुरहमान उर्फ गजनी से होने संभावना जताई जा रही है, जिसका जिक्र ऑडियो क्लिप में साफ तौर पर है।

ऑडियो की बात-चीत में साफ जिक्र है कि चर्चित मुन्ना मल्लिक को इस बार वार्ड चुनाव लड़ने का कोई ईरादा नहीं था लेकिन, किसी ‘साहब’ के कहने पर वह चुनाव लड़ने को मुश्किल से राजी हुआ है। अब वो साहब कौन है? राम जाने। सीएम नीतिश जी तो हो नहीं सकते। हां, नालंदा के शासन-प्रशासन और राजनीति में दबदबा रखने वाले सांसद या मंत्री को हर कोई साहेब का तमगा पहनाये जरुर हैं। सभंव है कि बातचीत में वैसे ही किसी ‘साहब’ का उल्लेख हो रहा है।

उल्लेखनीय है कि अधिसूचित क्षेत्र समिति से लेकर नगर पंचायत में अब तक येन-केन-प्रक्रेरेण मुन्ना मल्लिक का ही दबदबा रहा है। इस बार भी उसका हरसंभव प्रयास है कि कायम दबदबा बरकरार रहे।

सुनिये ऑडियोः सिलाव के एक वार्ड प्रत्याशी मुन्ना मल्लिक और राजगीर के विधायक रवि ज्योति की बातचीत की ऑडियो सुनने के लिये क्लिक करें…..

इस ऑडियो सुनने के बाद नालंदा से ही जुड़े एक वरिष्ठ पत्रकार ने व्हाट्सएप्प पर लिखा है कि “मुन्ना मल्लिक प्रकरण-विधायक रवि ज्योति और मुन्ना मल्लिक के बीच के ऑडियो टेप में जिस साहब को आधार बनाया गया वो साहेब जेल में जाकर मुन्ना मल्लिक बातचीत किए हैं?  ऑडियो टेप में ऐसा हो सुनाई पड़ रहा है।

ऐसी स्थिति में यह पता करना जरूरी है कि नामांकन करने से पहले मुन्ना मल्लिक जेल में था ? अगर था तो जेल मे उनसे कौन-कौन ‘साहब’ भेंट करने गया था। भेंट करने वालों में साहेब कौन हो सकता है?

अगर यह सच है तो जेल से चुनावी तिकड़म तैयार करना कहीं से भी उचित प्रतीत नहीं होता। ऐसी स्थिति में यह ऑडियो टेप नीतीश सरकार पर विपक्षी द्वारा लगाए जा रहे नेता-अपराधी गठजोड़ की पुष्टि करने के लिए काफी है।”

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

झारखंड जर्नलिस्ट एशोसिएशन के अध्यक्ष पर सचिव ने लगाये गंभीर आरोप
अंततः भाजपा ने रघुवर दास को सौंपी झारखंड की कमान
दैनिक भास्कर ग्रुप से कार्यमुक्त निदेशक अब चलाएंगे वेबसाइट
कानून यशवंत सिन्हा की रखैल नहीं है आडवाणी जी
पत्रकार प्रशांत कनौजिया के मामले में सुप्रीम कोर्ट की कड़ी फटकार, तुरंत रिहा करे योगी सरकार
पत्रकार पुत्र की निर्मम हत्या की कड़ी निंदा, डीजीपी गंभीर, भेजी उच्चस्तरीय जांच टीम
अब असम के राज्यपाल बौराए, कहा- सिर्फ हिन्दुओं का है हिन्दुस्तान
वाह री नालंदा पुलिस ! साजिशन हमले के शिकार पत्रकार को ही बना डाला मुख्य आरोपी
राजस्थान के ‘दुर्ग’ को पटना SC-ST कोर्ट से यूं मिली बेल
बिहार सरकार के सचिव ने दैनिक जागरण के मुंगेर संस्करण का दिया जांच का आदेश
बिना प्रशासनिक सहभागिता संभव नहीं है सोशल मीडिया पर नजर
ओम थानवी बने केजरीवाल सरकार विज्ञापन निरानी समिति के अध्यक्ष
दैनिक ‘तरुणमित्र’ मचा रहा बिहार में तहलका !
इंडियन जर्नलिस्ट एसोसियन द्वारा पत्रकार को झूठे मुकदमा में फंसाने की निंदा
महंगा पड़ा फेसबुक पर शराब की बोतल संग फोटो पोस्ट, 4 समेत पहुंचा जेल
पूर्व-ब्यूरो चीफ के बीच आफिस में मारपीट के बाद काउंटर एफआईआर!
मुख्यमंत्री जनसंवाद 181 ने भी नहीं ली इस अमानवीयता की सुध !
बहुमत साबित करने तक फैसले न लें मांझी : हाई कोर्ट
बिहारी बाबू ने पीएम मोदी को दी सलाह, न छेड़ें बिहारी अस्मिता
सीएम रघुवर दास के बेटे के कथित 'SEX AUDIO' -3
चाऊ एन लाई द्वारा प्रदत्त बौद्ध ग्रंथ त्रिपिटक को देख अह्लादित हुए चीनी पत्रकार दल   
जेल से छूटते ही बंजारा बोले, 'आ गए अच्छे दिन'
इंडिया टीवी की यह कौन सी जर्नलिज्म है अमित शाह जी ?
भोपाल मुठभेड़ की जांच से शिवराज सरकार का साफ इन्कार
केंद्रीय मंत्री नकवी ने आदिवासी घर भोजन किया, लेकिन सब कुछ बाहर से मंगवाया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...