लिव इन रिलेशन छाप पत्रकार और महिला ने सड़क पर की यूं बड़ी नौटंकी  

Share Button
Read Time:1 Minute, 18 Second

राज़नामा डेस्क।  राजधानी पटना के कोतवाली थानातंर्गत हाई कोर्ट गेट नंबर एक के पास उस समय एक बड़ी नौटंकी देखने को मिली, जब एक महिला ने एक व्यक्ति पर आरोप लगाया कि यह खुद को पत्रकार कहता है और दो साल से उसके साथ लिव इन रिलेशनशिप में रहा है।   

इसके बाद महिला ने आगे बताया कि जब उलने जाना कि वह शादीशुदा है तो मुझे बोलने लगा कि हमारे साथ सिर्फ लिव इन रिलेशनशिप में रहना चाहता है।

दूसरी ओर पुरुष का कहना था कि वह पेशे से पत्रकार है। उसे वह महिला फंसा रही है। लेकिन मौके पर मौजूद लोगों का कहना है कि स्कूटी सवार इस व्यक्ति ने महिला के साथ मारपीट किया।

युवती अनीसाबाद की रहने वाली और पुरुष बेउर जेल के पास रहने वाला जाता है। मौके पर पहुंची कोतवाली पुलिस दोनों को ले थाने गई। कहा जाता है कि वहां भी जमकर हाई वोल्टेज ड्रामा हुआ।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

चैनल-कर्मियों को वेतन नहीं, कंपनी खोल रहा है होटल
...तो इसलिये तनाव और मानसिक पीड़ा में थे कशिश के रिपोर्टर संतोष सिंह
पत्रिका खोल रही पोलः भास्कर ने खाया 765 करोड़ का कोयला
शोसल मीडिया पर तेजप्रताप की ‘फुनुआ’ की खूब हो रही चर्चा
बिल्डर की दंबगई पर दैनिक भास्कर का "खेला"
एडिटर-रिपोर्टर के बीच सहमति और स्पष्टता के लिए जरुरी है परस्पर संवाद
अजीत जोगी ने  किया इंडियन एक्सप्रेस के उपर मानहानि का मुकदमा
हजारीबाग पुलिस के रडार पर हैं कांग्रेस विधायक निर्मला देवी
बिहार पुलिस मेंस एसोसिएशन के अध्यक्ष निर्मल सिंह शराब पीते धराये, गये जेल
अब असम के राज्यपाल बौराए, कहा- सिर्फ हिन्दुओं का है हिन्दुस्तान
पीएम के ‘मन की बात' के जवाब में राजद का ‘काम की बात' !
....और एक-एक पत्रकार को यूं नंगा कर डाले कृष्ण बिहारी मिश्र !
नीतिश के गृह क्षेत्र में नवनिर्वाचित महिला मुखिया की हत्या
सुर्खियों में हैं बिहार कैडर के IPS अमित लोढा की पुस्तक ‘बिहार डायरीज’
चुनाव हारने के बाद रोते हुए फर्श पर गिर पड़े थे केजरीवाल !
आसान नहीं है मीडिया का सामना करना :अमिताभ बच्चन
नहीं रहे दैनिक भास्कर के ग्रुप एडिटर कल्पेश याग्निक, हार्ट अटैक से मौत
'महापाप की कवरेज' पर बोले मी लार्डः ‘मीडिया की आजादी के खिलाफ नही हैं हम’
.....और यूं 4 माह बाद जेल से बाहर निकले पत्रकार वीरेंद्र मंडल व उनके पिता
बिल्डर अनिल सिंह केबहुत ऊंचे हैं राजनीतिक कनेक्शन
स्थानीय नीति और सीएनटी एक्ट में बदलाव स्वीकार्य नहीं
420 के फंदे में फंसे दैनिक जागरण के 17 निदेशक-संपादक
मोदी मंत्रिमंडलः भाजपा को मलाई, औरों को मिली छाछ
डीएसपी के झांसे में नहीं आए पत्रकार, आमरण अनशन जारी
भाजपा का चुनावी झंडा ढो रहा है झारखंड सरकार का लापता सचिव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...