रांची पुलिस के खिलाफ वरिष्ठ पत्रकार गुंजन सिन्हा की फेसबुक पर अपील

Share Button

arup gunjan news11न्यूज 11 के मालिक अरूप चटर्जी के खिलाफ रांची की एक अदालत ने salary चेक बाउंस के मेरे केस नंबर (2316 )में गैर जमानती वारंट जारी किया है।

 लालपुर थाना को कोर्ट ने इसका मेमो 18 नवम्बर को ही जारी किया लेकिन रांची पुलिस ने उन्हें अबतक गिरफ्तार नहीं किया है।

झारखण्ड के मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन और डीजीपी से मेरी दरखास्त है कि कृपया पुलिस को कोर्ट का आदेश लागू करने और श्री अरूप चटर्जी को गिरफ्तार करने का हुक्म दें ताकि उन्हें न्यायालय में पेश किया जा सके।

रांची के पत्रकार मित्रों से भी आग्रह है कि वे श्री सोरेन, डीजीपी और एसएसपी रांची से पूछें कि आखिर किस वजह से पुलिस कोर्ट के आदेश को दो महीनों से लागू नहीं कर रही है जबकि, श्री चटर्जी खुले आम सभी महानुभावों से मिलते हैं।

उनसे ये भी पूछें कि श्री चटर्जी के खिलाफ और कौन से आरोप हैं और कितने वारंट हैं जिन्हें पुलिस तामील नहीं करा पा रही है।

यदि झारखण्ड सरकार और पुलिस ने कोर्ट का आदेश तत्काल लागू करते हुए अरूप चटर्जी को गिरफ्तार नहीं किया तो मुझे सीधे कार्रवाई के लिए बाध्य होना पड़ेगा।

……..वरिष्ठ पत्रकार गुंजन सिन्हा की अपने फेसबुक वाल पर उपरोक्त अपील पर अब तक के कमेंटः 

  • Nayan Jee, Nilu Srivastava, Rakesh Mishra and 104 others like this.
  • JN Thakur Ye to hona hi tha, sir.
    January 25 at 5:33pm · Like
  • Chinmaya N Singh  मान लिया कि वारंट तामील न की गयी, तो “सीधे कार्रवाई” का क्या अर्थ लगाया जाए?
    January 25 at 5:34pm · Like
  • Nilu Srivastava maine to aapko pahle hi kaha tha…lekin is baar aaiye ranchi…aur fir dekhiye tamasha
    January 25 at 5:38pm · Like · 1
  • Akbar Rizvi ये शर्मनाक है… लेकिन दुर्भाग्य ये है कि मीडियाकर्मियों का अधिसंख्य निजी स्वार्थों के कारण इन माफियाओं के खिलाफ़ संघर्ष की स्थिति में किनारे बैठ जाते हैं।
    January 25 at 5:40pm · Like · 1
  • Vijay Mishra Baba यही तो विडम्बना है …..!!
    January 25 at 5:55pm · Like · 1
  • Upendra Chandan यह तो न्यायालय का घोर अपमान है .
    January 25 at 6:08pm · Like
  • Raj Yadav yse logo ko to jail me hi hona chahiye … padhe likhe suut boot me samaj ke dusman h ye sub …
    January 25 at 6:22pm · Like
  • Manoj Kumar “सीधे कार्रवाई” का क्या अर्थ
    January 25 at 6:46pm · Like
  • Santosh Srivastava usane aapko bahar nikal diya tha, usi kaa khunnas nikaal rahe hai kya sir….
    January 25 at 6:53pm · Like
  • Pranab Lal Dear Santosh,
    If the salary is due then it has to be paid. 
    Secondly, it seems from it Tone that u don’t know Mr. Gunjan Sinha. For ur information he is the pioneer of TV journalism I’m the two states of Bihar and Jharkhand. He was Chief Of Bureau (COB) of ETV Bihar /Jharkhand for around a decade. He has appointed many reporters and stingers who have excelled and are now in good positions. He was considered as role model for many aspiring journalists. 
    Well time and tide wait for none. His time may not be good now but that does mot mean that he has lost his caliber and respect.
    January 25 at 7:59pm · Like · 8
  • Nilu Srivastava Pranab Lal ji……100% correct. Gunjan Sinha ji is GUNJAN JI…ULTIMATE JOURNALIST….
    January 25 at 8:04pm · Like · 1
  • Ravi Shankar I agree Pranab Ji, total respect for Gunjan Sir
    January 25 at 8:14pm · Like · 1
  • Chandan Kumar Verma Bahot logoko to salary hi nahi mila h
    January 25 at 8:29pm · Like
  • Rajeshwar Nath Alok Same
    January 25 at 8:33pm · Like · 1
  • Manoj Kumar bhai News11 ki financial position hi thik nhi hai chnl bachye ya salary de
    January 25 at 8:40pm · Edited · Like
  • Upendra Kumar प्रणव सर, नमस्कार।
    आपने 100% सही प्रतिक्रिया दी है संतोष जी के कमेंट पर।
    नि:संदेह गुंजन सर बिहार झारखंड के मीडिया का अमूल्य धरोहर हैं।एक दो नही न जाने कितने वैसे छिपी प्रतिभाओं को पत्रकार बनाया जिनपर उनकी नजर नही पड़ती तो शायद वह आज कुछ और करते दिखते।
    सर के साथ इस तरह का व्यवहार कष्टकर है।
    January 25 at 9:04pm · Like · 5
  • Pankaj Jain aane wale dnon me aruo mla hone k sapne dekh raha hai….saale ki neeyat thik nahin hai…tabhi to chunav lad raha hai….ajsu jaisi party v aise logon ko ticket de rahi hai…sudesh ko achhe logon ko lana chahiye na ki arup jaise beimanon ko…
    January 25 at 10:17pm · Like
  • Shailendra Kulkarni Shri Gunjan Sinha ji worked at Mangalayatan Vishvidhalaya as the Head of Photo Jornalism Department while I was the Vice Chancellor. I can assure everyone that one would seldom come across a finer example of a cocktail of professional competence and a gentle soul !! I’m meeting the Hon’ Chief Minister of Jharkhand on 29th Jan. I will personally take this up with him and inform you sir !!!
    January 25 at 10:31pm · Like · 4
  • Mukesh Kumar SIR HUM AAP KE IS MUHIM AUR AANDOLAN ME HAMESHA SAATH HAI.
    January 25 at 10:44pm · Like · 1
  • Binod Thakur गुंजन सर आर टी अई एक्टिविस्ट की कोई जरुरत महसूस हो तो हमलोग आपके सेवा मे हमेशा उपलब्ध है rtiforumjamshedpur@gmail.com par अपने विचार डे
    January 25 at 11:16pm · Like
  • Amarnath Prasad Sir. Hum aapke sath hain ….
    Arup kamina ne mere sath bhi bahut galat kiya hai ..
    January 26 at 2:08am · Like
  • Ritesh Routh use jail jana chahiye
    January 26 at 11:46am · Like
  • Ajay Lal सच बाधित हो सकता है पराजित नही।
    January 26 at 1:02pm · Like · 2
  • Sanjeev Kumar Himanshu Ajay Lal,sir ji tabtak sach bolne wala parajit ho jata hai.
    January 26 at 2:06pm · Like · 2
  • Ratna Purkayastha Gunjan Ji aap ke saath bhi koi yasa kar sakta hai ? Naash likha hai uska
    January 26 at 4:52pm · Like · 2
  • Abhishek Kumar Sir aapke sath aisa bartav sunkar mujhe bahut dukh pahucha hai.aapke hak aur insaf ki ladai me sath hoon
    January 26 at 6:57pm · Like · 1
  • Raj Singh hum aapke saath hain..
    January 27 at 7:40pm · Like · 1
  • Rupesh Kumar सर,वाकई अब सीधी कार्रवाई….तब देखते हैं…इन कमेंटों का हश्र….और इन अनन्य भक्तों की कथनी और करनी….
    January 28 at 5:40pm · Like · 2
  • Krishna Bihari Mishra ठीक कहते हो रुपेश…इस कमेंटस और शेयर करनेवाले में एक ऐसा वय्क्ति भी कमेंटस किया हैं जो कभी गुंजन जी के साथ काम किया करता था…संयोग से हम भी उस वक्त साथ में थे…गुंजन जी की आलोचना करते नहीं थकता था…क्योंकि उनके आने से इसकी हालत खराब हो गयी थी औरआज …See More
    January 29 at 7:46pm · Like
  • Krishna Bihari Mishra मांडूक्योपनिषद् का वह मंत्र — सत्यमेव जयते…….
    January 29 at 7:46pm · Like
  • Ashutosh Kumar Pandey मुझे नहीं लगता है गुंजन सर को आज भी किसी स्वार्थी और नीच व्यक्ति को उसके अंजाम तक पहुंचाने के लिए किसी की मदद की जरूरत होगी……..क्योंकि बोलते सब हैं लेकिन इस पवित्र पेशे में स्पाईनल बोन में गुदगुदी वाले लोग ज्यादा हैं……उनका काम है काम वालों को हमेशा परेशान करना….उनके बारे में तरह तरह की बातें पहुंचाना……ताकि वो काम ही बेहतर न कर सकें…..लेकिन गुंजन सर ने………अपने कड़वे अनुभवों से अपनों और बेगानों की पहचान बहुत पहले कर ली है…….जरूरत उन्हें कार्रवाई करने की है…कदम आगे बढ़ते ही शैताने के कदम पीछे होने लगते हैं………..।
    January 30 at 11:39am · Like · 2
Share Button

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...