लफुआ, लम्पट, पत्रकार और मैनेजमेंट !

Share Button

पत्रकारों का इस्तेमाल लोकल लफुए और लफंगे अपना असर बढ़ाने में करते हैं। अनपढ़ पत्रकार लोकल लफुओं को माफिया घोषित करते हैं और मुलायम या लालू टाइप नेता लफुओं का इस्तेमाल करते हैं।

pressइनका इंटव्यू करके पत्रकार को लगता है, बड़ा तीर मार लिया। वो गधा नहीं समझ पाता कि सनसनीखेज खबर बनाने के चक्कर में वो खुद कैसे इस्तेमाल हो रहा है और एक लफुए को भइया भइया कहते कितना दयनीय दिख रहा है।

डरे हुए गुलाम मानसिकता वाले समाज में गुरु, मौलाना से लेकर आइ एस आइ तक इन लफंगों का कनेक्शन बनते देर नहीं लगती।

सब उन्हें राबिनहुड की छवि देने के लिए बेचैन रहते हैं ताकि विवेक और अंतरात्मा को तिलांजलि देने में शर्म न लगे। इस कड़ी में शहाबुद्दीन, पप्पू यादव, आनंद मोहन, राजा भैया, मुख़्तार अंसारी, सूरजदेव सिंह जैसे सैकड़ो नाम आते जाते रहे हैं।

अब कोई खान मुबारक है- उसे दो चार बंदूकधारी लफुओं के बीच बैठे दिखाया जा रहा है। मूर्ख पत्रकार, ये तो सोच कि तू किसे मजबूत बना रहा है, किसका महिमामंडन कर रहा है ? किसकी रंगदारी दर बढ़ा रहा है ? लानत है उस बुद्धि पर जिसे अपराधियों से सम्बन्ध पर गर्व होता है !   

………वरिष्ठ पत्रकार गुंजन सिन्हा अपने फेसबुक वाल पर।

Share Button

Relate Newss:

नवादा DPRO की दादागिरी, 'डीएम-जेबकतरा' खबर को लेकर 3 पत्रकारों पर बैन
राबड़ी के कटाक्ष ने पहना दी आरएसएस को फुलपैंटः लालू
बरखा दत्‍त ने अरनब गोस्‍वामी से पूछा- मोदी से डरते हो ?
भ्रष्ट बीडीओ की गिरफ्तारी का मामला खोल रही रघु’राज की जीरो टालरेंस की पोल !   
यूपी के एडीजी की पत्नी ने IAS की कुर्सी को बनाया मजाक !
महिषी के उग्रतारा मंदिर की 300 साल परंपरा टूटी, बिना मदिरा हुई निशा पूजा
'इकोनॉमिस्ट' ने नोटबंदी को बताया अधकचरा कदम
पुलिस का दलाल बन वसूली करने वाला कथित पत्रकार समेत दारोगा धराया, गया जेल
राजनीतिक प्रदूषण के बावजूद कांग्रेस और भाजपा में ही टक्कर
'इंडियाज डॉटर' के जबाव में 'युनाइटेड किंग्डम्स डॉटर'
राजगीर में अराजकता, पार्श्व नाथ की मूर्ति तोड़ा
प्रवीण अमानुल्ला को बेनकाब करेगा नागरिक अधिकार मंच
बसपा के अभद्र नारों की हो रही चौरतफ़ा आलोचना
सेलरी नहीं दे सकते तो बंद करो अपनी ठगी और गोरखधंधे की दुकान
रांची प्रेस क्लब चुनावः क्या आप ऐसे लोगो को वोट देंगे? जो.....

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...