रंजीत बेज हत्याकांडः पुलिस के हाथ खाली, लेकिन हिन्दुस्तान अखबार का खुलासा देखिए

Share Button

बकौल थाना प्रभारी, ‘न तो उन्होंने उस अखबार के रिपोर्टर से बात किया है और इस  केस के संबंध में न ही किसी की गिरफ्तारी की है। पूछताछ की जा रही है, टेक्नीकल टीम की मदद ली जा रही है’…..”  

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क। सरायकेला जिले के आदित्यपुर थाना अंतर्गत सातबोहनी-सापड़ा मार्ग पर बिहारी कॉलोनी के समीप बीते 24 जनवरी की रात्रि जमीन कारोबारी रंजीत बेज की अज्ञात अपराधियों ने हत्या कर दी थी।

हालांकि इस मामले में पुलिस के हाथ अब तक खाली है, ऐसा पुलिस दावा कर रही है। एक बड़े अखबार द्वारा आदित्यपुर थाना प्रभारी के हवाले के यह दावा किया गया है, कि अपराधियों की पहचान कर ली गई है, और पुलिस अपराधी के घर पर छापेमारी भी कर रही है।

थाना प्रभारी के हवाले से अखबार में रंजीत बैज के पार्टनर कुणाल शर्मा को  हत्या के लिए जिम्मेवार बताया जा रहा है।

जबकि थाना प्रभारी शुषमा कुमारी ने ऐसे किसी भी बयान से साफ इंकार किया है। उन्होंने बताया कि ‘न तो उन्होंने उस अखबार के रिपोर्टर से बात किया है और इस  केस के संबंध में न ही किसी की गिरफ्तारी की है। पूछताछ की जा रही है, टेक्नीकल टीम की मदद ली जा रही है’।

अब अखबार इस हत्याकांड में सीधे थाना प्रभारी के हवाले से खबरें प्रकशित कर  एपीसोड दर एपीसोड चलाए तो सवाल उठना लाजिमी है। अब जिले के एसपी को ही इस मामले से पर्दा उठाना चाहिए। आखिर एक ही अखबार में अगर थाना प्रभारी का पक्ष छपे तो राज क्या है।

अखबार की अगर मानें तो पूरा मामला जमीन विवाद का है। थाना प्रभारी के हवाले से अपराधी की पहचान भी छाप दिया गया है। और कई अपराधियों का नाम छापा गया है।

मगर एक और अपराधी जिसका नाम मिंकू सिंह है और वह जमशेदपुर के मानगो ईलाके में अपना नेटवर्क संचालित करता है। वह कई मामलों में वह जेल भी जा चुका है और रंजीत बैज और कुणाल दोनों के संपर्क में पिछले कई सालों से है। घटना के बाद से फरार भी चल रहा है।

तो क्या कुणाल के कंधे पर बंदूक रखकर मिंकू सिंह को बचाने का अभियान चलाया जा रहा है। कुणाल की भूमिका पर हम सवाल नहीं उठा रहे। मगर जब एक अखबार ने सुलझाने का ठेका ले लिया है तो हमें भी अपनी भूमिका निभानी होगा।

Share Button

Relate Newss:

चैनल-कर्मियों को वेतन नहीं, कंपनी खोल रहा है होटल
आंखों देखी फांसीः एक रिपोर्टर के रोमांचक अनुभव का दस्तावेज
हमारे पत्रकार संगठन का हर विवाद अंदरुनी मामलाः IFWJ अध्यक्ष
पाकिस्तान में ‘टीवी टैलंट हंट शो' को लेकर बवाल, जियो टीवी को बता रहे हैं गद्दार
विनायक विजेता ने दैनिक भास्‍कर,पटना ज्वाइन किया
दैनिक हिन्दुस्तान विज्ञापन घोटाले में गिरफ्तार हो सकते हैं शशि शेखर समेत शोभना भरतिया
श्रीकांत प्रत्युष ने जी न्यूज़ से इस्तीफा दिया
हाई कोर्ट के बीफ बैन के खिलाफ सड़क पर कश्मीर, फहराए पाक झंडे
नोटबंदी एक घोटाला, हो जेपीसी जांच: राहुल गांधी
नीतीश जी इ अंधभक्त को समझाईये कि गोरैया बाबा कब से खून पीने लगे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...