राजनीतिक अतिवादियों से बच के रहें

Share Button

न्यूज़ चैनल और सोशल मीडिया आपको मानसिक रोगी बना सकते हैं। कल बहुत दिन बाद न्यूज़ चैनल खोला तो अपनी पसंद के अनुरूप ndtv प्राइम टाइम रविश कुमार को देखा। मनोरोग सप्ताह मनाए जाने के दौरान ndtv ने प्राइम टाइम में इसी सब्जेक्ट को चुना। इसी कार्यक्रम में रविश ने बताया कि ताजा शोध के मुताबिक दुनिया भर में न्यूज़ चैनल्स लोगों को मनोरोगी बना रहे हैं।

यही हाल सोशल मीडिया का है। कल का ndtv prime time show आपने मिस किया है तो उसका वीडियो ढूंढ कर ज़रूर देखें। न ढूंढ पाएं तो इस लिंक https://goo.gl/JHyjk3 पर क्लिक करें. इस उन्मादी दौर और दौड़ में अगर आप खुद का धैर्य खोता देख रहे हैं तो कुछ दिन टीवी मोबाइल को अलविदा कह मेरे पास आ जाएं। दोनों भाई गले मिल रोएंगे-गाएंगे।

xxx

अतिवादियों से बच के रहें। खासकर राजनीतिक। जो लोग दिन भर सिर्फ मोदी या केजरी या राहुल या संघ या कम्युनिस्ट या पाकिस्तान या चीन या हिन्दू या मुसलमान विरोधी पोस्ट लिखते रहते हैं, ये भी मनोरोगी हैं। इनसे दूर रहें। इन्हें unfriend करें। ये आपको जबरन मनोरोगी बना रहे हैं।

आपके न चाहते हुए भी आप इनके मनोरोग के वर्तुल में खींचे जा रहे हैं। ये जो उगलते हैं, लगातार, धारा प्रवाह, एक ही सुर में, न चाहते हुए भी आप इन्हें सुनते पढ़ते हैं और चुपचाप इनकी वैचारिक विकृति को कन्सीव करते जाते हैं। ऐसा लगतार होने से आप तटस्थ नहीं रख पाते खुद को और कुछ न कुछ लिख बोल देते हैं।

इस तरह आप अनजाने में ही मनोरोगियों के एक अंतहीन युद्ध / विकार के शिकार लोगों के गैंग के सदस्य बन जाते हैं। बहुत मुश्किल है सहज मनुष्य बने रहना। बड़ा आसान है मनोरोगी बन जाना। ये दौर ऐसा है दोस्तों। आओ, प्रेम करें, हंसें, गाएं। एक पल का जीवन है, यूँ न गवाएं।

xxx

मेरे प्यारे मित्र और आकाशवाड़ी के जाने माने एनाउंसर Ashok Anurag जी द्वारा सृजित इन 2 लाइनों पर गौर फरमाएं और पसंद आए तो कमेंट बॉक्स में वाह करें…

अजनबी शहर में जाने कौन था पहचान वाला,
जिस तरफ़ से गुज़रा, पत्थर बेशुमार चले।

xxx

और आखिर में एक चुटकुला…

संता शराब पीते पीते रोने लगा…..

बंता : क्या हुआ… रो क्यूं रहे हो?

संता : यार जिस लड़की को भूलने के लिए पी रहा था, उसका नाम याद नहीं आ रहा.

…….भड़ास4मीडिया के संचालक-संपादक एवं वरिष्ठ पत्रकार यशवंत सिंह अपने फेसबुक वाल पर

Share Button

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.