राजगीर में युवक को घर में घुस कर मारी गोली, पुलिस की निष्ठा पर उठे सबाल

Share Button

ग्रामीणों की मांग है कि डीएम और एसपी को घटनास्थल पर बुलाया जाए। अपराधियों को तुरंत गिरफ्तार किया जाय । राजगीर पुलिस की कार्रवाई से वे संतुष्ट नहीं हैं या उनके कार्रवाई पर भरोसा नहीं है। समाचार लिखे जाने तक मृतक का शव मृतक के घर में पड़ा है ।”

नालंदा ( वरीय संवाददाता)। जिले के हसनपुर हत्या कांड यह सोचने पर मजबूर करता है कि राजगीर के ग्रामीण अब अपने घरों में भी सुरक्षित नहीं हैं । एक तरफ पुलिस चुस्ती और सघन गस्ती के दावे किए जा रहे हैंं। दूसरी तरफ घर में घुस कर अपराधी गोलीमार कर आराम से चलते बनता है ।

हसनपुर के स्वर्गीय राजेंद्र प्रसाद के एकलौते बेटे अजय कुमार (36 वर्ष) की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी गई है। यह घटना सोमवार सुबह की है।

बताया जाता है कि अपराधियों ने इस घटना का अंजाम उनके घर में घुसकर दिया है । इससे पता चलता है कि अपराधियों के हौसले कितने बुलंद हैं । अपराधियों ने अजय के गले में दाहिने तरफ गोली मारी है । अजय की तत्काल घटना स्थल पर ही मौत हो गयी ।

घटना के समय घर में अकेले थे। पत्नी अनिता देवी ननद के डिलेवरी को लेकर बिहारशरीफ गयी थी। माँ भी घर में नहीं थी। मृतक अजय को एक बेटा है जिसका नाम मोनू है। मृतक की मां और पत्नी घटना की सूचना मिलते ही घर वापस आ गई हैं । वे दहाड मारकर रो रहीं हैं ।

वह कहती है कि उनकी जिन्दगी अब किसके सहारे कटेगी। पति की मौत के बाद वह बेटा के सहारे जी रही थी। अब उनको कौन सहारा देगा। दोनों विधवा सास पुतोह के विलाप से पुरा माहौल गमगीन है।

मृतक अजय के चाचा बिन्देश्वरी प्रसाद बताते हैं कि वे दोनों चाचा-भतीजा करीब 9:30 बजे एक ही साथ खाना खाये थे। खाना खाने के बाद वे कृषि कार्य से खेत पर चले गए। उनके खेत पर जाने के बाद अपराधी उनके घर में घुस गया और गर्दन में गोली मार दी। अजय की तत्काल घटनास्थल पर ही मौत हो गई और अपराधी आराम से निकल भागने में सफल रहा ।

मृतक के परिवार बताते हैं कि अजय कुमार बीएड की डिग्री हासिल किए हुए था। वह कल ही आयोजित टीईटी की परीक्षा में शामिल हुआ था। टीईटी परीक्षा के रिजल्ट आने के पहले ही वह इस दुनिया से चला गया। शायद उसके नसीब में शिक्षक बनना नहीं था। अजय की पत्नी और मां का रो रोकर बुरा हाल है ।

इस घटना के बाद पूरे गांव में मातम छा गया है। मातम के साथ ग्रामीणों में आक्रोश छलक रहा है। ग्रामीण लाश को उठाने से पुलिस को रोक रहे हैं। हालांकि डीएसपी संजय कुमार घटनास्थल पर पहुंचकर घटना की जांच पड़ताल में जुटे हैं । फिर भी ग्रामीण मृतक की लाश को उठाने से मना कर रहे हैं ।

ग्रामीणों की मांग है कि डीएम और एसपी को घटनास्थल पर बुलाया जाए। अपराधियों को तुरंत गिरफ्तार किया जाय । राजगीर पुलिस की कार्रवाई से वे संतुष्ट नहीं हैं या उनके कार्रवाई पर भरोसा नहीं है।

यही कारण है कि ग्रामीणों का आक्रोश थमने का नाम नहीं ले रहा है। समाचार लिखे जाने तक मृतक का शव मृतक के घर में पड़ा है । डीएसपी संजय कुमार घटनास्थल पर कैंप कर रहे हैं । ग्रामीण डीएम और एसपी को बुलाने की मांग पर अड़े हैं ।

Share Button

Relate Newss:

स्टेट 10टॉपर्स में गरीबी को चीरती शामिल हुईं जुलिया मिंज
कोबरा पोस्ट स्टिंग से खुद की लाज बचाने में जुटे नामचीन मीडिया हाउस
पगलाया बिहार नगर विकास एवं आवास विभाग, यूं बनाया 2 दिन का सप्ताह
मांझी को 48 घंटे में शक्ति परीक्षण के लिए कहें राज्यपाल :जदयू
सुशासन बाबू के गांव के सामने राजगीर पैसेंजर ट्रेन में गोलाबारी, एक की मौत
वायरल ऑडियो से उभरे सबालः कौन है मुन्ना मल्लिक? कौन है साहब? राजगीर MLA की क्या है बिसात?
JUJ ने राजभवन का घेराव कर दिया एकदिवसीय धरना
न्यू पाटलिपुत्रा कॉलोनी में सेक्स रैकेट का खुलासा, शराब समेत 4 गिरफ्तार
पटना जनता दरबार में नीतिश के मांझी पर जुता फेंका
VBU host 68th  All India Commerce Conference 2015
रघुबर सरकार की साख पर यौन शोषण का ‘ताला ’
खुदकुशी नहीं, मीडिया और राजनीति का भद्दा मजाक !
पूर्व प्रबंधक के बयान से सिकिदिरी में उबाल, किसने कराया 17 लाख का काम ?
जी न्यूज और न्यूज नेशन के खिलाफ हाईकोर्ट पहुंचे धोनी
ई राजनीति में पुत्र मोह जे न करावे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...