राजगीर के कथित जर्नलिस्ट के होटल समेत कईयों को नोटिश, मामला मलमास मेला की जमीन पर अवैध कब्जा का

Share Button
राजगीर मलमास मेला की सरकारी जमीन की अतिक्रमण कर बना राजगीर गेस्ट हाउस होटल, यह होटल कथित जर्नलिस्ट शिवनंदन प्रसाद की बताई जाती है…
राजगीर के सीओ सतीश कुमार द्वारा जारी नोटिश….

राज़नामा ( न्यूज डेस्क)। आज बुधवार को राजगीर के अंचलाधिकारी द्वारा कथित जर्नलिस्ट शिवनंदन प्रसाद के होटल राजगीर गेस्ट हाउस समेत राजगीर मलमास मेला की जमीन पर अतिक्रमण करने वाले लोगों के विरुद्ध कड़ा नोटिस जारी की गई है।   कथित जर्नलिस्ट शिवनंदन प्रसाद को अलग से राजगीर गौरक्षणी के समीप अतिक्रमण किये गये जमीन को लेकर भी नोटिश जारी किया गया है।

इसके आलावे होटल सिद्धार्थ, होटल सनराइज जयंती निवास, जयशंकर प्रसाद स्मृति भवन, नवादा विधायक राजबल्लभ यादव, राजगीर अधिसूचित क्षेत्र समिति के पूर्व उपाध्यक्ष  वैद्यनाथ प्रसाद सिंह समेत दर्जनों के विरुद्ध नोटिस जारी किया गया है ।

राजगीर के सीओ सतीश कुमार ने बिहार लोक भूमि अतिक्रमण अधिनियम, 1995 की धारी- 3 के तहत मलमास मेला भूमि की सरकारी जमीन पर वर्षों से कब्जा जमाये अतिक्रमणकारियों के नाम जारी नोटिश में लिखा है कि लोक भूमि बिहार राज्य भूमि अतिक्रमण अधिनियम1995 की धारा-2 के अनुसार लोक भूमि परिभाषित है, उस पर अतिक्रमण के लिये उतरदायी हैं। अतएव आगामी 25 मई,2017 को दिन 11 बजे उपस्थित होकर यह यह कारण पृच्छा दें कि क्यों नहीं अतिक्रमण हटा दिया जाये।

साथ हीं अंचलाधिकारी ने यह ताकीद भी दी है कि निर्धारित समय एवं स्थान पर उपस्थित नहीं होने पर अतिक्रमणकारियों के अनुपस्थिति में ही मामले का निष्पादन कर दिया जायेगा।

राजगीर के अंचलाधिकारी सतीश कुमार ने आज बुधवार को नोटिस जारी करते हुए 25 मई, 2017 को 11:00 बजे सबों से कारण परीक्षा की मांग की गई है

उल्लेखनीय है कि मास मीडिया वेब न्यूज चैनल “राजनामा.कॉम”  पर “खुद अव्वल दर्जे के विवादित छवि के हैं राजगीर के ये कथित जनर्लिस्ट ! ” शीर्षक से प्रसारित के खबर में सरकारी जमीन का अतिक्रमण कर कानून को धत्ता बताने की सूचनाएं भी प्रसारित की गई थी।

कहते हैं कि उसी खबर की असर से राजगीर के अंचलाधिकारी, जिनके खिलाफ अनुमंडलीय लोक प्रधिकार में तथाकथित उपरोक्त अतिक्रमण को लेकर प्रतिवादी बने हैं, अतिक्रमणकारियों के विरुद्ध पेंडिग नोटिश आज आनन्-फानन् में तामिल कराई गई है। जिससे अत्क्रमणकारियों में खलबली मच गई है।

Share Button

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.