लखन सिंह की फरारी के दलदल में फंसी रांची पुलिस महकमा

Share Button

crimeअपराध जगत में तेजी से उभरे कुख्यात शूटर लखन सिंह को गुरुवार को ही  रांची सिविल कोर्ट के बाहर से पकड़ा गया था। तुपुदाना ओपी  के प्रभारी कृष्ण मुरारी अपनी पुलिस टीम के साथ थाना में लाकर बंद कर दिया था। फिर दो दिन के बाद लखन सिंह तुपुदाना ओपी से भाग खड़ा हुआ। 

यह घटनाक्रम रांची पुलिस-तंत्र पर कई सबाल खड़े करते हैं। तुपुदाना पुलिस ने गिरफ्तारी के वक्त दावा किया था कि लखन सिंह के दसमाइल स्थित घर से देसी कट्टा, ऑटोमेटिक पिस्टल, और गोलियां बरामद की गई है। 

सबाल उठता है कि जब गुरुवार की दोपहर ही पुलिस ने लखन सिंह को हिरासत में लिया था तो चौबीस घंटे से अधिक समय बीत जाने के बाबजूद उसे थाने में ही क्यो रखा गया ? शुक्रवार की शाम तुपुदाना ओपी प्रभारी ने मीडिया को बताया था कि उसे कोर्ट में पेश किया जायेगा लेकिन किसके आदेश-कृपा से पुलिस ने उसे कोर्ट में पेश नहीं किया गया ? 

पुष्ट खबर है कि कुख्यात शुटर लखन सिंह के भागने के पहले उसका भाई गेंदा सिंह और प्रवीण एक्का उससे मिलने तुपुदाना ओपी आये थे। पुलिस कहती है कि गेंदा और प्रवीण ने ही लखण को भगाने की शाजिश रची। उसके बाद योजनाबद्ध तरीके से लखन ने शौचालय जाने की बात कही औऱ फिर वहां से भाग खड़ा हुआ।

प्रत्यक्षदर्शियों की माने तो, तुपुदाना ओपी थाना के बाहर बाइक पर गेंदा सिंह ही लखन का इंतजार कर रहा था। वहीं दूसरी बाइक पर एक अन्य युवक प्रवीण एक्का था। रांची, धुर्वा के इंस्पेक्टर बीएन सिंह स्वीकारते हैं कि बालसिरिंग की ओर जाने वाली सड़क के समीप भी लोगों ने लखन सिंह को भागते देखा है।

 लखन सिंह की गिरफ्तारी कोई गोपनीय नहीं रह गई । उसकी गिरफ्तारी की सूचना कुछ देर बाद ही न्यूज चैनलों पर  ब्रेकिंग हो चुकी थी। अगले दिन प्रायः सभी समाचार पत्रों में बड़े-बड़े सुर्खियों में प्रकाशित था। फिर उसके आसानी से भाग जाने के पीछे निचले स्तर पर पुलिस लापरवाही की बात करना समझ से परे है। 

इससे बड़ी गंभीर स्थिति और क्या हो सकती है कि बकौल पुलिस, थाना में दो युवक एक कुख्यात अपराधी को भगाने की शाजिस रचते हैं और भगाने में कामयाब भी हो जाते हैं। 

Share Button

Relate Newss:

इन तीन बड़े मीडिया संगठनों से यूं नाराज है सुप्रीम कोर्ट
चाऊ एन लाई द्वारा प्रदत्त बौद्ध ग्रंथ त्रिपिटक को देख अह्लादित हुए चीनी पत्रकार दल   
संयोग या दुर्योग ? सीपी सिंह पर पड़ ही गया मनोज कुमार का साया !
महागठबंधन के हाथों मिली करारी हार के बाद ब्रिटेन में लगे पोस्टर 'मोदी नॉट वेलकम '
बच्चे फेल नहीं हुए, आपका सिस्टम फेल हुआ साहब
SCRB कार्यशाला सह प्रशिक्षण कार्यक्रम में देखिए कितनी गंभीर हैं पुलिस
फेसबुक पर धमकी को लेकर थाने मेंशिकायत दर्ज
विवादों-सुर्खियों के बीच पुलिस-प्रशासन11 ने पत्रकार11 को रौंदा
ओरमांझी प्रखंड प्रमुख शिवचरण करमाली की सड़क हादसे में दर्दनाक मौत
झारखंड के महामहिम को दुःखी कर गई स्कूल गेट पर बजबजाती नाली
चीनी ऑनलाइन वाणिज्य कंपनी अलीबाबा ने घंटे भर में की 3.9 अरब की शापिंग
जब एक स्थानीय पत्रकार ने गाया 'सवेरे बोले मोरबा,कोरबा छोड़ द बलमा' तो झूम उठे सैनिक
एक और रिकार्ड बनाने से चूक गए मधु कोड़ा !
अरविंद प्रताप को मिला 'नारद मुनि सम्मान'
गुमला में माफियाओं को मिला सोने का खजाना!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...